Generic Section Container

अगला

What moves me | समीर ऐत सैद: दर्द में हिम्मत की तलाश

5 सेकंड में चलेगी... विराम
What Moves Me
ओरिजनलWhat Moves Me

What moves me |अशिदा हाजीमू: धीरे-धीरे आगे बढ़ीं

जापान की रिले, ट्रिपल और लॉन्ग जंप की पैरालिंपियन अशिदा हाजीमू जब रियो 2016 में लॉन्ग जंप में 12वें स्थान पर आईं थी तो उनके लिए ये बेहद निराशाजनक पल था। पिछले चार सालों के इस भावनात्मक सफ़र को वह साझा कर रही हैं, जहां वह बता रहीं हैं कि कैसे नकारात्मकता से उबरते हुए आगे बढ़ना सुखद होता है। आशिदा हाजीमू छोटे छोटे सफ़र को भी महत्वपूर्ण मानती हैं और उनकी अहमियतों को बताती हैं।