एफ़आईएच प्रो लीग है ओलंपिक की तैयारी के लिए शानदार: मनप्रीत सिंह

भारतीय पुरुष हॉकी टीम के कप्तान ने पिछले साल में किए बेहतरीन प्रदर्शन को याद किया और साथ ही उन्होंने ये भी बताया की ओलंपिक से उन्हें काफ़ी आशाएं है।

2020 एफ़आईएच प्रो लीग की शुरुआत 18 जनवरी से भुवनेश्वर के कलिंगा स्टेडियम में होने जा रही है, जहां मेज़बान भारत अभियान का आग़ाज़ नीदरलैंड के ख़िलाफ़ करेगा

6 महीने तक चलने वाला ये राउंड रॉबिन टूर्नामेंट 28 जून 2020 को ख़त्म होगा, यानी टोक्यो 2020 की शुरुआत से सिर्फ़ एक महीने पहले। लिहाज़ा ओलंपिक से पहले सभी टीमों के लिए ये आख़िरी प्रतिस्पर्धा होगी, जिसका फ़ायदा उठाने का प्रत्येक टीम प्रयास करेगी।

ओलंपिक चैनल ने इसी मद्देनज़र भारतीय हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह से बात की, जहां उन्होंने इस प्रतियोगिता और ओलंपिक पर अपनी राय रखी। कप्तान को भी लगता है कि टोक्यो 2020 से पहले एफ़आईएच प्रो लीग भारतीय हॉकी के लिए एक अहम प्रतियोगिता होगी।

2019, एक बेमिसाल साल

मनप्रीत, जो इस समय टीम के साथ ओडिशा में हैं और पहली बार एफ़आईएच प्रो लीग में हिस्सा ले रही टीम इंडिया के साथ तैयारियों में जुटे हैं। मनप्रीत मानते हैं कि 2019 में टीम का बेहतरीन प्रदर्शन 2020 में आने वाले चुनौतियों से पार पाने में मदद करेगा और आत्मविश्वास को बढ़ाएगा।

ओलंपिक चैनल के साथ एक्सक्लूसिव बातचीत में मनप्रीत सिंह ने कहा कि, "अगर आप हमारे पिछले साल को देखेंगे, तो पाएंगे कि हमने जितने भी प्रतियोगिता में हिस्सा लिया सभी में अच्छा किया। फिर चाहे वह जून में खेला गया एफ़आईएच मेंस सीरीज़ फ़ाइनल्स हो या बेल्जियम दौरे पर स्पेन और मेज़बान टीम के ख़िलाफ़ शानदार जीत हासिल करना हो।"

भारतीय हॉकी टीम इन दोनों जगह न सिर्फ़ विजेता रही थी बल्कि प्रतिद्वंदियों पर पूरी तरह हावी नज़र आई थी। भुवनेश्वर में हुए एफ़आईएच मेंस सीरीज़ फ़ाइनल्स में भारत पूल ए में था जहां उनके साथ पोलैंड, रूस और उज़बेकिस्तान भी थे, भारत ने अपने प्रतिद्वंदियों को 31-1 के अंतर से हराते हुए पूल में टॉप किया था। इसके बाद भारत ने सेमीफ़ाइनल में जापान को 7-2 से और फ़ाइनल में दक्षिण अफ़्रीका को 5-1 से रौंदते हुए ख़िताब अपने नाम किया था।

बेल्जियम दौरे पर गई टीम इंडिया ने स्पेन और मेज़बान बेल्जियम के ख़िलाफ़ कुल पांच मैच खेले थे, और इन सभी में जीत का सेहरा भारत के सिर बंधा था। इस दौरान भारत ने कुल 20 गोल दागे थे और उनके ख़िलाफ़ सिर्फ़ 4 गोल हुए थे। हालांकि इन सभी के बावजूद भारत के लिए ओलंपिक के लिए क्वालिफ़ाई करने से बेहतरीन कुछ नहीं था।

‘’हमारे लिए 2019 में सबसे बड़ा लक्ष्य था ओलंपिक के लिए क्वालिफ़ाई करना, और पिछले साल बाक़ी सभी शानदार चीज़ों के साथ साथ इसे भी टीम ने बेहतरीन अंदाज़ में हासिल किया।‘’ एफ़आईएच ओलंपिक क्वालिफ़ायर्स में रूस के ख़िलाफ़ भारत ने पहला लेग 4-2 से जीता था और दूसरा मुक़ाबला टीम इंडिया ने धमाकेदार अंदाज़ में 7-2 से जीतते हुए टोक्यो 2020 का टिकट पक्का कर लिया था। भारतीय कप्तान ने इन दोनों ही जीतों को ‘’बड़ी राहत’’ बताई।

मनप्रीत सिंह मानते हैं कि एफ़आईएच प्रो लीग में जीत ओलंपिक में भारत को मनोवैज्ञानिक बढ़त प्रदान करेगी
मनप्रीत सिंह मानते हैं कि एफ़आईएच प्रो लीग में जीत ओलंपिक में भारत को मनोवैज्ञानिक बढ़त प्रदान करेगीमनप्रीत सिंह मानते हैं कि एफ़आईएच प्रो लीग में जीत ओलंपिक में भारत को मनोवैज्ञानिक बढ़त प्रदान करेगी

एक बेहतरीन तैयारी

मनप्रीत को भरोसा है कि एफ़आईएच प्रो लीग टोक्यो 2020 से पहले भारतीय हॉकी टीम के लिए अभ्यास का एक बेहतरीन मौक़ा है। इस बाबत उन्होंने कहा "एफ़आईएच प्रो लीग हमारे लिए अभ्यास का एक शानदार मौक़ा होगा, और अगर हमने 2019 वाले अपने प्रदर्शन को दोहरा दिया तो फिर इससे अच्छा और कुछ नहीं।"

"अर्जेंटीना, ग्रेट ब्रिटेन और स्पेन ये तीन बेहतरीन टीमों की चुनौती हमारे लिए एफ़आईएच प्रो लीग में अहम होगी। इनके ख़िलाफ़ हमने अगर अच्छा प्रदर्शन कर दिया तो फिर हम अच्छे मनोबल और सकारात्मक सोच के साथ ओलंपिक में जाएंगें। और हक़ीकत ये भी है कि इन टीमों के ही ख़िलाफ़ ओलंपिक में भी हमें खेलना है, इसलिए अगर हम इन्हें हरा देते हैं तो फिर एक मनोवैज्ञानिक बढ़त हमारे पास होगी।" : मनप्रीत सिंह, कप्तान, भारतीय हॉकी टीम

भारत का लक्ष्य एफ़आईएच प्रो लीग में अपने डेब्यू पर ही जीत हासिल करना है, मनप्रीत ने कहा कि टीम के लिए इसके अलावा भी कई और प्राथमिकताएं हैं। मनप्रीत ने इस बारे में कहा "हम चाहते हैं कि जितने ऊपर से ऊपर आ सकें। (प्रो लीग की अंक तालिका में) लेकिन साथ ही साथ हम इस प्रतियोगिता में अपनी लाइन अप में कुछ प्रयोग भी करेंगे ताकि सभी खिलाड़ियों को मौक़ा मिल सके। हमारे पास इस टीम में कई युवा खिलाड़ी भी हैं, और ये ज़रूरी है कि वह भी इसके लिए तैयार रहें।"

भारतीय हॉकी टीम नीदरलैंड के ख़िलाफ़ 18 और 19 जनवरी को डबल हेडर में उतरेगी, जिसके बाद 8 और 9 फ़रवरी को बेल्जियम के साथ भिड़ंत होगी। भारतीय पुरुष हॉकी टीम के एफ़आईएच प्रो लीग के कार्यक्रम को जानने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें।

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!