फ़ीचर

ISL: 2020 में सबसे ज्यादा गोल करने वाले भारतीय खिलाड़ी बनकर उभरे सुनील छेत्री और लल्लिंजुआल्या छंगटे 

 दोनों दिग्गज खिलाड़ियों ने लीग में दागे सात-सात गोल    

लेखक दिनेश चंद शर्मा ·

दुनिया में अब हम धीरे-धीरे सामान्य स्थिति के अभ्यस्त हो रहे हैं। कुछ चीजें पहले जैसी ही हैं। जैसे सुनील छेत्री ने कैलेण्डर वर्ष को घरेलू सर्किट में सबसे ज्यादा गोल करने वाले खिलाड़ी के रूप में खत्म किया। इसमें उनके नाम सात बेहतरीन गोल थे। चेन्नईयिन FC के युवा विंगर लल्लिंज़ुआल्या छंगटे ने भी सात गोल दागकर छेत्री के साथ बराबरी पर रहे।  

दोनों खिलाड़ियों ने अपनी टीम की सफलता में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। इंडियन सुपर लीग (ISL) के इस संस्करण में छेत्री के गोलों की बदौलत बेंगलुरू FC ने सभी मैच जीते हैं। उनका एक मंझे हुए खिलाड़ी की तरह केरल ब्लास्टर्स और ओडिशा FC के खिलाफ गोल की अगुवाई करना इसका प्रमाण है। दोनों ही प्रयासों में दूसरे खिलाड़ी लगातार उनका पीछा कर रहे थे, लेकिन भारतीय स्किपर ने डिफेंडर की तुलना में ऊंची छलांग लगाकर क्रॉस करते हुए गोल दाग दिए।  

2020 में ब्लूज़ ने चार मैच गंवाए और छेत्री उन सभी में गोल करने में नाकाम रहे। इससे साबित होता है कि टीम के लिए यह स्ट्राइकर कितना महत्वपूर्ण हैं। 

इस बीच 2020 में छंगटे के गोल स्कोरिंग कौशल का खुलासा हुआ है। बिना किसी संदेह के यह कैलेंडर वर्ष गोल के लिहाज से युवा के लिए सबसे ज्यादा गोल करने वाला रहा है। उन्होंने जनवरी में जमशेदपुर के खिलाफ पहला गोल करते हुए 4-1 से जीत दर्ज की थी। उन्होंने इसे आगे बढ़ाया और केरल ब्लास्टर्स के खिलाफ 2019-20 सीजन के अंत में वह ISL के सबसे खतरनाक हमलावरों में से एक माने गए।

ISL में मैच के दौरान बॉल के पीछे भागते लल्लिंजुआल्या छंगटे

मेमार्च में FC गोवा के खिलाफ सेमीफाइनल में उन्होंने दोनों पैरों से से शानदार प्रदर्शन किया और स्कोर भी बनाया और फाइनल में जगह पक्की की। पिछले सीज़न में ओवेन कोयेल के तहत चेन्नईयिन को जब दोबारा जीवनदान मिला तो इसका सारा श्रेय इस बैक खिलाड़ी को मिलना चाहिए। इस अभियान में छंगटे ने नियमित रूप से गोल करने के लिए खुद को अच्छे स्थान पर रखा, तो वह 2020 में शीर्ष भारतीय गोल स्कोरर हो सकते थे।

ISL मेंजैकीचंद सिंह एक और रोमांचक खिलाड़ी रहे हैं। मुख्य रूप से उन्हें लंबी किक मारने के लिए जाना जाता है। 2020 में वह भी गोल के चलते चर्चित हो गए है। वास्तव में उसके पास अपने प्रयासों दिखाने के लिए सहायक (3) की तुलना में अधिक गोल (5) थे। उन्होंने मुंबई सिटी, केरल ब्लास्टर्स जैसे मुश्किल विरोधियों के खिलाफ गोल किया और ओडिशा FC के खिलाफ भी सहयोगी की भूमिका निभाई है।

ISL के चल रहे सीजन में वह जमशेदपुर FC में शामिल हो गई है। अपने नए परिवेश में उन्होंने गोल करने वाले खिलाड़ी की तुलना में एक सहयोगी की भूमिका ज्यादा निभाई है और पहले ही आठ मैचों में तीन बार बेहतरीन प्रदर्शन कर चुके हैं।

सात खिलाडियों ने 2020 में दो गोल किए हैं, जबकि उनमें से 23 ने कम से कम एक बार स्कोरशीट पर अपना नाम दर्ज किया है।

2020 में सबसे ज्यादा गोल करने वाले शीर्ष 10 भारतीय खिलाड़ी इस प्रकार हैं:

1) सुनील छेत्री (7) - बेंगलुरु FC

2) लल्लिअनुज़ल छंगटे (7) - चेन्नईयिन FC

3) जैकीचंद सिंह (5) - जमशेदपुर FC

4) लिस्टन कोलाको (2) - हैदराबाद FC

5) माइकल सोसाईराज (2) - ATK मोहन बागान

6) मनवीर सिंह (2) - ATK मोहन बागान

7) अनिरुद्ध थापा (2) - चेन्नईयिन FC

8) रोवलिन बोर्गेस (2) - मुंबई सिटी FC

9) हैलीचरण नारज़री (2) - हैदराबाद FC

10) रहीम अली (2) - चेन्नईयिन FC