फ़ीचर

ISL टीमों क जानकारी: 2020-21 स्कॉयड, परिणाम और इतिहास

इंडियन सुपर लीग सीज़न 2020-21 शुरू होने जा रहा है और सभी टीमें इसे फतह करने की कोशिश में जुट चुकी हैं। जानें सभी ISL टीमों के बारे में।  

लेखक जतिन ऋषि राज ·

इंडियन सुपर लीग 2020-21 का बिगुल अब बजने ही वाला है और खिलाड़ी, स्टाफ और प्रशंसक सभी इस चुनौती भरी प्रतियोगिता का बेसब्री से इंतज़ार कर रहे हैं।

भारतीय डोमेस्टिक फुटबॉल लीग का 2020-21 सीज़न 20 नवंबर से गोवा में खला जाना है। सभी टीमें अब ISL 2020 की ट्रॉफी को जीतने के लिए रणनीति बनाती दिखाई दे रही हैं।

आइए ISL 2020 की 11 टीमों पर डालें एक नज़र

ISL टीमों का इतिहास, कोच और स्क्वाड

इस लीग के इतिहास में पहली बार 11 टीमें हिस्सा लेने जा रही हैं और ऐसा कोलकाता प्रदेश की टीम एससी ईस्ट बंगाल के जुड़ाव से हुआ है।

ATK मोहन बागान

ईस्ट बंगाल के कड़े प्रतिद्वंदी मोहन बागान भी इस बार ISL का हिस्सा होने जा रही है। ग़ौरतलब है कि यह टीम ATK के साथ मिलकर ATK मोहन बागान के रूप में खेलती दिखाई देगी। ISL के इतिहास में ATK सबसे सफल टीम है और इस खेमे ने तीन बार ISL की ट्रॉफी पर कब्ज़ा जमाया है।

वहीं मोहन बागान ने भी 131 सालों से प्रशंसकों का मनोरंजन किया है। इतना ही नहीं इस टीम ने I – League की चमचमाती ट्रॉफी को भी अपने खेमे में किया।

कोच: एंटोनियो लोपेज हाबास (स्पेन)

ATK मोहन बागान पूरा स्क्वाड:

भारतीय खिलाड़ी: अरिंदम भट्टाचार्जी (Arindam Bhattacharjee) (जीके), धीरज सिंह (Dheeraj Singh) (जीके), अर्श अनवर शेख (Arsh Anwer Shaikh) (जीके), अविलाश पॉल Avilash Paul (जीके), संदेश झिंगन (Sandesh Jhingan), प्रीतम कोटाल (Pritam Kotal), सुमित राठी (Sumit Rathi), प्रबीर दास (Prabir Das), सुभाशीष बोस (Subhasish Bose), जॉबी जस्टिन (Jobby Justin), मनवीर सिंह (Manvir Singh), प्रनॉय हालदार (Pronay Halder), माइकल सूसाइराज (Michael Soosairaj), माइकल रेगिन (Michael Regin), इसके साहिल (Sk Sahil), सलाम रंजन सिंह (Salam Ranjan Singh), अंकित मुखर्जी (Ankit Mukherjee), जयेश राने (Jayesh Rane), बोरिस सिंह (Boris Singh), कोमल थाटल (Komal Thatal), ग्लान मार्टिंस (Glan Martins)

विदेशी खिलाड़ी: रॉय कृष्णा (Roy Krishna) (फिजी), डेविड विलियम्स (David Williams) (ऑस्ट्रेलिया), जावी हर्नांडेज़ (Javi Hernandez) (स्पेन), एडू गार्सिया (Edu Gracia) (स्पेन), तिरी (Tiri) (स्पेन), कार्ल मैकहघ (Carl McHugh) (आयरलैंड), ब्रैड इनमैन (Brad Inman) (ऑस्ट्रेलिया)

ISL के परिमाण (ATK)

2014: विजेता

2015: सेमी-फाइनल

2016: विजेता

2017-18: नौंवा स्थान

2018-19: छठा स्थान

2019-20: विजेता

एससी ईस्ट बंगाल

एससी ईस्ट बंगाल के इस लीग में शामिल हो जाने से लीग की शान में तो चार चांद लग ही गए हैं और तो और इस टीम को भी मैदान में खेलते हुए 100 साल हो गए हैं। रेड एंड गोल्ड के नाम से प्रसिद्ध ईस्ट बंगाल ने तीन बात I – League को अपने नाम किया है।

कोलकाता से जुड़े इस क्लब को भारतीय फुटबॉल इतिहास के सबसे बेहतरीन क्लब में से एक माना जाता है और इस टीम ने ASEAN चैंपियनशिप को 2003 में अपने नाम किया था और साथ ही 8 बार AFC कप को भी अपनी झोली में डाला है।

कोच: रॉबी फ़ॉलर (इंग्लैंड) 

एससी ईस्ट बंगाल पूरा स्क्वाड:

भारतीय खिलाड़ी: देबजीत मजुमदार (Debjit Majumder) (जीके), संकर रॉय (Sankar Roy) (जीके), रफ़ीक अली सरदार (Rafique Ali Sardar) (जीके), मिर्षद मीकु (Mirshad Michu) (जीके), नारायण सिंह (Narayan Das), गुरतेज सिंह (Gurtej Singh), बलवंत सिंह (Balwant Singh), वगनेसन लिंगदोह (Eugeneson Lyngdoh), जेजे लालपेखलुआ (Jeje Lalpekhlua), मिलन सिंह (Milan Singh), अभिषेक अम्बेडकर (Abhishek Ambedkar), अनिल चवन (Anil Chawan), लालरामचुल्लोवा (Lalramchullova), मोहमद इरशाद (Mohamed Irshad), रोहन सिंह (Rohen Singh), नोविन गुरंग (Novin Gurung), राणा घरामी (Rana Gharami), समाद अली मलिक (Samad Ali Mallick), प्रीतम सिंह (Pritam Singh), बिकाश जेरु (Bikash Jairu), होबम सिंह (Haobam Singh), लोकेन मेताई (Loken Meitei), युमनाम सिंह (Yumnam Singh), वाहेंगबाम लुवांग (Wahengbam Luwang), गिरिक खोसला (Girik Khosla), सहनाज सिंह (Sehnaj Singh), सुर्चन्द्रा सिंह (Surchandra Singh)

विदेशी खिलाड़ी: जैक्स मगोमा (Jacques Maghoma) (कांगो), मैटी स्टीनमैन (Matti Steinmann) (जर्मनी), एंथोनी पिल्किंगटन (Anthony Pilkington) (आयरलैंड), डैनी फॉक्स (Danny Fox) (स्कॉटलैंड), आरोन हॉलोवे (Aaron Holloway) (वेल्स), स्कॉट नेविल (Scott Neville) (ऑस्ट्रेलिया)

ISL के परिमाण

एससी ईस्ट बंगाल का यह पहला संस्करण होने जा रहा है।

केरला ब्लास्टर्स एफसी

ISL की शुरूआती टीमों में से एक टीम केरला ब्लास्टर्स एफसी है और इस टीम ने फाइनल का सफ़र 2 बार तय किया है लेकिन जीत की देहलीज़ को लांगने में असफल रही है। ग़ौरतलब है कि साल 2016 से यह टीम प्लेऑफ में जगह बनाने में भी नाकाम रही है।

कोची की यह टीम की बात की जाए तो इस टीम के पास वह सब कुछ है जो चैंपियन बनने के लिए ज़रूरी है लेकिन ISL का सफ़र आसान नहीं अहि और हर मोड़ पर स्पर्धा की चुनौती बढती जाती है। इस बार ईस्ट बंगाल और ATK मोहन बागान के आ जाने से यह चुनौती और भी बढ़ गई हहेड कोच: किबु विकुना

केरला ब्लास्टर्स एफसी पूरा स्कॉयड:

भारतीय खिलाड़ी बिलाल खान (Bilal Khan) (जीके), प्रभसुखन सिंह गिल (Prabhsukhan Singh Gill) (जीके), मुहीत सबीर (Muheet Sabir) (जीके), एल्बिनोगोम्स (Albino Gomes) (जीके), अब्दुल हक्कू (Abdul Hakku), केनस्टार खारशॉन्ग (Kenstar Kharshong), लालरुथारा (Lalruattharra), संदीप सिंह (Sandeep Singh), निशु कुमार (Nishu Kumar), देनेचन्द्रा मेइतेई (Denechandra Meiti), जेस्सेल कार्नेरो (Jessel Carneiro), विन्सेंट गोमेज़ (Vicente Gomez), प्रसान्त के (Prasanth K), सत्यसेन सिंह (Seityasen Singh), रोहित कुमार (Rohit Kumar), गिवसन सिंह (Givson Singh), जीकसन सिंह (Jeakson Singh), नोंगडम्बा नोरेम (Nongdamba Naorem), राहुल केपी (Rahul KP), सहल अब्दुल समाद (Sahal Abdul Samad), आयुष अधिकारी (Ayush Adhikari), ऋत्विक दास (Ritwik Das), अर्जुन जयराज (Arjun Jayaraj), पूतिए, शिबोरलंग खारपन (Puitea, Shaiborlang Kharpan), नोरेम महेश सिंह (Naorem Mahesh Singh), गोतिमायुम् मुक्तासन (Gotimayum Muktasana)विदेशी खिलाड़ी: बाकारी कोने (Bakary Kone) (बुर्किनाबे), गैरी हूपर (Gary Hooper) (इंग्लैंड), सर्जियो सिडोंचा (Sergio Cidoncha) (स्पेन), विन्सेंट गोमेज़ (Vicente Gomez) (स्पेन), फाकुन्डो पेरेयरा (Facundo Pereyra) (अर्जेंटीना), कोस्टा नोमान्ज़ियू (Costa Nhamoinesu) (ज़िम्बाब्वे), जॉर्डन मरे (Jordan Murray) (ऑस्ट्रेलिया)

ISL के परिमाण

2014: फाइनल

2015: आठवां स्थान

2016: फाइनल

2017-18: छठा स्थान

2018-19: नौंवा स्थान

2019-20: सातवां स्थान

चेन्नईयिन एफसी

दो बार के विजेता चेन्नईयिन एफसी ISL इतिहास की दूसरी सबसे सफल टीम है। मरीना मचंस ने पिछले साल फिना तक का सफ़र तय किया था और पूरे सीज़न बहतरीन खेल दिखाकर सभी खेल प्रेमियों की वाह वाही लूटी थी। इस बार चेन्नईयिन एफसी ने अपने कोच को बदला है और किस्मत बदलने की भी उम्मीद कर रहे हैं।

हेड कोच: कसबा लैस्ज़लो (हंगरी)

चेन्नईयिन एफसी पूरा स्कॉयड

भारतीय खिलाड़ी बीवाय रेवंत (BY Revanth) (जीके), विशाल कैंथ (Vishal Kaith) (जीके), करनजीत सिंह (Karanjit Singh) (जीके), समिक मित्रा (Samik Mitra) (जीके), रीगन सिंह (Reagan Singh), बालाजी गणेसन (Balaji Ganesan), लालचुंआमाविया (Lalchhuanmawia), एडविन सिडनी वन्स्पौल (Edwin Sydney Vanspaul), जेरी लालरिनजुआला (Jerry Lalrinzuala), दीपक टंगरी (Deepak Tangri), आकिब नवाब (Aqib Nawab), रेमी एमोल (Remi Aimol), अभिजित सरकार (Abhijit Sarkar), अनिरुद्ध थापा (Anirudh Thapa), धनपाल गणेश (Dhanpal Ganesh), थोई सिंह (Thoi Singh), लल्लियनज़ुआला छांगते (Lallianzuala Chhangte), श्रीनावासन पांडियान (Srinivasan Pandiyan), जर्मनप्रीत सिंह (Germanpreet Singh), अमन छेत्री (Aman Chetri), रहीम अली (Rahim Ali)

विदेशी खिलाड़ी: एली साबिया (Eli Sabia) (ब्राज़ील), मेमो मौरा (Memo Moura) (ब्राज़ील), राफेल क्रिवेलारो (Rafael Crivellaro) (ब्राज़ील), एनस सीपोविक (Enes Sipovic) (बॉस्निया और हर्ज़ेगोविना), याकूब सिल्वेस्टर (Jakub Sylvestr) (स्लोवाकिया), एस्माएल गोंकाल्वेस (Esmael Goncalves) (गिनी-बिसाऊ), फतखुल्लो फतखुलोव (Fatkhullo Fatkhuloev) (तजाकिस्तान)

ISL के परि2014: सेमी-फाइनल

2015: विजेता

2016: सातवां स्थान

2017-18: विजेता

2018-19: दसवां स्थान

2019-20: फाइनल

बेंगलुरु एफसी

बेंगलुरु एफसी ने ISL सीज़न 2017-18 में प्रवेश किया था। यह टीम दो बार की I – League चैंपियन है और हमेशा से ही ISL में अच्छा प्रदर्शन करती आई है।माण

:

भारतीय फुटबॉल टीम के कप्तान सुनील छेत्री (Sunil Chhetri) की अगुवाई वाली बेंगलुरु एफसी ने अपने डेब्यू सीज़न के इनल तक का सफ़र तय किया था। ग़ौरतलब है कि बेंगलुरु एफसी एकलौती भारतीय फुटबॉल टीम है जिसने AFC कप में स्पर्धा की है।

कोच: कार्ल्स क्वाड्रात (स्पेन)

बेंगलुरु एफसी पूरा स्क्वाड:

भारतीय खिलाड़ी: गुरप्रीत सिंह संधू (Gurpreet Singh Sandhu) (जीके), लाल्थुअम्मविया रॉल्टे (Lalthuammawia Ralte) (जीके), लारा शर्मा (Lara Sharma) (जीके), दीपेश चौहान (Dipesh Chauhan) (जीके), राहुल भेके (Rahul Bheke), प्रतीक चौधरी (Pratik Chaudhari), हरमनजोत खाबरा (Harmanjot Khabra), अजीत कुमार (Ajith Kumar), वुंगजायम मुइरांग (Wungngayam Muirang), जो ज़ोहर्लियाना (Joe Zoherliana), पराग श्रीवास (Parag Shrivas), बिस्वा दर्जी (Biswa Darjee), अजय छेत्री (Ajay Chhetri), नामग्याल भूटिया (Namgyal Bhutia), सुरेश वांगजम (Suresh Wangjam), नोरेम रोशन सिंह (Naorem Roshan Singh), अमय मोराजकर (Amay Morajkar), हुइद्रोम थोई सिंह (Huidrom Thoi Singh), एमानुएल लालछनचुआ (Emanuel Lalchhanchuaha), सुनील छेत्री (Sunil Chhetri), आशिक कुरुनियन (Ashique Kuruniyan), उदांता सिंह (Udanta Singh), एडमंड लालरिंडिका (Edmund Lalrindika), लियोन ऑगस्टीन (Leon Augustine), थोंगकोसीम हाओकिप (Thongkhosiem Haokip)

विदेशी खिलाड़ी: फ्रान गोंजालेज (Fran Gonzalez) (स्पेन), जुआनन गोंजालेज (Juanan Gonzalez) (स्पेन), डिमास डेलगाडो (Dimas Delgado) (स्पेन), एरिक पैर्टालु (Erik Paartalu) (ऑस्ट्रेलिया), क्लिटन सिल्वा (Cleiton Silva) (ब्राज़ील), क्रिस्टियन ऑप्सेट (Kristian Opseth) (नॉर्वे), डेशोर्न ब्राउन (Deshorn Brown) (जमैका)

ISL के परिणाम

2017-18: फाइनल

2018-19: विजेता

2019-20: सेमी-फाइनल

जमशेदपुर एफसी

बेंगलुरु एफसी की तरह ही जमशेदपुर एफसी ने ISL की शुरुआत सीज़न 2017-18 से की है। उसी साल इस प्रतियोगिता में टीमों का आंकड़ा 8 से बढ़कर 10 हो गया था। ‘मैन ऑफ़ स्टील’ कहे जानी वली इस टीम ने अच्छा प्रदर्शन किया है लेकिन प्लेऑफ में जगह बनाने में नाकामयाब रहे हकोच: ओवेन कोयल (स्कॉटलैंड/आयरलैंड)

जमशेदपुर एफसी पूरा स्कॉयड:

भारतीय खिलाड़ी रेहेनेश टीपी (TP Rehenesh) (जीके), पवन लुमार (Pawan Kumar) (जीके), नीरज कुमार (Niraj Kumar) (जीके), राज महतो (Raj Mahato) (जीके), विशाल यादव (Vishal Yadav) (जीके), नरेंदर गहलोट (Narender Gahlot), जॉयनर लौरेंको (Joyner Lourenco), रिकी लल्लामावामा (Ricky Lallawmawma), संदीप मांडी (Sandip Mandi), सुभाष बरुआ (Subhash Barua), लालडिंलियाना रेंटहेली (Laldinliana Renthlei), करम अमीन (Karan Amin), मानश प्रोतिम गोगोई ( Manash Protim Gogoi), अमरजीत कियाम (Amarjit Kiyam), जेकिचंद सिंह (Jackichand Singh), आइजैक वनमालस्वामा (Isaac Vanmalsawma), मोबशिर रहमान (Mobashir Rahman),भूपेंदर सिंह ( Bhupender Singh), बिलु तेली (Billu Teli), हर्षा परुई (Harsha Parui), जीतेन्दर सिंह (Jitendra Singh), मनीसाना सिंह (Manisana Singh), गौरब गोराचंद मंदी (Gaurab, Gorachand Mandi), सपं केनेडी सिंह (Sapam Kenedy Singh), अनिकेत जाधव (Aniket Jadhav), विलियम ललनुफ़ेला (William Lalnunfela)

विदेशी खिलाड़ी: एंटर मोनरो (Aitor Monroy) (स्पेन), डेविस ग्रांड (David Grande) (स्पेन), नेरिज्स वाल्सकीस (Nerijus Valskis) (लिथुआनिया), पीटर हार्टले (Peter Hratley) (इंग्लैंड), एलेक्स मोनेरो (Alex Moneiro) (ब्राज़ील), स्टीफन इज़ (Stephen Eze) (नाइजीरिया), निकोलस फित्ज़्गेराल्ड (Nicholas Fitzgerald) (ऑस्ट्रेलिया)

ISL के परिणाम

2017-18: पांचवा स्थान

2018-19: पांचवा स्थान

2019-20: आठवां स्थान

एफसी गोवा

6 बार ISL में स्पर्धा कर चुकी एफसी गोवा ने 5 बार प्लेऑफ में कदम रखे हैं लेकिन एक बार भी किताब को अपने नाम नहीं किया है। यह टीम आक्रामक फुटबॉल खेलने के लिए जानी जाती है जो कि इनके पहले हेड कोच जीको (Zico) की देन हैं।

पिछले सीज़न में एफसी गोवा को सेमी-फाइनल में बाहर का रास्ता देखना पड़ा था लेकिन लीग स्तर पर इस टीम ने पॉइंट टेबल के सबसे ऊपरी जगह पर खुद को विराजमान भी किया था। इसी के साथ ही यह टीम AFC चैंपियंस लीग में भी जगह बनाने में सफल रही थी और अब यह एशिया के सर्वश्रेष्ठ कॉन्टिनेंटल स्पर्धा में पहली भारतीय फुटबॉल टीम बनकर स्पर्धा करने के लिए भी तैयार हैकोच: जुआन फेरैंडो (स्पेन)

एफसी गोवा पूरा स्कॉयड:

भारतीय खिलाड़ी मोहम्मद नवाज़ (Mohammed Nawaz) (जीके), नवीन कुमार (Naveen Kumar) (जीके), डायलन डिसिल्वा (Dylan D'Silva) (जीके), शुभम दास (Shubham Dhas) (जेके), सैनसन परेरा (Sanson Pereira), सेरीटन फर्नांडिस (Seriton Fernandes), लिएंडर डी कुन्हा (Leander D'Cunha), मोहमद अली (Mohamed Ali), सैरिनियो फर्नांडीस (Sarineo Fernandes), ऐबनभ डोहलिंग (Aibanbha Dohling), सेवियर गामा (Saviour Gama), लेनी रोड्रिग्स (Lenny Rodrigues), नेस्टर डायस (Nestor Dias), प्रिंसटन रेबेलो (Princeton Rebello), ब्रैंडन फर्नांडीस (Brandon Fernandes), फ्रांकी बुम (Phrangki Buam), रिडीम टलांग (Redeem Tlang),माकन विंकल चोटे (Makan Winkle Chothe), अलेक्जेंडर रोमारियो जेसुराज (Alexander Romario Jesuraj), फलां गोमेज़ (Flan Gomez), सेमीनलेन डोँगल (Seiminlen Doungel), आरन डिसिल्वा (Aaren D'Silva), देवेन्द्र मुरगांवकर (Devendra Murgaonkar),ईशान पंडिता (Ishan Pandita)

:

इस सीज़न में नए मालिक जुड़ने की वजह से मुंबई सिटी एफसी को कुछ नए अंदाज़ में भी देखा जा सकता है।

कोच: सर्जियो लोबेरा (स्पेन)

मुंबई सिटी एफसी पूरा स्क्वाड:

भारतीय खिलाड़ी अमरिंदर सिंह (Amrinder Singh) (जीके), निशित शेट्टी (Nishit Shetty) (जीके), फुर्बा लाचेनपा (Phurba Lachenpa) (जीके), विक्रम सिंह (Vikram Singh) (जीके), वेलपुइया (Valpuia), मंदर राव देसाई (Mandar Rao Dessai), महताब सिंह (Mehtab Singh), टंडनबा सिंह (Tondonba Singh),सार्थक गोलुई (Sarthak Golui), अमय राणावडे (Amey Ranawade), प्रांजल भूमिज (Pranjal Bhumij), रेनियर फर्नांडिस (Raynier Fernandes), राउलिन बोर्गेस (Rowllin Borges), सौरव दास (Saurav Das), विग्नेश दक्षिणमूर्ति (Vignesh Dakshinamurthy), विक्रम प्रताप सिंह (Vikram Pratap Singh), पीसी रोहलूपुइया (PC Rohlupuia), चेंसो होरम (Chanso Horam), एन तोंडोम्बा सिंह (N Tondomba Singh), आसिफ खान (Asif Khan), विद्यानंद सिंह (Bidyananda Singh), बिपिन सिंह (Bipin Singh), फ़ारुख चौधरी (Farukh Chaudhary)विदेशी खिलाड़ी: मुर्तदा फॉल (Mourtada Fall) (सेनेगल), अहमद जौह (Ahmed Jahouh) (मोरक्को), हुगो बाउमो (Hugo Boumous) (फ्रांस/मोरक्को), बर्थोलोमेव ओगबेचे (Bartholomew Ogbeche) (नाइजीरिया), हरनैन सैन्टाना (Hernan Santana) (स्पेन), एडम ले फोंद्रे (Adam Le Fondre) (इंग्लैंड), साय गोडार्ड (Cy Goddard) (जापान)

ISL के परिणाम

2014: सातवां स्थान

2015: छठा स्थान

2016: सेमी-फाइनल

2017-18: सातवां स्थान

2018-19: सेमी-फाइनल

2019-20: पांचवा स्थान

ओडिशा एफसी

दिल्ली डाइनेमोज़ से ओडिशा एफसी की टीम का जन्म हुआ है और ऐसा तब हुआ जब इस टीम ने अपना बेस कटक रखने का फैसला किया था। अपने पहले सीज़न में ओडिशा एफसी बनीं इस टीम ने छठे स्थान पर रहकर अपने कारवां का अंत किया था।कोच: स्टूवर्ट बैक्सटर

ओडिशा एफसी पूरा स्कॉयड:

भारतीय खिलाड़ी: अंकित भुयान (Ankit Bhuyan) (जीके), अर्शदीप सिंह (Arshdeep Singh) (जीके), कमलजीत सिंह (Kamaljit Singh) (जीके), रवि कुमार (Ravi Kumar) (जीके), गौरव बोरा (Gaurav Bora), जॉर्ज डी’ सूजा (George D'souza), हेंड्री एंटोने (Hendry Antonay), कमलप्रीत सिंह (Kamalpreet Singh), मोहम्मद धोत (Mohammed Dhot), सौरभ मेहर (Saurabh Meher), शुभम सारंगी (Shubham Sarangi), बॉरोइंगडाओ बोडो (Baoringdao Bodo), इसक वनलालुरुत्फेला (Isak Vanlalruatfela), जेरी माविहिंगथांगा (Jerry Mawihmingthanga), लालहिरज़ुआल सैलंग (Lalhrezuala Sailung), नंदकुमार सेकर (Nandhakumar Sekar), पॉल रामफंगजौवा (Paul Ramfangzauva), सैमुअल लालमुआनपिया (Samuel Lalmuanpuia), थोइबा सिंह (Thoiba Singh), विनीत राइ (Vinit Rai), लेश्रम सिंह (Laishram Singh), डैनियल लललिम्पुआ (Daniel Lalhlimpuia)

विदेशी खिलाड़ी डिएगो मौरिसियो (Diego Mauricio) (ब्राज़ील), मार्केलिन्हो (Marcelinho) (ब्राज़ील), डियावांडो डियागने (Diawandou Diagne) (सेनेगल), मैनुअल ओनवु (Manuel Onwu) (स्पेन), जैकब ट्रैट (Jacob Tratt) (ऑस्ट्रेलिया), कोल अलेक्जेंडर (Cole Alexander) (साउथ अफ्रीका), स्टीवन टेलर (Steven Taylor) (इंग्लैंड)

ISL के परिणाम

2019-20: छठा स्थान

(दिल्ली डाइनेमोज़)

2014: पांचवा स्थान

2015: सेमी-फाइनल

2016: सेमी-फाइनल

2017-18: आठवां स्थान

2018-19: आठवां स्थान

हैदराबाद एफसी

ओडिशा की तरह ही हैदराबाद एफसी ने ISL की शुरुआत 2019-20 से की है। हालांकि हैदराबाद एफसी इस लीग में एक दम नै टीम है और इन्होंने पुणे एफसी की जगह ली है। हैदराबाद शहर को 70 के दशक में भारतीय फुटबॉल का गढ़ माना जाता था और अन इस शहर ने एक बार फोर अपने फुटबॉल से जुड़े प्यार को लीग में दर्शाया है।

इस क्लब ने स्पेनिश क्लब मारबेल्ला एफसी (Marbella FC) के साथ तीन साल का रणनाती संबंध (strategic tie-up) स्थापित किया किया है।

कोच: जोस मैनुअल

हैदराबाद एफसी पूरा स्कॉयड:

भारतीय खिलाड़ी: लक्ष्मीकान्त कट्टीमनी (Laxmikant Kattimani) (जीके), मानस दुबे (Manas Dubey) (जीके), सुब्रता पाल (Subrata Pal) (जीके), लालबिहलुआ जोंगटे (Lalbiakhlua Jongte) (जीके), आकाश मिश्रा (Akash Mishra), असीश राइ (Asish Rai), चिंग्लेनसाना सिंह (Chinglensana Singh), डिम्पल भगत (Dimple Bhagat), किनसाईंलांग खोंसित (Kynsailang Khongsit), निखिल प्रभु (Nikhil Prabhu), साहिल पनवार (Sahil Panwar), अभिषेक हालदार (Abhishek Haldar), आदिल खान (Adil Khan), साहिल तवोरा (Sahil Tavora), हलिचरण नर्ज़ारी (Halicharan Narzary), हितेश शर्मा (Hitesh Sharma), लल्लन माविया राल्टे (Laldanmawia Ralte), निशान जोथानुपिया (Mark Zothanpuia),मोहम्मद यासिर (Mohammed Yasir), निखिल पुजारी (Nikhil Poojari), सौविक चक्रबर्ती (Souvik Chakrabarti), स्वीडन फर्नांडीस (Sweden Fernandes), ईशान डे (Ishan Dey), लालवाम्पुइया (Lalawmpuia), लिस्टन कोलाको (Liston Colaco), रोहित दानू (Rohit Danu

विदेशी खिलाड़ी अरिदाने सैंटाना (Aridane Santana) (स्पेन), ओदेई ओननदिया (Odei Onaindia) (स्पेन), जोआ विक्टर (Joao Victor) (ब्राज़ील), लुइस सास्त्रे (Lluis Sastre) (स्पेन), फ्रांन सैंडाज़ा (Fran Sandaza) (स्पेन), जोएल चिआनीस (Joel Chianese) (ऑस्ट्रेलिया)

ISL के परिणाम।

2019-20: दसवां स्थान

नोट: टीमें परिवर्तन के अधीन हैं।

ISL की हर टीम ज़्यादा से ज़्यादा 35 खिलाड़ियों (कोरोना की वजह से 26 से ज़्यादा) को अपने खेमे में शामिल कर सकती है। हर टीम के खेमे में कम से कम 5 और ज़्यादा से ज़्यादा 7 विदेशी खिलाड़ी हो सकते हैं और एक AFC-affiliated देश से भी होना चाहिए।

किसी भी समय पर एक टीम के ज़्यादा से ज़्यादा 5 विदेशी खिलाड़ी एक साथ फील्ड में जा सकता हैं।