फ़ीचर

ATK से चेन्नईयिन FC तक, जानिए किस टीम ने कितनी बार ख़िताब पर किया है कब्ज़ा

भले ही ISL लीग में टीमों की संख्या-समय समय पर बढ़ती रही हो, लेकिन 6 सीजन में सिर्फ तीन टीमों ने ही जीता है अब तक आईएसएल का खिताब।

लेखक विवेक कुमार सिंह ·

इंडियन सुपर लीग (Indian Super League) का सातवां सीजन शुरू होने वाला है, जहां सबसे अधिक टीमें भाग लेंगी।

भारतीय फुटबॉल के दो सबसे दिग्गज टीम मोहन बगान (Mohun Bagan) और ईस्ट बंगाल (East Bengal) के शामिल होने से इस लीग का रोमांच और बढ़ जाएगा। मतलब 11 ISL की टीमें ISL 2020-21 का खिताब जीतने के लिए मैदान में उतरेंगी, जहां ये टीमें एएफसी चैंपियंस लीग (AFC Champions League) में भी जगह बनाना चाहेंगी।

ISL चैंपियंस की सूची में सिर्फ तीम टीमें शामिल हैं, जहां अभी तक खेले गए 6 सीजन में तीम टीमों ने ही खिताब पर कब्जा किया है। यहां पढ़िए कौन सी टीम ने किस सीजन का खिताब अपने नाम किया।

2019-20 ISL चैंपियन — ATK

अपने दो सीजन में अच्छे प्रदर्शन न करने की वजह से ISL 2019-20 के सीजन के लिए ATK ने एंटोनियो लोपेज हाबास (Antonio Lopez Habas) को अपना मुख्य कोच बनाया।

समास्याओं के जल्दी समाधान करने के लिए हाबास को जाना जाता है, उन्होंने इस टीम में ऑस्ट्रेलिया लीग-A से डेविड विलियम्स (David Williams) और रॉय क्रिष्णा (Roy Krishna) को शामिल किया। जिसकी बदौलट टीम ने 18 में से 10 मैच जीते और 33 गोल करते हुए प्लेऑफ्स के लिए क्वालिफाई किया।

हालाकि पहले लेग के सेमीफाइनल में ATK को बेंगलुरू एफसी के हाथों 1-0 से हार झेलनी पड़ी थी। लेकिन होम लीग में जीत हासिल करते हुए उन्होंने फाइनल में जगह बनाई।.

फाइनल में चेन्नईयिन एफसी के खिलाफ मुक़ाबला काभी रोमांचक था। एटीके ने बेहतर खेल दिखाया और तीसरी बार खिताब अपने नाम किया।

2018-19 ISL चैंपियन — बेंगलुरु FC

साल 2018-19 के सीजन में बेंगलुरु एफसी (Bengaluru FC) खिताब जीतने के लिए बिना किसी संदेह के सबसे फेवरेट टीमों में से एक थी। अपने घर में उससे पिछले साल फाइनल में हार झेलने वाली इस टीम को कप्तान सुनिल छेत्री (Sunil Chhetri) ने इस साल खिताब दिलाया।

अपने नये कोच रार्लेस कुआड्राट (Carles Cuadrat) की देख-रेख में वही किया, जिस तरह से बेंगलुरू एफसी के खिलाड़ियों ने ग्रुप स्टेज में दबदबा बनाया था। सेमीफाइनल में नॉर्थईस्ट युनाइटेड (NorthEast United) को हराने के बाद इस टीम ने फाइनल में एफसी गोवा (FC Goa) को हराकर खिताब अपने नाम कर लिया।

सभी उम्मीद कर रहे थे कि फाइनल में गोलों की बरसात हो जाएगी, लेकिन मुंबई के फुटबॉल एरिना में खेले जा रहे इस मैच की रोमांच हर पल बढ़ रही थी। आखिरकार 117वें मिनट में कॉर्नर किक के जरिए बेंगलुरू एफसी ने गोल कर खिताब अपने नाम किया।

2017-18 ISL चैंपियन — चेन्नईयिन FC

ये वो साल था, जब आईएसएल ने प्रीमियर लीग की ओर पहला कदम बढ़ाया था।

इस साल दो नई टीमें बेंगलुरु एफसी और जमशेदपुर एफसी (Jamshedpur FC) को एशियन फुटबॉल कॉनफेडरेशन (AFC) से मान्यता मिली और आईएसएल से एएफसी कप के लिए प्लेऑफ्स के जरिए क्लालिफाई करने का मौका मिला।

चेन्नईयिन एफसी (Chennaiyin FC) ने कोच जॉनी ग्रेगरी (John Gregory) की देख रेख में अपना दूसरा खिताब अपने नाम किया।

जेजे लालपेख्लुआ (Jeje Lalpekhluah), जेरी लालरिंजुला (Jerry Lalrinzuala) और धनपाल गणेश (Dhanpal Ganesh) ने चेन्नईयिन एफसी को प्लेऑफ्स में दूसरे स्थान पर पहुंचा दिया।

सेमीफाइमल में उन्होंने एफसी गोवा (FC Goa) को 4-1 हराया और फाइनल में बेंगलुरु एफसी को आसानी से 3-1 से हराकर आईएसएल की चैंपियन बन गई।

2016 ISL चैंपियन — एटलेटिको डी कोलकता

ये वो समय था, जब इंडियन सुपर लीग ने भारत की प्रमुख फुटबॉल लीग, आई लीग (I-League) के खिलाड़ियों को लेकर आए और दो महीने की अवधि के लिए ISL टीमों के साथ खेलने का मौका दिया। 

इसके अलावा UEFA चैंपियंस लीग विजेता फ्लोरेंट मालौदा, उरुग्वयन स्टार डिएगो फोरलान और लीवरपूल के पूर्व खिलाड़ी जॉन अर्ने रीस के लीग में शामिल होने के बाद शायद ही इस लीग में कोई कमी रही हो।

जहां फोरलेन ने लीग चरण में मुंबई सिटी एफसी को तालिका में शीर्ष पर पहुंचाया। हालांकि मैनचेस्टर यूनाइटेड के पूर्व स्ट्राइकर प्लेऑफ में ज्यादा कुछ नहीं कर सके, जहां एटलेटिको डी कोलकाता ने आरामदायक जीत के साथ फाइनल में जगह बना ली।

फाइनल में केरला ब्लास्टर्स के खिलाफ, जोस फ्रांसिस्को मोलिना की देख रेख में खेल रही चेन्नईयिन एफसी ने पेनल्टी शूटआउट के बाद खिताब जीत लिया।

2015 ISL चैंपियन - चेन्नईयिन FC

दो साल तक चेन्नईयिन एफसी के साथ रहने के बाद, 2015 सीज़न में विश्व कप चैंपियन मार्को मातेराज़ी (Marco Materazzi) ने टीम के कोच के रूप में पदभार संभाल लिया।

हालाँकि, इस सीजन टीम की शुरुआत उम्मीद मुताबित नहीं रही, लेकिन हाफ सीजन के बाद पांच बैक-टू-बैक जीत ने चेन्नईयिन एफसी को प्लेऑफ में पहुंचा दिया।

चेन्नईयिन एफसी ने प्रतियोगिता के अंत तक अपना फॉर्म जारी रखा, जहां उन्होंने सेमीफाइनल में एटलेटिको डी कोलकाता को हराकर फाइनल में प्रवेश किया और खिताबी मुकाबले में एफसी गोवा को हराया।

2014 ISL चैंपियन - एटलेटिको डी कोलकाता

लुइस गार्सिया (Luis García), एलेसेंड्रो डेल पियरो (Alessandro Del Piero), रॉबर्ट पाइरेस (Robert Pires) और फ्रेडी लेजुंगबर्ग (Freddie Ljungberg) जैसे महान फुटबॉलरों के साथ, इंडियन सुपर लीग का कद और बढ़ गया।

जहां एटलेटिको डी कोलकाता ने अपने शानदार रक्षात्मक प्रदर्शन और मुख्य कोच एंटोनियो लोपेज हाबास की प्रतिभा पर भरोसा किया, केरल ब्लास्टर्स एफसी (Kerala Blasters FC) ने अपने कनाडाई फारवर्ड इयान ह्यूम (Iain Hume) के शानदार प्रदर्शन की बदौलत फाइनल में जगह बनाई।

फाइनल मुक़ाबले में भारतीय मिडफील्डर मोहम्मद रफीक (Mohammed Rafique) ने गोल करते हुए एटलेटिको डी कोलकाता को आईएसएल का चैंपियन बना दिया।