फ़ीचर

मैरी कॉम बायोपिक: एक दिग्गज मुक्केबाज़ के जीवन और रिंग के अंदर की कहानी

भारतीय मुक्केबाज़ मैरी कॉम पर आधारित बायोपिक में प्रियंका चोपड़ा ने उनकी भूमिका निभाई थी, जिसमें ओलंपिक पदक विजेता बनने से पहले शुरुआती करियर और उनके संघर्ष की कहानी दिखाई गई है।

लेखक विवेक कुमार सिंह ·

बॉलीवुड में स्पोर्ट्स पर बायोपिक्स का चलन 2013 में बने भाग मिल्खा भाग के बाद से बेहद लोकप्रिय हो गया है। उसके बाद मैरी कॉम की बायोपिक बनने में भी ज्यादा समय नहीं लगा। छह बार की विश्व चैंपियन भारतीय मुक्केबाज़ एमसी मैरी कॉम (MC Mary Kom) के जीवन पर आधारित फिल्म की शूटिंग शुरू हुई।

मणिपुर की छह बार की विश्व मुक्केबाज़ी चैंपियन के जीवन और उपलब्धियों पर आधारित इस फिल्म ने धमाकेदार अंदाज़ में शुरूआत की और 2014 में रिलीज हुई ये फिल्म बॉक्स ऑफिस पर एक धमाकेदार हिट साबित हुई। लगभग 18 करोड़ रुपये के छोटे बजट पर बनी इस फिल्म ने 104 करोड़ रुपये का कारोबार किया।

तो आखिर फिल्म कैसी थी? मैरी कॉम की बायोपिक के पीछे की कहानी पर एक नज़र।

मैरी कॉम फिल्म में किसका क्या था किरदार

मैरी कॉम फिल्म का निर्देशन ओमंग कुमार (Omung Kuma) ने किया था, जिन्होंने इस फिल्म से अपना निर्देशन करियर शुरू किया था। इस फिल्म के निमार्ता संजय लीला भंसाली (Sanjay Leela Bhansali) थे।

इस फिल्म में भंसाली की भागीदारी विशेष रूप से आश्चर्यजनक थी। पद्म श्री विजेता मुख्य रूप से पद्मावत, देवदास और सांवरिया जैसे बड़े बजट की फिल्मों निर्माण या निर्देशन के लिए जाने जाते हैं।

हालांकि, राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता फिल्म निर्माता ने खुद बाद में स्वीकार किया कि मैरीकॉम जैसी प्रतिष्ठित व्यक्ति की कहानी को फिर से दिखाने का अवसर उन्हें नहीं मिलने वाला था।

प्रियंका चोपड़ा बनी फिल्म में मैरी कॉम

मैरी कॉम के शांत और शक्तिशाली प्रदर्शन को देखते हुए, ऐसे बॉक्सर की भूमिका निभाने के लिए एक अभिनेत्री की तलाश करना एक चुनौती से भरा था। आखिरकार, प्रियंका चोपड़ा (Priyanka Chopra) को भूमिका निभाने के लिए चुना गया।

मैरी कॉम क्यों हैं स्पेशल ?

बॉक्सिंग ओलंपिक चैंपियन निकोला एडम्स और क्लेरेसा शील्ड्स ने ओलंपिक चैनल को ...

दर्शन कुमार (Darshan Kumar) को मैरी कॉम के पति, ओनलर कोम (Onler Kom) के रूप में चुना गया था, जबकि लोकप्रिय नेपाली अभिनेता सुनील थापा (Sunil Thapa) ने उनके कोच और मेंटोर एम नरजीत सिंह (M. Narjit Singh) की भूमिका निभाई।

मैरी कॉम की भूमिका निभाना सबसे कठिन चुनौती

प्रियंका चोपड़ा अपने बेहतरीन अभिनय कौशल के लिए जानी जाती हैं और बॉलीवुड और हॉलीवुड दोनों में चुनौतीपूर्ण भूमिकाएँ निभाने का एक शानदार ट्रैक रिकॉर्ड है। क्वांटिको स्टारर ने मैरी कॉम को सबसे कठिन प्रयास के रूप बताया।

प्रियंका चोपड़ा ने कहा, “यहां दृढ़ संकल्प, ध्यान, परिश्रम के साथ एक परीक्षा थी।”

“मैं कभी भी खिलाड़ी नहीं रही हूं, मैंने कभी भी किसी प्रतियोगिता में अपने देश का प्रतिनिधित्व नहीं किया है। एक अभिनेत्री के रूप में, मुझे ये महसूस करने का अवसर मिला।”

एक नया खेल सीखने और भूमिका के लिए अपने शरीर को ढालने के लिए, प्रियंका चोपड़ा ने समीर जौरा (Samir Jaura) से प्रशिक्षण लिया, जिन्होंने भाग मिल्खा भाग के लिए फरहान अख्तर (Farhan Akhtar) को भी तैयार किया था।

प्रियंका चोपड़ा मैरी कॉम से भी मिलीं और खेल के पहलुओं के साथ-साथ मुक्केबाज़ी के गुर और निजी जीवन के बारे में जानने के लिए इम्फाल में उनके घर भी गईं।

जितना संभव हो उतनी सच्चाई दिखाने के लिए, 2012 के लंदन ओलंपिक में USA के सहायक कोच क्रिस्टी हैलबर्ट (Christy Halbert) को मुक़ाबले की कोरियोग्राफ़ी करने के लिए लाया गया था।

फिल्म में मैरी कॉम के मुक्केबाज़ी करियर के शुरुआती दिनों के कई महत्वपूर्ण मुक़ाबलों को भी दिखाया गया है। फिल्म में प्रियंका चोपड़ा के सभी प्रतिद्वंदी वास्तविक मुक्केबाज़ थे और उन्होंने मैरी कॉम फिल्म की शूटिंग के दौरान कुछ वास्तविक पंच भी लगाए और वास्तविक चोटों का सामना किया।

रिंग के अंदर और बाहर की लड़ाई

मैरी कॉम की बायोपिक में बॉक्सिंग के ईर्द गिर्द तो कहानी थी ही, साथ ही इस फिल्म में महिला सशक्तिकरण, मातृत्व और विश्व चैंपियन बनने के साथ, उनके पारिवारिक जीवन के साथ संतुलन को बेहतर ढंग से पेश किया गया है।

क्या मैरी कॉम फिल्म एक सच्ची कहानी है?

पूरी तरह से नहीं। हालाँकि, एक व्यावसायिक सिनेमा के लिए रोमांचक बनाने के लिए कुछ रचनात्मक सीन भी शूट की गई थी, लेकिन ज्यादातर इसके सीन मैरी कॉम के वास्तविक जीवन से जुड़े हुए थे।

मैरी कॉम ने स्पष्ट किया, "फिल्म में दिखाए गए अधिकांश सीन वास्तविक हैं, लेकिन थोड़ा सा मसाला भी लगाया गया है।"

मैरी कॉम ने प्रियंका चोपड़ा को अपनी तरह ढलने क लिए उनके समर्पण की भी प्रशंसा की।

“प्रियंका ने देखा कि हम कैसे रहते हैं। वो मेरे परिवार से मिलीं और मेरे शुरुआती जीवन के बारे में भी जाना। ये उनके लिए एक नई सीख थी।” मैरी कॉम ने कहा, “कांगथेई गांव के चावल के खेतों से विश्व चैंपियनशिप जीतने के लिए मेरी शुरूआती संघर्ष को अच्छी तरह से कैप्चर किया गया है।”

निक जोन्स ने देखी फिल्म

मैरी कॉम फिल्म का प्रीमियर 2014 के टोरंटो इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में हुआ, जिससे ये प्रतिष्ठित इवेंट की ओपनिंग नाइट पर फीचर करने वाली पहली हिंदी भाषा की फिल्म बन गई।

टोरंटो इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में दिखाई गई प्रियंका चोपड़ा और निर्देशक ओमंग कुमार की फिल्म मैरी कॉम फिल्म।

इस बायोपिक को सर्वश्रेष्ठ लोकप्रिय फिल्म के लिए राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार भी मिला और कई फिल्म फेयर सहित कई अन्य पुरस्कार भी जीते।

फिल्म की मुख्य अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा ने बाद में ये भी खुलासा किया कि उनके पति निक जोन्स (Nick Jonas), जो जोन्स ब्रदर्स के एक लोकप्रिय गायक हैं, वो इस मैरी कॉम फिल्म को देखने के गए थे।

अभिनेत्री ने कहा, "वो वास्तव में मेरी बॉलीवुड फिल्में नहीं देखते हैं लेकिन उन्होंने मैरी कॉम को एक दिन देखा।"

मैरी कॉम 2 की संभावना?

हालांकि मैरीकॉम फिल्म चैंपियन बॉक्सर के शुरुआती दिनों की कहानी है, फिर भी ये आधी-अधूरी कहानी है।

2011 में मैरी कॉम फिल्म की पटकथा और पटकथा को अंतिम रूप दिया गया। मैरीकॉम की कहानी मणिपुर में उनके गांव से सभी बाधाओं के खिलाफ लड़ती हुई शुरू होती है और निंगबो शहर में आयोजित वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने के बाद कहानी खत्म हो जाती है। जो कि 2007 में पहली बार माँ बनने के बाद से उनकी पहली बड़ी जीत थी।

तब से, भारतीय मुक्केबाज़ ने मुक्केबाज़ी रिंग के अंदर कई खिताब जीते हैं, जिसमें दो और विश्व चैंपियनशिप, दो एशियाई गेम्स का स्वर्ण पदक, एक राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण और सबसे महत्वपूर्ण रूप से 2012 लंदन ओलंपिक में कांस्य - जिसे उनके करियर का सबसे महत्वपूर्ण क्षण माना गया।

मां बनने के बाद, भारत के राज्यसभा के सदस्य के रूप में नामाँकित होना और आगामी टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालिफिकेश हासिल करने के लिए निकहत ज़रीन के साथ एक मुक़ाबला, ये सब कई महत्वपूर्ण पल हैं जो मैरी कॉम की फिल्म में नहीं देखने को मिला है।

भारतीय बॉक्सर, वास्तव में, पहले से ही एक संभावित सुझाव सूची के साथ तैयार हैं। "अगर मुझ पर एक और बायोपिक बनाने का फैसला किया जाता है, तो मैं उन मुक़ाबले पर अधिक ध्यान देना चाहती हूं,"

मैरी कॉम फिल्म कैसे देख सकते हैं?

अगर आगे मैरी कॉम की जिंदगी में कोई भी सिक्वल बनता है तो हमें उसके लिए फिलहाल तो इंतजार करना होगा, लेकिन आप आप नेटफ्लिक्स पर ऑनलाइन स्ट्रीमिंग पर मैरी कॉम फिल्म देख सकते हैं या YouTube पर इसे देखने के लिए मूवी खरीद सकते हैं।