टोक्यो 2020 का नया शेड्यूल: तीरंदाज़ी से शुरू होगा भारत का ओलंपिक अभियान

साल 2021 में होने वाले टोक्यो ओलंपिक खेलों की शुरुआत 23 जुलाई से होगी और 8 अगस्त 2021 को इनका अंत हो जाएगा। भारतीय दर्शकों के लिए यह ‘खेलों का महाकुंभ’ काफी रोमांचक होगा।

ओलंपिक खेलों की आयोजन समिति द्वारा शुक्रवार को जारी किए गए नए प्रतियोगिता शेड्यूल के मुताबिक टोक्यो 2020 में तीरंदाज़ दीपिका कुमारी (Deepika Kumari) भारत के ओलंपिक अभियान की शुरुआत करेंगे।

ग्रीष्मकालीन ओलंपिक खेलों को साल 2021 तक स्थगित किए जाने के बाद जारी किए गए इस नए शेड्यूल को देखें तो भारत के वुमेंस आर्चरी इंडिविज़ुअल रैंकिंग राउंड पहला इवेंट होगा, जो कि युमेनोशिमा पार्क आर्चरी फ़ील्ड में भारतीय समयानुसार 5:30 बजे (9 AM स्थानीय समय) शुरू होगा।

ग़ौरतलब है कि COVID-19 महामारी के बढ़ते प्रकोप की वजह से टोक्यो 2020 को स्थगित कर दिया गया था, अब यह आधिकारिक तौर पर 23 जुलाई, 2021 को शुरू होगा और 8 अगस्त, 2021 को समाप्त होगा।

दीपिका कुमारी टोक्यो के लिए एक कोटा स्थान हासिल करने वाली एकमात्र भारतीय महिला तीरंदाज हैं, लेकिन क्वालिफिकेशन विंडो के बंद होने से पहले और अधिक प्रतियोगी इसमें शामिल हो सकते हैं।

उस दिन बाद में भारतीय समयानुसार 9:30 बजे दीपिका के पति अतानु दास और उनके साथी तीरंदाज तरुणदीप राय (Tarundeep Rai) और प्रवीण जाधव (Pravin Jadhav) मेंस आर्चरी इंडिविज़ुअल रैंकिंग राउंड का हिस्सा होंगे।

इसके बाद तीरंदाज़ी में भारत की पदक की उम्मीदें जारी रहेंगी। वहीं मुक्केबाज़ी, शूटिंग, हॉकी, बैडमिंटन, टेनिस, टेबल टेनिस, और अन्य खेलों की शुरुआत 24 जुलाई से होगी।

भारत ने रियो 2016 में सिर्फ दो पदक और लंदन 2012 में छह पदक जीते हैं। भारतीय दल इस बार दोहरे अंकों में पदक की उम्मीद कर रहा है। क्योंकि कई एथलीटों के साथ इस बार विशेष तौर पर शूटिंग और मुक्केबाज़ी में विश्व स्तर अपना परचम लहरा चुके खिलाड़ियों से काफी उम्मीदें होंगी।

यहां हम भारतीय खेल प्रशंसकों के लिए टोक्यो ओलंपिक खेलों की पूरी जानकारी और शेड्यूल को हर एक खेल के अनुसार बता रहे हैं।

तीरंदाज़ी

भारत में चार तीरंदाज़ों ने पहले ही ओलंपिक खेलों के लिए कोटा स्थान हासिल कर लिया है। दीपिका कुमारी चारों लोगों के इस दल की एकमात्र महिला तीरंदाज़ हैं। इसके साथ ही भारत व्यक्तिगत श्रेणियों के अलावा मिक्स्ड टीम और मेंस टीम इवेंट में फ़ील्ड पर प्रदर्शन करते हुए देखी जा सकती है।

24 जुलाई को मिश्रित टीम तीरंदाज़ी इवेंट में भारतीय प्रशंसक दीपिका कुमारी और अतानु दास के इस विवाहित जोड़े को कंधे से कंधा मिलाकर देश के लिए ओलंपिक पदक हासिल करने की कोशिश करते हुए देखेंगे।

हालांकि, भारतीय महिला तीरंदाज़ों के पास अभी भी अगले साल जून में पेरिस में होने वाले तीरंदाज़ी विश्व कप में ओलंपिक खेलों के लिए दो अन्य कोटा स्थान सुरक्षित करने का अवसर होगा। अगर कोई भी एक खिलाड़ी क्वालिफाई कर लेता है तो भारत ओलंपिक खेलों में भी महिलाओं की टीम को मैदान में उतार सकता है।

टोक्यो ओलंपिक में तीरंदाजी की स्पर्धाएं 23 जुलाई से शुरू होंगी और 31 जुलाई को खत्म हो जाएंगी।

View this post on Instagram

Happily Married...😍

A post shared by Atanu Das (@theatanudas) on

निशानेबाज़ी

15 भारतीय निशानेबाज़ों के पहले से ही कोटा स्थान सुरक्षित कर लेने के साथ ही भारत टोक्यो ओलंपिक में अपनी सबसे बड़ा शूटिंग दल उतारने के लिए तैयार है।

24 जुलाई को 10 मीटर वूमेंस एयर राइफल और 10 मीटर मेंस एयर पिस्टल इवेंट के साथ शूटिंग प्रतियोगिताओं की शुरुआत होगी। इन इवेंट के मेडल राउंड भी उसी दिन समाप्त हो जाएंगे।

शीर्ष वुमेंस राइफल निशानेबाज़ों में अपूर्वी चंदेला (Apurvi Chandela) और अंजुम मोदगिल (Anjum Moudgil) शामिल हैं। वहीं, मेंस 10 मीटर एयर पिस्टल के दावेदारों में अभिषेक वर्मा (Abhishek Verma) और सौरभ चौधरी (Saurabh Chaudhary) शामिल होंगे। इन दोनों ही स्पर्धाओं में पदक जीतने की काफी संभावना है।

तेजस्विनी सावंत (Tejaswini Sawant), दिव्यांश सिंह पंवार (Divyansh Singh Panwar), दीपक कुमार (Deepak Kumar), मनु भाकर (Manu Bhaker), यशस्विनी सिंह देसवाल (Yashaswini Singh Deswal) और अन्य निशानेबाज़ अन्य श्रेणियों में भारत के पदक जीतने की संभावनाओं को बढ़ाएंगे।

टोक्यो ओलंपिक की शूटिंग स्पर्धाएं 24 जुलाई से शुरू होंगी और 2 अगस्त को समाप्त हो जाएंगी।

बॉक्सिंग

भारत के नौ मुक्केबाज़ पहले ही ओलंपिक खेलों के लिए क्वालिफाई कर चुके हैं।

अपने तीसरे ओलंपिक में विकास कृष्ण (Vikas Krishan) 24 जुलाई को मुक्केबाज़ी प्रतियोगिता की शुरुआत करने के लिए रिंग में उतरेंगे।

अगले दिन लंदन में 2012 की कांस्य पदक विजेता मैरी कॉम (Mary Kom), ओलंपिक में भारत से पहली बार सुपर हेवीवेट में क्वालिफाई करने वाले सतीश कुमार (Satish Kumar) और महिलाओं की वेल्टरवेट उम्मीद लवलिना बोर्गोहेन (Lovlina Borgohain) एक्शन में नज़र आएंगी।

मेंस बॉक्सिंग में भारत की सबसे बड़ी पदक संभावनाओं में से एक अमित पंघल (Amit Panghal) 26 जुलाई को अपनी पहली ओलंपिक बाउट के लिए कोकुगिकन एरिना रिंग में उतरेंगे।

टोक्यो ओलंपिक में बॉक्सिंग इवेंट 24 जुलाई से शुरू होंगे और 8 अगस्त को समाप्त हो जाएंगे।

हॉकी

पुरुष और महिला दोनों ही भारतीय हॉकी टीमें 24 जुलाई से टोक्यो ओलंपिक अभियान की शुरुआत करेंगी।

जहां पुरुष टीम भारतीय समयानुसार सुबह 6:30 बजे न्यूजीलैंड के खिलाफ मैदान में उतरेगी, वहीं महिला टीम अपने अभियान की शुरुआत नीदरलैंड्स के खिलाफ उसी दिन भारतीय समयानुसार दोपहर 3 बजे करेगी।

टोक्यो ओलंपिक में पुरुषों की हॉकी प्रतियोगिता 24 जुलाई से शुरू होगी और 5 अगस्त को समाप्त हो जाएगी। महिला हॉकी प्रतियोगिता इसी दिन शुरू होगी और 6 अगस्त तक चलेगी।

एथलेटिक्स

जेवलिन थ्रो (भाला फेंक)

टोक्यो में भारत के ट्रैक एंड फील्ड में नीरज चोपड़ा (Neeraj Chopra) सबसे बड़ी पदक उम्मीद होंगे। उनके साथी भाला फेंक खिलाड़ी शिवपाल सिंह (Shivpal Singh) ने भी इस इवेंट के लिए क्वालिफाई कर लिया है और उनकी नज़रें भी ओलंपिक पदक पर होंगी।

नीरज और शिवपाल 4 अगस्त को क्वालिफाइंग राउंड से शुरुआत करेंगे। मेडल राउंड 7 अगस्त को संपन्न होगा।

रेस वाकिंग

केटी इरफान (KT Irfan) 20 किमी मेंस रेस वॉकिंग इवेंट में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे और उनका इवेंट 5 अगस्त को दोपहर 1 बजे से शुरू होगा।

20 किमी वुमेंस रेस वॉकिंग इवेंट में भावना जाट (Bhawna Jat) पहले ही खेलों के लिए क्वालिफाई कर चुकी हैं और वह होक्काइडो के सापोरो ओडोरी पार्क में उतरेंगी। पुरुषों के इवेंट के लिए भी यही खेल स्थान होगा।

3000 मीटर इंडिविज़ुअल स्टीपलचेज़

अविनाश साबले (Avinash Sable) 3000 मीटर इंडिविज़ुअल स्टीपलचेज में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे। वह 30 जुलाई को सुबह 5:30 बजे टोक्यो के ओलंपिक स्टेडियम में अपने इवेंट के पहले राउंड में मैदान में उतरेंगे।

रेसलिंग (कुश्ती)

शूटिंग के साथ ही साथ कुश्ती में भी भारत को सबसे अधिक ओलंपिक पदक की उम्मीद होगी। इसमें से कम से कम 5 मेडल आ सकते हैं।

हालांकि भारत को टोक्यो के लिए अपने कुश्ती दल को अंतिम रूप देना अभी बाकी है, लेकिन भारतीय प्रशंसक अगले साल के ओलंपिक खेलों में कम से कम चार पदकों की उम्मीद कर सकते हैं।

2019 विश्व चैंपियनशिप में कोटा स्थान हासिल करने के बाद विनेश फोगाट (Vinesh Phogat) को महिलाओं के 53 किग्रा वर्ग में पदक जीतने की उम्मीद है। पुरुषों की कुश्ती में बजरंग पूनिया (Bajrang Punia), रवि कुमार दहिया (Ravi Kumar Dahiya) और दीपक पुनिया (Deepak Punia) क्रमशः 65 किग्रा, 57 किग्रा और 86 किग्रा में भाग ले सकते हैं।

टोक्यो ओलंपिक में कुश्ती की प्रतियोगिताएं 1 अगस्त से शुरू होंगी और 7 अगस्त को समाप्त हो जाएंगी।

इक्वेस्ट्रियन (घुड़सवारी)

20 वर्षों में भारत पहली बार इस इवेंट में हिस्सा लेगा। फवाद मिर्ज़ा इंडिविज़ुअल इवेंट श्रेणी में अपनी घुड़सवारी के कौशल का प्रदर्शन करेंगे। मिर्ज़ा का इवेंट 30 जुलाई को सुबह 5 बजे से शुरू होगा।

भारत के टेनिस, बैडमिंटन, टेबल टेनिस जैसे खेलों में भी हिस्सा लेने की उम्मीद है।

बैडमिंटन

महिला वर्ग में ओलंपिक पदक विजेता पीवी सिंधु (PV Sindhu), साइना नेहवाल (Saina Nehwal) और पुरुष वर्ग में दुनिया के पूर्व नंबर-1 किदांबी श्रीकांत (Kidambi Srikanth) और बी साई प्रणीत (B Sai Praneeth) पर सभी की नज़रें होंगी।

टोक्यो ओलंपिक में बैडमिंटन का आयोजन 24 जुलाई से शुरू होगा और 2 अगस्त को समाप्त हो जाएगा।

टेनिस

रियो 2016 में कांस्य पदक जीतने से चूक जाने के बाद भारतीय प्रशंसक सानिया मिर्ज़ा (Sania Mirza) और रोहन बोपन्ना (Rohan Bopanna) को एक बार फिर मिश्रित युगल जोड़ी बनाकर खेलते हुए देख सकते हैं।

टोक्यो ओलंपिक में टेनिस स्पर्धाएं 24 जुलाई से शुरू होंगी और 1 अगस्त को समाप्त हो जाएंगी।

टेबल टेनिस

भारत में मनिका बत्रा (Manika Batra), साथियान गनासेकरन (Sathiyan Gnanasekaran), अचंत शरत कमल (Achanta Sharath Kamal) और हरमीत देसाई (Harmeet Desai) वो सक्षम टेबल टेनिस खिलाड़ी हैं, जिनके ओलंपिक खेलों में जगह बनाने की संभावना है।

टोक्यो ओलंपिक में टेबल टेनिस का आयोजन 24 जुलाई से शुरू होगा और 6 अगस्त को समाप्त हो जाएगा।

टोक्यो 2020 के नए शेड्यूल के लिए यहां क्लिक करें

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!