आइसोलेशन के दौरान म्युजिक और फिल्मों का लुत्फ उठा रहे हैं भारतीय एथलीट

सेल्फ आइसोलेशन के समय भारतीय खिलाड़ियों ने अभ्यास के साथ अपने शौक को भी पंख दिए हैं।

कोरोना वायरस की वजह से दुनियाभर के खेल और ट्रेनिंग कैंप प्रभावित हुए हैं। वहीं, भारतीय एथलीट सेल्फ आइसोलेशन में तरह-तरह की गतिविधियाँ कर खुद को फिट रख रहे हैं। जहां कुछ एथलीट गाने सुनकर और किताबें पढ़ रहे हैं तो कुछ एथलीट अपनी पढ़ाई पूरी करने में ध्यान लगा रहे हैं।

आईए देखते हैं कि सेल्फ आइसोलेशन में क्या कर रहे हैं भारतीय एथलीट:

सोमदेव देवबर्मन ने गाया गाना

एशियन गेम्स और कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडल जीतने वाले सोमदेव देवबर्मन (Somdev Devvarman) ने ट्विटर पर एक वीडियो शेयर किया है। जिसमें वह अपने गाना गाने के शौक को दुनिया के साथ साझा किया है और इस वीडियो में सोमदेव ने इस कयामत से लड़ने पर गिटार बजाने के साथ-साथ गाना गाते नज़र आए।

रानी रामपाल और मंदीप सिंह को किताब से प्यार

चाहे कुछ भी हो जाए लेकिन एक खिलाड़ी की ज़िंदगी ऐसे ही चलती रहती है। भारतीय खेल प्राधिकरण (Sports Authority of India) कैम्पस में भारतीय महिला हॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल (Rani Rampal) ने इस दौरान अपने सेल्फ आइसोलेशन के समय अपनी मास्टर्स डिग्री की पढ़ाई करने के लिए ठाना है। गौरतलब है कि रानी अंग्रेज़ी और साहित्य में डिग्री कर रही हैं।

रानी रामपाल ने ईएसपीएन (ESPN) से बात करते हुए कहा, “मैं अपनी पढ़ाई को शुरू करने के बाद से खुश हूं। पढ़ाई के साथ मैं जिम कॉलिंस की किताब ‘गुड तो ग्रेट’ भी पढ़ रही हूं। इसके अलावा मैं पंजाबी गाने भी सुनती हूं और हां गुरदास मान मेरे पसंदीदा गायक हैं।”

वहीं दूसरी तरफ भारतीय मेंस गोलकीपीआर श्रीजेश (PR Sreejesh) भी पढ़ने के काफी शौक़ीन हैं। इस शौक को मद्देनज़र रखते हुए श्रीजेश ने दो किताबों को पढ़कर ख़त्म किया है। हॉकी की बात हो तो मंदीप सिंह (Mandeep Singh) का नाम आना लाज़मी है। मंदीप आज कल अपनी अंग्रेज़ी को सुधारने में लगे हैं।

उन्होंने स्टार स्पोर्ट्स से बात करते हुए कहा, “टीम के विश्लेषणात्मक कोच क्रिस सिरिलो (Chris Ciriello) की बीवी हफ्ते में एक बार अंग्रेज़ी क्लासेज लेती हैं। उसमें हमे अंग्रेज़ी किताबें पढ़ना सिखाया जाता है। फिलहाल मैंने ओलंपिक पर छपी किताब को पढ़ना शुरू किया है।पर

महिला हॉकी टीम की एक और सदस्य और उपकप्तान सविता पूनिया (Savita Punia) टीम के आपसी समन्वय को बेहतर करने में लगी हैं। प्रेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया से बात करते हुए पूनिया ने बताया कि “हम लगातार रूममेट बदल रहे हैं ताकि सब एक दूसरे से घुल मिल सकें।”

फोकस फोकस फोकस, नीरज का यही मंत्र

जेवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा (Neeraj Chopra) को अभी ओलंपिक डेब्यू के लिए इंतज़ार करना होगा लेकिन वे उसके लिए काफी उत्सुक हैं और मेडल जीतने के लिए जी तोड़ मेहनत कर रहे हैं। टर्की से वापसी करने के बाद नीरज नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ़ स्पोर्ट्स में सेल्फ आइसोलेशन कर रहे हैं। जहां नीरज अपने अभ्यास के साथ-साथ किताबों को भी पढ़ रहे हैं।

हिंदुस्तान टाइम्स से बात करते हुए नीरज ने कहा “अगर मुझे समय मिलता है तो मैं गाने सुनता हूं। मुझे फ़िल्में देखना भी पसंद है लेकिन में नेटफ्लिक्स का शौकीन नहीं हूं, मेरी हार्ड डिस्क में कुछ फ़िल्में सेव हैं मैं उन्हें ही देखता हूं।”

उन्होंने आगे बताया “मेरे पास ज़्यादा किताबें नहीं हैं। जेवलिन थ्रो पर आधारित एक किताब है मेरे पास और उसे पढ़कर मैं तकनीकों को सीखता हूं। मोबाइल पर भी कभी कभी पढ़ लेता हूं। अगर ट्रेनिंग लंबे समय तक बंद रही तो मैं खुद में रीडिंग की आदत डाल लूंगा।”

नीरज चोपड़ा भारत में ला सकते हैं एथलेटिक्स का पहला ओलंपिक मेडल  
नीरज चोपड़ा भारत में ला सकते हैं एथलेटिक्स का पहला ओलंपिक मेडल  नीरज चोपड़ा भारत में ला सकते हैं एथलेटिक्स का पहला ओलंपिक मेडल  

गन की जगह ली पेंटिंग ब्रश ने लिया जगह

टोक्यो गेम्स का कोटा प्राप्त करने के बाद शूटर अंजुम मौदगिल (Anjum Moudgil) भी अपने शौक को पूरा कर रहीं हैं। पेंटिंग का शौक रखने वाली मौदगिल ने फर्स्टपोस्ट से बात करते हुए कहा “मैं आजकल पेंटिंग कर रही हूं। इससे मैं व्यस्त रहती हूं और सोच भी सकारात्मक रहती है। इस समय ने मुझे अपने शौक को पूरा करने का मौका दिया है और मैं इससे काफी खुश हूं।”

उन्होंने आगे कहा “मेरे पास किताबें भी हैं, एक बार पेंटिंग ख़त्म हो जाए उसके बाद मैं किताबों का रुख करूंगी। मेरी छुट्टियाँ अच्छी जा रहीं हैं।

कॉमनवेल्थ चैंपियन को डांस करना अच्छा लगता है

कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडल जीतने वाली मनिका बत्रा (Manika Batra) मानों भारत की चहेती ही बन गई हैं। यह टेबल टेनिस खिलाड़ी बहुत सी बच्चों की प्रेरणा बन चुकी हैं।

हिंदुस्तान टाइम्स से बात करते हुए बत्रा ने कहा, “मुझे डांस करने का अधिक समय मिल गया है और यह व्यायाम का एक अच्छा तरीका है। मुझे गाने सुनना और नेटफ्लिक्स भी पसंद है। फिलहाल मैं वही गाने सुनती हूं जिससे मैं सुनकर उनपर डांस कर सकूं।

मनिका बत्रा इन सभी चीज़ों के साथ प्रेरणा दायक किताबे भी पढ़ रही हैं ताकि वे खुद को सकरात्मक रख सकें और अपने आपको फोकस को बनाए रखें।

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!