फ़ीचर

3x3 बास्केटबॉल के नियम, स्कोरिंग, कोर्ट और गेंद के आकार के साथ इतिहास और ओलंपिक डेब्यू की विस्तार से जानकारी 

3x3 बास्केटबॉल का टोक्यो 2020 में डेब्यू होने जा रहा है और सब यही उम्मीद कर रहे हैं कि यह खेल भी सफलता हासिल करेगा।

लेखक जतिन ऋषि राज ·

यूएसए की गलियों से निकल कर 3x3 बास्केटबॉल ने ओलंपिक में अपनी जगह सफलता पूर्वक बना ली है। इस खेल को इसकी तेज़ गति के लिए प्रशंसकों द्वारा काफी पसंद किया गया था।

1980 में यूएसए में अर्बन और सेमी-अर्बन शहरों में एक स्ट्रीट बास्केटबॉल के रूप में शुरू हुई 3x3 बास्केटबॉल ने सभी के दिलों पर राज किया। अब यह महज़ एक समय बिताने वाला खेल नहीं रह गया था बल्कि यह एक ट्रेडिशन बन गया था।

इसकी प्रसिद्धि देख कर इसे एक प्रोफेशनल खेल बनाया गया और बाक़ायदा इंटरनेशनल बास्केटबॉल फेडरेशन ने इस खेल के नियमों को भी साझा किया। अब खिलाड़ियों के पास 3x3 बास्केटबॉल के नियम भी आ चुके थे और इस खेल को हर तरफ़ से बढ़ावा भी मिल रहा था।

2010 में 3x3 बास्केटबॉल ने सिंगापोर में हुए यूथ ओलंपिक गेम्स में अपना डेब्यू किया। यूथ ओलंपिक गेम्स में अपना डेब्यू करने के 10 साल बाद अब यही खेल टोक्यो 2020 में भी देखा जाएगा। ग़ौरतलब है कि टोक्यो समर ओलंपिक गेम्स के ज़रिए 3x3 बास्केटबॉल मुख्य इवेंट में अपना डेब्यू करने जा रहा है। इतना ही नहीं बल्कि 3x3 बास्केटबॉल दोनों पुरुष और महिला इवेंट में खेला जाएगा और प्रशंसकों के लिए यह एक ख़ास खबर है।

इस खेल के बारे में सब कुछ जानें

3x3 बास्केटबॉल कैसे ट्रेडिशनल बास्केटबॉल से अलग है?

3x3 बास्केटबॉल के नियमों और ट्रेडिशनल बास्केटबॉल के नियमों में बहुत कुछ सामान्य है। इनके फ़ाउल के नियम, बॉल हैंडलिंग, पासिंग, 3 सेकंड रूल, डबल-ड्रिबल जैसी चीज़े दोनों खेलों में देखी जा सकती हैं।

अब बात करते हैं उन नियमों को इन दोनों खेलों में अंतर पैदा करते हैं3x3 बास्केटबॉल कोर्ट साइज़ और डिविज़न5x5 बास्केटबाल 28m x15m के कोर्ट पर खेला जाता है जिसके दोनों तरफ एक-एक हूप यानी बास्केट रिंग होती है। लेकिन 3x3 बास्केटबॉल आधे कोर्ट यानी 11m x15m के कोर्ट पर खेल जाता है और इसके सिर्फ एक ही एंड पर हूप को लगाया जाता है।

खेलने वाले ऐरिया को दो भागों में बांटा जाता है। इन भागों को सेमीसर्कुलर आकार की शेप दी जाती है और इसे हूप के बीचों बीच से 6.75 मीटर में नापा जाता है। उस अर्क के अंदर की जगह को वन पॉइंट ज़ोन कहते हैं और उसके बाहर की जगह को भी टू पॉइंट ज़ोन कहा जाता है।

हूप के नीचे की जगह को रेक्टेंगुलर यानी आयताकार जैसा बनाया जाता है जो कि 5.8m x 4.9m का होता है। इसे ‘की’ कहा जाता है और बेसलाइन के सामने की लाइन को फ्री थ्रो लाइन कहा जाता है।

3x3 बास्केटबॉल में कितने खिलाड़ी एक समय पर खेलते हैं?

जैसा कि नाम से पता चल रहा है कि 3x3 बास्केटबॉल में एक समय पर एक टीम में 3 खिलाड़ी ही भाग ले सकते हैं। इसके अलावा पूरे खेल में सिर्फ एक ही सब्स्टिट्यूट का प्रयोग किया जा सकता है। जब भी डेड बॉल हो जाती है तो अंदर का खिलाड़ी बाहर बेंच पर बैठे खिलाड़ी को अपनी जगह खेलने का आमंत्रण दे सकता है।

3x3 बास्केटबॉल

FIBA के नियमों पर आधारित 3x3 बास्केटबॉल में जिस गेंद का इस्तेमाल किया जाता है वह रेगुलर गेंद से अलग होती है। 3x3 बास्केटबॉल की गेंद का वज़न 620 होता है और साइज़ रेगुलर से कम। 5x5 गेम में का सीज 7 (74.93 सेंटी मीटर) होता है और 3x3 खेल में जिस गेंद का प्रयोग किया जाता वह 72.39 सेंटी मीटर होती है।

3x3 बास्केटबॉल आधे कोर्ट पर सिर्फ एक हूप के साथ खेली जाती है

छोटी गेंद को काबू करना आसान होता है और इससे खेल में तेज़ी आती है।

3x3 बास्केटबॉल कैसे खेला जाता है?

काफी कारण हैं कि 3x3 गेम रेगुलर गेम से अलग तरीके से खेली जाती है। एक हूप के मौजूद होने से टीमों को अटैकिंग और डिफ़ेंसिव हाफ की रणनीति नहीं बनाती पड़ती। ऐसे में सिक्का उछाल कर टॉस किया जाता है और जीतने वाला निर्णय लेता है कि वह पहले अटैक करेगा या डिफ़ेंस।

हर बार जब एक टीम अंक बटोरने की कोशिश करती है उसके बाद गेंद की पोज़ेशन बदल जाती है, चाहे वह अंक बटोरने में सफल होते हैं या नहीं। डिफेंसिक टीम भी ब्लॉक, या रिबाउंड के ज़रिए पोज़ेशन अपने पास ला सकती हैं। अगर किसी नियम का उल्लंघन किया जाता है उस दौरान भी पोज़ेशन को बदल दिया जाता है।

जब भी कोई खिलाड़ी अर्क के अंदर गेंद को पकड़ता है तो उस उसे गेंद को ड्रिबल करना होता है या अर्क के बाहर खड़े खिलाड़ी को पास करना होता है और इसके बाद ही वह टीम शॉट के लिए जा सकती है।

3x3 बास्केटबॉल शॉट क्लॉक

ट्रेडिशनल बास्केटबॉल की तरह 3x3 बास्केटबॉल में भी समय को मद्देनज़र रखते हुए एक खिलाड़ी या टीम को शॉट लगाना होता है। जहां ट्रेडिशनल बास्केटबॉल में एक टीम को शॉट खेलने के लिए 24 सेकंड मिलते हैं, वहीं 3x3 बास्केटबॉल में 12 सेकंड ही मिलते हैं।

दोनों खेलों का लक्ष्य वही होता है कि अटैकिंग टीम हूप में गेद डाल कार अंक बटोरती है और डिफेंसिव टीम उन्हें रोक कर।

3x3 बास्केटबॉल में पोज़ेशन लेने के बाद एक टीम को 12 सेकंड के अंदर शॉट खेलना ही पड़ता है।

3x3 बास्केटबॉल स्कोरिंग

3x3 बास्केटबॉल में एक टीम फील्ड गोल/बास्केट कर अंक बटोर सकती है और साथ ही फ्री थ्रो के ज़रिए भी वह अंक तालिका में फेरबदल कर सकती है। फील गोल से 1 या 2 अंक की प्राप्ति होती है।

टू-पॉइंट शॉट – फील्ड गोल में जब कोई भी खिलाड़ी अर्क के बाहर से या 2 पॉइंट ज़ोन से बास्केट करता है उसकी टीम को 2 अंक मिलते हैं।

फ्री थ्रो – अगर कोई खिलाड़ी फ़ाउल करता है तो उसके प्रतिद्वंदी को स्कोर करने के लिए 1 या 2 मौके मिलते हैं जिसे वह फ्री लाइन से खेलता है।

FIBA द्वारा स्वीकृत गेम 3x3 बास्केटबॉल का मुकाबला 10 मिनट तक चलता है। अगर किसी भी टीम ने पहले 21 अंक हासिल कर लिए तो वह विजेता होता है नहीं तो 10 मिनटों में जिस भी टीम का स्कोर ज़्यादा होता है वह जीत जाती है।

अगर निर्धारित समय तक स्कोर बराबर हुआ तो एक्स्ट्रा टाइम दिया जाता है और ऐसे में जिस टीम ने खेल को डिफ़ेंस पर रह का शुरू किया होता इस दफा उसे पोज़ेशन दी जाती है।

ओवर या एक्स्ट्रा टाइम में जिस भी टीम ने पहले दो अंक बटोर लिए वह विजेता मानी जाती है। 10 मिनट के निर्धारित समय में अगर किसी टीम का स्कोर 20 है और एक्स्ट्रा टाइम में उन्होंने 1 अंक और हासिल कर लिया तो इस सूरत में भी वह मुकाबला जीत जाएंगे। 3x3 बास्केटबॉल गेम के नियमों के आधार पर जिस भी टीम ने रेगुलर टाइम या एक्स्ट्रा टाइम की बदौलत 21 अंक हासिल किए तो उसे विजेता घोषित किया जाता है।

3x3 बास्केटबॉल – तीव्रता का खेल

समय का कम होना, गेंद का छोटा होना, यह कुछ ऐसी बातें है जिस वजह से इस खेल की गति देखते ही बनती है और प्रशंसकों के लिए मानों एक त्यौहार सा होता है। उर्जा से भरपूर यह खेल हमेशा से यूएसए की जान रहा है और दर्शकों ने इसे बहुत पसंद किया है।

क्रिकेट में जिस प्रकार टी-20 खेल छोटा हो जाने की वजह से रोमांच बढ़ जाता है वैसे ही 3x3 बास्केटबॉल में भी इसी तरह रोमांच चरम पर होता है। अगर एक खिलाड़ी की तरफ से देखा जाए तो इस फ़ॉर्मेट में उन्हें ज़्यादा तीव्र और चालाक होना पड़ता है।

तीन बार के FIBA 3x3 वर्ल्ड टूर विजेता डुसन बुलुट (Dusan Bulut) ने कहा:

“यह ग्लोबल है, यह अर्बन है, यह एक शो है। आपको बहुत जल्दी सोचना होता है। अगर आपको ऊपरी स्तर पर रहना है तो आपके पास हर तरह का कौशल होना ज़रूरी है।”

द माइंड ऑफ ए बॉलर - दुसान बुलट

वास्तव में एक बास्केटबॉल खिलाड़ी होने के लिए क्या करना होता है? हम 3x3 स्ट...

अब जब टोक्यो 2020 में 3x3 बास्केटबॉल का डेब्यू होने रहा है तो ऐसे में पुरुष और महिला दोनों ही स्पर्धा करते नज़र आएंगे और माना जा रहा है यह खेल ओलंपिक गेम्स में सफलता हासिल करेगा।