बॉक्सिंग ओलंपिक क्वालिफिकेशन - अम्मान | पहला दिन - लाइव ब्लॉग

एशिया और ओशिनिया क्वालिफ़ायर्स के पहले दिन के हर एक मुक़ाबले का लाइव अपडेट, वीडियो हाइलाइट्स, और प्रतिक्रियाएं देखें। ओलंपिक चैनल आपके लिए ‘रोड टू टोक्यो 2020’ से संबंधित सभी एक्शन लेकर आ रहा है।

लेखक रितेश जायसवाल ·

नमस्कार! आप सभी का जॉर्डन के अम्मान में चल रहे एशिया/ओशिनिया ओलंपिक बॉक्सिंग क्वालिफिकेशन टूर्नामेंट के पहले दिन स्वागत है।

लाइव ब्लॉग – पहला दिन – मंगलवार, 3 मार्च

नए अपडेट हासिल करने के लिए कृपया पेज रिफ्रेश करें... सभी समय भारतीय समयानुसार (IST)

21:00 - नवोसा ईओटा (तुवालु) बनाम पाउलो औकुसू (ऑस्ट्रेलिया) - मेंस लाइट-हेवीवेट (75-81 किग्रा)

शाम के सत्र का अंतिम राउंड-ऑफ 36 मुकाबला ऑस्ट्रेलिया के पाउलो औकुसू और तुवालू के नवोसा ईओटा के बीच शुरू हुआ। पहले राउंड में दोनों मुक्केबाज़ एक-दूसरे को परखते हुए नज़र आए। जजों ने इस राउंड का निर्णय औकुसू के पक्ष में सुनाया। दूसरे राउंड में ऑस्ट्रेलियन मुक्केबाज़ ने कई स्ट्रेट पंच कर फायदा उठाने की कोशिश की। नवोसा ईओटा थोड़े हतास नज़र आए। औकुसू ने एक राइट स्ट्रेट और अपरकट मिस करते हुए अपने प्रतिद्वंदी पर हावी नज़र आए। यह राउंड भी Unanimous (एक पक्षीय) (5-0) के निर्णय के साथ ऑस्ट्रेलियाई मुक्केबाज़ के पक्ष में रहा।

तीसरे और अंतिम राउंड में तीन मिनट में तुवालू के नवोसा ईओटा ने वापसी की काफी कोशिश की। हालांकि पाउलो औकुसू ने कुछ राइट पंच, समय पर डक और क्लिंच करते हुए शानदार प्रदर्शन किया। अंततः जजों ने निर्णय एक पक्षीय (5-0) (30-27, 30-27, 30-27, 30-26, 30-26) के साथ ऑस्ट्रेलियाई मुक्केबाज़ के औकुसू के पक्ष में सुनाया। अब यह मुक्केबाज़ अगले राउंड में उज्बेकिस्तान के दिल्सोज से भिड़ेगा।

22:44 - डैक्सिंग चेन (चीन) बनाम एहसान रूज़वहानी (ईरान) - मेंस लाइट-हेवीवेट (75-81 किग्रा)

यह मुकाबला चीन के डैक्सिंग चेन और ईरान के एहसान रूज़वहानी के बीच में शुरू हुआ। लाइट हेवीवेट में पहला राउंड काफी बेहतर पंचों के साथ शुरू हुआ। दोनों ही मुक्केबाज़ों के बीच काफी कड़ा मुकाबला देखने को मिला। दूसरा राउंड में भी रूज़वहानी चीनी मुक्केबाज़ पर भारी नज़र आए। चेन ने अपनी लम्बाई का फायदा उठाते हुए कुछ स्ट्रेट पंच मारने की कोशिश जरूर करनी चाही, लेकिन नाकाम रहे। जजों ने दूसरे राउंड में भी एक पक्षीय फैसला (5-0) से चीनी मुक्केबाज़ डैक्सिंग चेन के पक्ष में सुनाया।

तीसरे राउंड में भी ईरान के एहसान रूज़वहानी कुछ खास नहीं कर पाए। चेन ने पिछले दो राउंड के जैसे ही मानसिक तौर पर शानदार प्रदर्शन प्रस्तुत किया। प्रतिद्वंदी के करीब आते ही क्लिंच और दूर जाते ही कुछ लेफ्ट और राइट काउंटर पंच कर रूज़वहानी की पस्त कर दिया। जज़ो ने एक पक्षीय निर्णय (5-0) (30-27, 30-27, 30-27, 30-27, 30-27) से चीनी मुक्केबाज़ चेन के हक में सुनाया।

22:28 - मुंतधर अल-फरोतोसी (इराक) बनाम युइतो मोरीवाकी (जापान) - मेंस मिडिलवेट (69-75 किग्रा)

यह मुकाबला मेंस मिडिलवेट श्रेणी में इराक के मुंतधर अल-फरोतोसी और जापान के युइतो मोरीवाकी के बीच शुरू हुआ। दोनों ही मुक्केबाज़ एक-दूसरे पर दबाव बनाने के लिए अच्छी शुरुआत की। दूसरे राउंड में जापान के मुक्केबाज़ अल-फरतोसी ने कुछ स्ट्रेट पंचों के शानदार कॉम्बिनेशन लगाए। जिसके बाद जजों ने Unanimous (एक पक्षीय) निर्णय (5-0) से जापान के मुक्केबाज़ के पक्ष में सुनाया।

तीसरे राउंड में मोरीवाकी का दबदबा फिर कायम रहा। मुंतधर ने कुछ अच्छे पंच लगाने की कोशिश जरूर की, लेकिन वह नाकामयाब रहे। जजों ने अंततः Unanimous (एक पक्षीय) निर्णय (5-0) (30-27, 30-27, 30-27, 29-28, 30-27) से जापान के मुक्केबाज़ मोरीवाकी के पक्ष में सुनाया। अब वह अगले राउंड में ईरान के मोसावी से भिड़ेंगे।

मेंस मिडिलवेट, 3 मार्च

22:12 - तंग्लतिहान तुहेटा इरबिके (चीन) बनाम महमूद हसन (पाकिस्तान) - मेंस मिडिलवेट (69-75 किग्रा)

यह मुकाबला चीन के तुहेटा इरबिके और पाकिस्तान के महमूद हसन के बीच शुरू हुआ। पहले राउंड में चीन के मुक्केबाज़ ने पाकिसानी मुक्केबाज़ को काफी परेशान किया। जिसके परिणामस्वरूप जजों ने Unanimous (एक पक्षीय) निर्णय (5-0) से चीनी मुक्केबाज़ के पक्ष में सुनाया।

दूसरा राउंड में भी चीनी मुक्केबाज़ तुहेटा पाकिस्तानी मुक्केबाज़ पर हावी रहे। तुहेटा ने अपनी लम्बाई का फायदा उठाते हुए एक शानदार अपरकट और राइट व लेफ्ट पंचों के कई शानदार कॉम्बिनेशन लगाए। स्ट्रेट पंचों ने पाकिस्तान के मुक्केबाज़ को पस्त कर दिया। जजों इस तीन मिनट के राउंड के खत्म होने के बाद Unanimous (एक पक्षीय) निर्णय (5-0) से फिर तुहेटा के पक्ष में सुनाया।

तीसरे राउंड में पाकिस्तान के मुक्केबाज़ ने अपना गार्ड सही करते हुए दोनों हाथों का इस्तेमाल किया। लेकिन उनके बार-बार प्रतिद्वंदी को पकड़ने पर रेफरी ने एक-दूसरे से दूर रहते हुए मुकाबला लड़ने की हिदायत दी। जिसके बाद एक बार फिर चीनी मुक्केबाज़ ने कुछ स्ट्रेट पंचों से महमूद हसन को पस्त कर दिया। जजों ने एक पक्षीय निर्णय (5-0) (30-24, 30-24, 30-24, 30-24, 30-25) से तुहेटा के पक्ष में सुनाया।

मिडिलवेट किम जिंजिया रहे एक और दक्षिण कोरिया के विजेता

21:56 - जिंजिया किम (दक्षिण कोरिया) बनाम बख्तियार मिर्ज़ोमुखमद (तज़ाकिस्तान) - मेंस मिडिलवेट (69-75 किग्रा)

यह मुकाबला दक्षिण कोरिया के जिंजिया किम और तज़ाकिस्तान के बख्तियार मिर्ज़ोमुखमद के बीच में शुरु हुआ। पहले राउंड में दक्षिण कोरिया के मुक्केबाज़ ने शानदार प्रदर्शन किया और जजों ने स्प्लिट निर्णय (4-1) से दक्षिण कोरिया के मुक्केबाज़ के पक्ष में रहा। 

दूसरे राउंड में भी किम अपने प्रतिद्वंदी पर हावी रहे और तज़ाकिस्तान के बख्तियार को कोई मौका नहीं दिया। जज़ो ने इस राउंड को भी स्प्लिट निर्णय (4-1) के साथ जिंजिया किम के पक्ष में सुनाया।

तीसरे राउंड में दोनों के बीच टक्कर का मुकाबला रहा। एक बार फिर पहले राउंड की तरह बख्तियार की गम शील्ड स्ट्रेट पंच के कारण जमीन पर गिर गई। मुकाबला फिर शुरू ही हुआ, लेकिन तभी समय समाप्त हो गया। जजों ने स्प्लिट निर्णय (4-1) (30-27, 28-29, 30-27, 30-27, 29-28) से दक्षिण कोरिया के मुक्केबाज़ के पक्ष में सुनाया।

21:40 - हिशम एलीसरीन (जॉर्डन) बनाम फनत काखरामोनोव (उज्बेकिस्तान) - मेंस मिडिलवेट (69-75 किग्रा)

शाम के सत्र का पांचवां मुकाबला जॉर्डन के हिशम एलीसरीन और उज्बेकिस्तान के फनत काखरामोनोव के बीच शुरू हुआ। पहले राउंड में उज्बेकिस्तान के मुक्केबाज़ ने मुकाबले की शुरुआत में ही एक शानदार अपरकट मारा। आखिरी के एक मिनट में जॉर्डन के मुक्केबाज़ ने वापसी की पूरी कोशिश की, लेकिन नाकामयाब रहे। जज़ों ने Unanimous (एक पक्षीय) (5-0) निर्णय फनत काखरामोनोव के हक में सुनाया।

जॉर्डन के मुक्केबाज़ के लिए दर्शक दीर्घा में बैठे प्रशंसकों ने जमकर उत्साहवर्धन किया। हालांकि उज्बेकिस्तान के मुक्केबाज़ ने हिशम एलीसरीन को कोई मौका नहीं दिया और उनपर पूरी तरह से हावी रहे। जज़ो ने इस बार भी Unanimous (एक पक्षीय) (5-0) निर्णय उज्बेकिस्तान के मुक्केबाज़ के पक्ष में सुनाया।

हिशम एलीसरीन ने तीसरे राउंड में भी वापसी करनी चाही, लेकिन फनत काखरामोनोव ने शानदार पंच लगाए। नतीजतन जज़ो ने Unanimous (एक पक्षीय) निर्णय (30-27, 30-27, 29-28, 30-25, 30-27) से उज्बेकिस्तान के मुक्केबाज़ के पक्ष में सुनाया।

थाईलैंड के लाइटवेट श्रेणी के अतीचाई फोम्साप ने दूसरे राउंड में पहुंचने के लिए अद्भुत खेल प्रदर्शन दिखाया
मेंस लाइटवेट, 3 मार्च

21:22 - जोन डावले (फ़िजी) बनाम अतीचाई फोम्साप (थाईलैंड) - मेंस लाइटवेट (57-63 किग्रा)

चौथे मुकाबले की शुरुआत फिजी के जोन डावले और थाईलैंड के अतीचाई फोम्साप के बीच शुरू हुआ। पहले राउंड में थाईलैंड के मुक्केबाज़ ने धीमी शुरुआत की लेकिन फिर कुछ ही देर में स्ट्रेट पंच और अपरकट लगाकर मुकाबले पर हावी हो गए। जजों ने भी निर्णय Unanimous (एक पक्षीय) (5-0) से थाईलैंड के मुक्केबाज़ के पक्ष में सुनाया।

दूसरे राउंड में फिजी के मुक्केबाज़ ने वापसी की कोशिश जरूर की, लेकिन वह कुछ खास नहीं कर पाए। फोम्साप लगातार उनके स्ट्रेट पंचों की वजह से अपने प्रतिद्वंदी पर हावी नज़र आए। इस राउंड में भी जजों ने Unanimous (एक पक्षीय) (5-0) से फोप्साप के पक्ष में सुनाया। 

तीसरे राउंड में थाईलैंड के मुक्केबाज़ ने फिर जोन डावले पर लगातार चार-पांच मुक्कों को जड़ा और रेफरी ने मुकाबला रोकते हुए 8 नंबर तक काउंट किया। इसके बाद मुकाबला एक बार फिर शुरू हुआ। थाई मुक्केबाज़ ने अपने प्रतिद्वंदी को वापसी का कोई मौका नहीं दिया। 

अंततः जजों ने Unanimous (एक पक्षीय) (30-26, 30-24, 30-27, 30-25, 30-27) निर्णय थाईलैंड के अतीचाई फोम्साप के पक्ष में सुनाया। 

थाईलैंड के इस 19 वर्षीय मुक्केबाज़ का अगला मुकाबला ऑस्ट्रेलिया के हैरिसन गासाइट से 5 मार्च को शाम के सत्र में होगा, जिन्हें पहले राउंड में बाई मिला।

21:07 - जॉन यूएमई (पापुआ न्यू गिनी) बनाम नासीम सादिक (सऊदी अरब) - मेंस लाइटवेट (57-63 किग्रा)

तीसरे मुक़ाबले के पहले राउंड का मुक़ाबला जबरदस्त पंचों के साथ शुरू हुआ। नासीम सादिक कद काठी में थोड़े लम्बे होने की वजह से कुछ मजबूत पंच मारने की कोशिश करते नज़र आए। लेकिन जॉन यूएमई के मजबूत पंचों ने मेंस लाइटवेट के इस मुकाबले में रोमांच को बढ़ा दिया। तीन मिनल का पहला राउंड समाप्त होने के साथ ही जजों ने Unanimous (एक पक्षीय) निर्णय जॉन यूमें के पक्ष में सुनाया।

दूसरे राउंड के शुरू होते ही जॉन यूमे फिर आक्रामक नज़र आए और मौका मिलते ही उन्होंने एक जोरदार अपरकट लगाया। उनके राइट और लेफ्ट पंचो के कॉम्बिनेशन ने साऊदी अरब के मुक्केबाज़ सादिक को परेशान कर दिया। यह राउंड भी यूमे के पक्ष में रहा।

तीसरे राउंड में सादिक ने वापसी की कोशिश जरूर करनी चाहिए, लेकिन उनके पंच सीधे यूमे पर नहीं लग पाए। तभी सादिक अचानक यूमे के मुक्के से अपना बैलेंस खो दिए और रेफरी ने मैच बीच में ही रोक दिया।

अंततः जजों ने (RSC - Referee Stopped Contest) रेफरी स्टॉप्ड कॉन्टेस्ट के तहत नतीज़ा जॉन यूमे के पक्ष में सुनाया।

दक्षिण कोरिया के फेदरवेट श्रेणी के मुक्केबाज़ ने अपने प्रतिद्वंदी को किया पस्त

20:49 - योंग चांग (चीन) बनाम संगमयोंग हैम (दक्षिण कोरिया) - मेंस फेदरवेट (52-57 किग्रा)

दूसरे मुक़ाबले का पहला राउंड चीन के योंग चांग और दक्षिण कोरिया के संगमयोंग हैम के बीच मेंस फेदरवेट कैटेगरी में शुरू हुआ। जज़ों ने स्प्लिट निर्णय (4-1) से दक्षिण कोरिया के पक्ष में सुनाया। दूसरे राउंड को चीन के चांग योंग ने 3-2 के स्प्लिट निर्णय से जीता।

दो राउंड 1-1 की बराबरी से होने के बाद तीसरे राउंड में दोनों ही मुक्केबाज़ एक-दूसरे से आगे निकलने के लिए तेज़ मुक्के लगाने की पूरी कोशिश करते हुए नज़र आए। आखिरी 40 सेकेंड से पहले हैम ने एक शानदार अपरकट लगाया। तभी योंग चांग को हल्की सी चोट लगी। जिसके बाद थोड़ी देर का विराम लेते हुए दोनों ही मुक्केबाज़ों ने फिर एक-दूसरे पर बढ़त हासिल करने की कोशिश की।

अंततः जजों ने निर्णय (29-28, 29-28, 29-28, 29-28, 30-27) से दक्षिण कोरिया के सैमयोंग हैम के पक्ष में सुनाया।

मेंस फेदरवेट, 3 मार्च
फेदरवेट श्रेणी में फिलिपींस के इयान बॉटिस्टा ने अपने जापानी प्रतिद्वंदी को हिलाकर रख दिया

फेदरवेट कैटेगरी के तीसरे राउंड में दोनों ही मुक्केबाज़ जीत हासिल करने के लिए लगातार जोश में एक-दूसरे पर पंच जड़ने की कोशिन करते हुए नज़र आए। समय समाप्त होने के साथ ही जजों ने मुकाबले का स्प्लिट निर्णय (29-28, 28-29, 30-27, 28-29, 29-28) देते हुए फिलिपींस के बॉटिस्टा के पक्ष में सुनाया।

वह अगले राउंड में तीसरी वरीयता प्राप्त थाई के चातचाई-डेका बुत्दी से होगा।

20:33 - इयान बॉटिस्टा (फिलीपींस) बनाम हयातो त्सुसुमी (जापान) - मेंस फेदरवेट (52-57 किग्रा)

पहला मुकाबला फिलिपींस के इयान बॉटिस्टा और जापान के हयातो त्सुसुमी के बीच चल रहा है। पहला राउंड स्प्लिट निर्णय से जापाने के त्सुसुमी के पक्ष में रहा। दूसरे राउंड में कई अपरकट देखने को मिल रहे हैं। दोनों ही मुक्केबाज़ अंक हासिल करने के लिए मशक्कत करते नज़र आए। जज़ों ने इस राउंड का स्प्लिट निर्णय (4-1 ) से इयान बॉटिस्टा के पक्ष में दिया।

20:30 - क्वालिफ़िकेशन के पहले दिन के शाम के सत्र के मुक़ाबले शुरू हो चुके हैं। हमसे लगातार जुड़े रहिए... कुल ग्यारह रोमांचक मुक़ाबलों की हर अपडेट हम आपको देने के लिए पूरी तरह तैयार हैं।

न्यूज़ीलैंड के लाइट-हेवीवेट जेरोम पाम्पेलोन ने पहले राउंड के मुक़ाबले में हासिल की जीत

भारत के मिडिलवेट आशीष कुमार: “मैं पहले राउंड में हार गया, लेकिन अपने कोचों के दिए गए निर्देशों की वजह से दूसरा और तीसरा राउंड में वापसी करने में सफल रहा। मैंने अपनी योजना बदलते हुए अटैक करना शुरू किया और मुक़ाबला जीत लिया।”

17:10 जेरोम पाम्पेलोन (न्यूजीलैंड) बनाम रेन यूम्यूरा (जापान) - मेंस लाइट हेवी (75-81 किग्रा)

यह दिन के सत्र का आखिरी 11वां मुक़ाबला है। पहले राउंड में जेरोम पाम्पेलोन ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया। लेकिन दूसरे राउंट में यूम्यूरा ने वापसी करते हुए कुछ शानदार पंच लगाए, लेकिन पाप्पेलोन ने भी कुछ पंच लगाने की कोशिश की। जज़ो ने दूसरे राउंड का निर्णय स्प्लिट निर्णय के साथ यूम्यूरा के पक्ष में सुनाया। तीसरे राउंड में न्यूज़ीलैंड के बॉक्सर ने कुछ स्ट्रेट पंच मारे। चारों तरफ दर्शकों का रोमांच बढ़ता हुआ नज़र आ रहा है। मुक़ाबला काफी रोमांचक हो चुका है। लेकिन क्लियर पंच नहीं दिखे। अंततः जजों ने निर्णय स्प्लिट डिसीजन के साथ जेरोम पाम्पेलोन के पक्ष में सुनाया।

पाम्पेलोन अगले राउंड में शीर्ष वरीयता प्राप्त कज़ाकिस्तान के बेकसाद नूरदौलेतोव से मुकाबला करेंगे।

भारतीय मिडिलवेट आशीष कुमार ने दूसरे राउंड में जगह पक्की करने के बाद कोच को दिया धन्यवाद

तीसरा राउंड

इस राउंड में दोनों ही मुक्केबाज़ बराबरी पर होने की वजह से एक-दूसरे पर हावी होने की कोशिश करते हुए नज़र आए। चीनी ताइपे के कान ने एक शानदार अपर कट मारा, लेकिन दोनों ही मुक्केबाज़ थके हुए नज़र आए। देखने वाली बात है कि इस करीबी मुकाबले में नतीज़ा किसके पक्ष में रहेगा। मुकाबला काफी करीबी रहा तो नतीजे काफी रोचक होंगे।

जजों ने अंततः नतीजा Unanimous (एक पक्षीय) (29-28, 30-27, 29-28, 30-27, 29-27) आशीष के पक्ष में सुनाया। अगले राउंड में भारत का यह 75 किग्रा भारवर्ग का मुक्केबाज़ किर्गिस्तान के ओमुर्बेक बेकज़िगित ऊलू से भिड़ेगा।

16:52 - चिया-वी कान (चीनी ताइपे) बनाम कुमार आशीष (भारत) - मेंस मिडिलवेट (69-75 किग्रा)

हिमाचल प्रदेश के युवा मुक्केबाज़ कुमार आशीष का मिडिलवेट में चीनी ताइपे चिया-वी कान से मुकाबला शुरू हो गया है।

पहला राउंड

पहले राउंड में दोनों ही मुक्केबाज़ अपना बचाव करते हुए एक-दूसरे पर कुछ अच्छे मुक्के बरसाते हुए नज़र आए। चिया-वी कान ने कुछ स्ट्रेट मुक्के जड़े जो जजों की नज़र में आए। नतीजतन जजों ने स्प्लिट निर्णय सुनाते हुए चिया-वी कान के हक में 3-2 से सुनाया।

दूसरा राउंड

इस राउंड में कुमार आशीष ने एक शानदार अपर कट लगाया और अपने प्रतिद्वंदी को थका दिया। इस मुकाबले में दोनों ही मुक्केबाज़ आक्रामक रहे और मुकाबला बेहद रोमांचक रहा। कुमार ने अपनी लम्बाई का फायदा उठाते हुए स्ट्रेट जैब्स लगाए। अंततः जजो ने Unanimous (एक पक्षीय) (4-1) से निर्णय कुमार आशीष के पक्ष में सुनाया।

ऑस्ट्रेलिया के मिडिलवेट रुस्टन किर्रा ने अपने देश के लिए जीता पहला मुकाबला

16:44 मैखेल मुस्किता (इंडोनेशिया) बनाम जॉर्ज तनोआ (अमेरिकी समोआ) - मेंस मिडिल (69-75 किग्रा)

अगला मुकाबला मिडिलवेट में इंडोनेशिया के 19 वर्षीय मैखेल मुस्किता और अमेरिकी समोआ के जॉर्ज तनोआ के बीच हुआ। तीन राउंड के रोमांचक मुकाबले के बाज जजों ने unanimous (एक पक्षीय) निर्णय इंडोनेशिया के मुस्किता के पक्ष में सुनाया। अब वह अगले दौर में न्यूज़ीलैंड के रायन स्केफ से भिड़ेंगे।

सीरिया के मिडिलवेट श्रेणी के मुक्केबाज़ अहमद घोषून ने तीनों ही राउंड में शानदार प्रदर्शन किया

16:33 - अहमद घोषून (सीरिया) बनाम रुमेश वानिनी अराचिज (श्रीलंका) - मेंस मिडिल (69-75 किग्रा)

सीरिया के अहमद घोषून और श्रीलंका के रूमेश वानिनी अराचिज के बीच मिडिलवेट श्रेणी में मुकाबला हुआ। पहले राउंड में सीरिया ने स्प्लिट नतीजों (4-1) में बढ़त बनाई। दूसरे राउंड में भी इस सीरियाई मुक्केबाज़ ने कुछ (10-8) के स्कोर अपने हक में हासिल किए। अंतिम राउंड में घोषून ने unanimous (एक पक्षीय) निर्णय के साथ जीत हासिल की। अब घोषून अगले राउंड में मंगोलिया के ब्याम्बा-एर्डीन ओट्गोनबातार से मुकाबला करेंगे।

ऑस्ट्रेलिया के मिडिलवेट रुष्टन किर्रा ने कहा, “जब आप नॉकआउट करने की कोशिश करते हैं तो आप नहीं कर पाते हैं। हम एक अच्छे गेम प्लान के साथ आगे बढ़ रहे हैं, जो सही काम कर रहा है। मैं [टॉप सीड यूमिर मार्सिअल] से होने वाले मुकाबले का इंतजार कर रहा हूं, जो इस समय दुनिया में सबसे बेहतर है।

16:22 - कांग लिओंग ताई (हांगकांग) बनाम किर्रा रुस्टन (ऑस्ट्रेलिया) - मेंस मिडिल (69-75 किग्रा)

अगला मुकाबला मिडिलवेट में हांगकांग के कांग लिओंग ताई और ऑस्ट्रेलिया के किर्रा रुस्टन के बीच हुआ। रुस्टन एक लम्बे मुक्केबाज़ हैं... जिसका उन्हें मुक़ाबले में फायदा भी मिलता हुआ नज़र आया। यह मुक़ाबला अभी अपने दूसरे राउंड में पहुंचा ही था कि जजों ने एक बार फिर स्टॉपेज के साथ मुकाबले को समाप्त कर दिया। कांग लिओंग ताई अपनी दिशा से भटक गए और जजों ने निर्णय ऑस्ट्रेलिया के रुस्टन किर्रा के पक्ष में सुनाया।

चीन के लाइटवेट श्रेणी में जून शान पहले राउंड में अपने प्रतिद्वंदी पर हावी रहे

16:08 - हैदर वहीद (ईराक) बनाम जून शान (चीन) - मेंस लाइटवेट (57-63 किग्रा)

रिंग में अगला मुकाबला लाइटवेट में वहीद हैदर और चीन के जून शान के बीच हुआ। शान कद में भले ही छोटे हैं, लेकिन उनके मुक्के किसी भी प्रतिद्वंदी को परेशान कर सकते हैं। पहले राउंड में मुकाबला कांटे का रहा और ईराक के वहीद ने लीड किया। पहले राउंड के तीन 10-8 के निर्णय के साथ नतीजा हैदर वहीद के पक्ष में रहा। दूसरे राउंड में भी हैदर आक्रामक रहे।

तभी मुकाबले को जजों ने बीच में ही रोक दिया। यह इस टूर्नामेंट का पहला स्टॉपेज रहा। जिसके साथ ही जजों ने निर्णय चीन के जून शान के पक्ष में सुनाया। अगले राउंड में वह कज़ाकिस्तान के चौथी वरीयता प्राप्त ज़ाकिर साफियूलिन के साथ होगा।

नेपाल के मुक्केबाज़ सानिल शाही अपने पहले राउंड की जीत पर बोले, “जब आप अपना गेम प्लान बदलते हैं तो विरोधी भ्रमित हो जाता है। इसलिए मैंने अपना गेम प्लान बदल दिया और नतीजतन मुझे जीत हासिल हुई।"

15:55 - आर्गेन काद्येर्बेक उलू (किर्गिस्तान) बनाम सानिल शाही (नेपाल) - मेंस लाइट (57-63 किग्रा)

किर्गिस्तान के उलू ने पहला राउंड 3-2 बहुत ही करीबी अंतर के साथ अपने नाम किया। नेपाल के शाही ने दूसरे राउंड में शानदार वापसी की और कुछ शानदार मुक्के जड़े। उन्होंने उलू पर दाईं और बाईं ओर मुंह पर कई मुक्कों को जड़ा।

मुकाबला जैसे-जैसे आगे बढ़ा, यह काफी दिलचस्प होता गया। शाही अपने आपको बचाते हुए उलू पर फिर हावी हुए। जजों ने दूसरे राउंड में unanimous निर्णय सुनाते हुए 10-9 से शाही को विजेता करार दिया।

फाइनल राउंड में शाही आक्रामक और बेहतरीन नज़र आए। उन्होंने इस बार अच्छा स्टैमिना और अपने खेल में वरीयता को दिखाते हुए कुछ शानदार मुक्के जड़े। जजों ने unanimous (एक पक्षीय) निर्णय सुनाते हुए फैसला शाही के पक्ष में सुनाया। सानिल शाही अब अगले राउंड में तज़ाकिस्तान के बाखोदुर उस्मानोव से लड़ेंगे।

ईरान के डेनियल शाहबख्श ने फेदरवेट श्रेणी में किया शानदार प्रदर्शन 

15:45 - डेनियल शाहबख्श (ईरान) बनाम पो-ई-चेन (चीनी ताइपे) – मेंस फेदर (52-57 किग्रा)

यह मुक़ाबला ईरान बनाम चीनी ताइपे के बीच हुआ, जहां डेनियल शाहबख्श बनाम पो-ई-चेन एक-दूसरे से भिड़े। शुरुआत में शाहबख्श चेन पर हावी रहे और चेन ने तीसरे दौर में बख्श के दाहिने ओर हिट किया। आपको बता दें कि शाहबख्श, जो 19 वर्ष के हैं, वह काफी चतुर बॉक्सर हैं। उन्होंने सेकेंड राउंड में अपने प्रतिद्वंदी के लिए काफी मुश्किल पैदा की।

चेन पूरी तरह से पस्त थे, लेकिन वह अपने प्रतिद्वंदी के सामने डटे रहे। इसके साथ ही उन्होंने एक बेहतरीन शॉट को सेलेक्ट किया, जहां उन्होंने अपने प्रतिद्वंदी को दूर धकेल दिया और जजो ने शाहबख्श के लिए अपना निर्णय दिया। शाहबख्श को जजों ने विजेता घोषित किया। अब वह दूसरे राउंड में पापुआ न्यू गिनी के जेमी चांग के साथ मुकाबला करेंगे।

भारत के गौरव सोलंकी ने जीता पुरुषों का पहला मुक़ाबला 

15:34: पुरुषों का पहला मुक़ाबला (एसेनबेक उलु बनाम गौरव सोलंकी)

महिलाओं के दो मुक़ाबलों के बाद अब पुरुषों के मुकाबले की शुरुआत। किर्गिस्तान के अकीलबेक एसेनबेक उलु और भारत के गौरव सोलंकी रिंग में हैं।

पहला राउंड

ओपनिंग राउंड में भारत के गौरव सोलंकी पूरी तरह से आक्रामक दिखाई दे रहे हैं। एसेनबेक ने स्ट्रेट लाइन में आगे बढ़े, लेकिन सोलंकी ने अपनी पूरी क्षमता के साथ अपने प्रतिद्वंदी को पीछे धकेल दिया। तीन मिनट का पहला राउंड खत्म होते ही जजों ने Unanimous (एक पक्षीय) निर्णय 10-9 दिया। जिसके साथ मुक़ाबला बेहद रोमांचक हो गया।

दूसरा राउंड

गौरव सोलंकी दूसरे राउंड में भी अपने प्रतिद्वंदी पर हावी रहे और अपनी प्रतिभा से सभी का दिल जीत लिया। इस राउंड में भी एसेनबेक ने वापसी की पूरी कोशिश की, लेकिन सोलंकी के आक्रामक अंदाज़ में पड़ रहे मुक्कों का उनके पास कोई जवाब नहीं था। राउंड खत्म होते जजों ने निर्णय सोलंकी के पक्ष में सुनाया और वह Unanimous (एक पक्षिय) निर्णय 10-9 के साथ दूसरा राउंड भी जीत गए।

तीसरा राउंड

इस राउंड में गौरव सोलंकी ने अपने आपको बचाते हुए एसेनबेक पर शानदार और साफ मुक्के बरसाए। उन्होंने ऐसा कोई मौका नहीं दिया कि निर्णायक दौर में उनका प्रतिद्वंदी उनपर हावी हो सके। सोलंकी ने इस क्वालिफायर टूर्नामेंट के अपने पहले मुकाबले से जाहिर कर दिया कि उनके आगे का इरादा क्या है। राउंड खत्म होने के साथ जजों ने निर्णय Unanimous (एक पक्षीय) 5-0 (30-27, 30-27, 30-26, 30-27, 30-27) से गौरव सोलंकी के पक्ष में सुनाया।

सोलंकी का अगले राउंड में मुकाबला उज़बेकिस्तान के मिराज़िज़बेक मिर्ज़ाखालिलोव से होगा। उज़बेक के इस वर्ल्ड चैंपियन मुक्केबाज़ को पहले राउंड में बाई मिला है। इसिलए वह सीधे दूसरे राउंड में मुकाबला करेंगे।

उज़्बेकिस्तान की पहली विजेता - योद्गोरी मिर्ज़ाएवा
वूमेंस फेदरवेट, 3 मार्च

15:21 - योद्गोरी मिर्ज़ाएवाा (उज़्बेकिस्तान) बनाम जेनिफर चैंग (माइक्रोनेशिया)

रियो में फ्लाइवेट में मुकाबला करने वाली मिर्ज़ाएवा पहले राउंड में चैंग पर भारी रहीं और उन्होंने दो तगड़े जैब्स मुक्के मारे। वह लगातार चैंग पर भारी नज़र आईं। अपने प्रतिद्वंदी को खुदपर हावी होने का कोई भी मौका न देते हुए उन्होंने तीनों राउंड शानदार प्रदर्शन किया। जजों ने unanimous (एक पक्षीय) निर्णय सुनाते हुए मिर्ज़ाएवा को विजेता करार दिया।

अब योद्गोरी मिर्ज़ाएवा अगले राउंड में दूसरी वरीयता प्राप्त यू-टिंग लिन से बुधवार को मुकाबला करेंगी।

श्रीलंका की क्रिस्मी लंकापुरायल्गे बनीं इवेंट की पहली विजेता 

15:10 - क्रिस्मी लंकापुरायल्गे (श्रीलंका) ने जीता पहला मुक़ाबला

चार बार श्रीलंका चैंपियन लंकापुरायल्गे का पहला मुक़ाबला इंडोनेशिया की सिल्पा रातू से शुरू हुआ। लंकापुरायल्गे शुरुआत से ही पूरे मुक़ाबले के दौरान आक्रामक नज़र आईं। पहले दो राउंड में जजों के स्प्लिट/बंटे हुए निर्णय 3-2 के बाद तीसरे राउंड का मुक़ाबला और भी अधिक रोमांचक हो गया। रातू ने फिर वापसी की पूरी कोशिश की, लेकिन लंकापुरायल्गे जज़ों के 4-1 के स्प्लिट निर्णय से मुकाबला जीत गईं।

मेरे मुताबिक भी निर्णय उन्हीं के पक्ष में जाना था। पहले मुक़ाबले के साथ अच्छी शुरुआत हुई हैं। अब कल श्रीलंका की इस मुक्केबाज़ का मुक़ाबला फेदरवेट की दूसरी वरीयता प्राप्त वर्ल्ड चैंपियन नेस्थी पेटिसियो से होगा।

14:21 – कुछ जरूरी नियम

ओलंपिक के जैसे ही पुरुष मुक्केबाज़ इस क्वालिफिकेशन टूर्नामेंट में भी तीन-तीन मिनट के कुल 3 राउंड में बॉक्सिंग करेंगे। रिंग के चारों ओर पांच जज हैं, जो विजेता को तय करने के लिए ‘10-point must system’ (जीतने को वाले मुक्केबाज़ को 10 प्वाइंट मिलना जरूरी होगा) का इस्तेमाल करेंगे - दूसरे शब्दों में कहें तो प्रत्येक राउंड में अधिक प्रभावी (जीत हासिल करने वाला) बॉक्सर के लिए 10-9 या 10-8 या 10-7 का स्कोर होता है, यह स्कोर इसपर निर्भर करता है कि एक मुक्केबाज़ अपने प्रतिद्वंदी मुक्केबाज़ पर कैसे प्रभावी रहता है।

मुक़ाबले का निर्णय या तो unanimous (एक पक्षीय) (5-0), split (बंटा हुआ) (3-2), या draw (ड्रा) (2-2-1, 2-1-2, या 1-1-3) होगा।

यहां देखने को मिलेंगे सभी रोमांचक मुक़ाबले...

14:05 - मुक़ाबलों के लिए तैयारियां लगभग पूरी

पहले सत्र में 11 मुकाबले देखने को मिलेंगे, जिसमें दो महिलाओं के फेदरवेट (57 किग्रा) मैचों के साथ शुरुआत होगी। रिंग में पहले श्रीलंका के क्रिस्मी लंकापुरायल्गे और इंडोनेशिया के सिल्पा रातू होंगी। इसमें जीतने वाले मुक्केबाज़ का मुक़ाबला दूसरे राउंड में फिलीपींस के शीर्ष वरीयता प्राप्त नेस्थी पेटेसियो से होगा, जो कि विश्व विजेता हैं।

प्रिंस हमज़ाह हॉल, एशिया/ओशिनिया क्वालिफायर के लिए आयोजन स्थल

जॉर्डन के अम्मान के प्रिंस हमज़ाह हॉल में एशिया/ओशिनिया ओलंपिक बॉक्सिंग क्वालिफिकेशन (Asia/ Oceania Olympic Boxing Qualification) आज से लगातार 9 दिन तक चलेगा। जहां सभी मुक्केबाज़ ग्रीष्मकालीन ओलंपिक खेलों में अपनी जगह पक्की करने के लिए 63 बर्थ/स्थानों (41 पुरुषों के लिए और 22 महिलाओं के लिए) में मुक़ाबला करेंगे।

पुरुष 8 भार वर्गों (फ्लाईवेट (52 किग्रा) से लेकर सुपर-हैवीवेट (+91 किग्रा) तक) में प्रतिस्पर्धा करेंगे, जबकि महिलाएं 5 भार वर्गों (फ्लाईवेट (51 किग्रा) से लेकर मिडिलवेट (75 किग्रा) तक) में मुकाबला करेंगी।

हमें पहले दिन कुल 21 मुक़ाबले देखने को मिलेंगे – पहले राउंड में पुरुषों और महिलाओं के फेदरवेट (57 किग्रा), साथ ही पुरुषों के लाइटवेट (63 किग्रा), मिडलवेट (75 किग्रा) और लाइट-हैवीवेट (81 किग्रा) के मैच देखने को मिलेंगे।

आप पहले दिन के मुकाबलों का पूरा शेड्यूल नीचे देख सकते हैं, साथ ही यह भी जाने सकते हैं कि मुकाबले कब और कहां देखें? इसके अलावा सभी एक्शन, हाइलाइट्स और लाइव शो हमारे ओलंपिक चैनल पर यहीं देख सकते हैं।.

अम्मान में बॉक्सर कैसे करेंगे क्वालिफाई:

जॉर्डन में टोक्यो ओलंपिक के लिए कुछ 63 बर्थ/स्थान हैं - पुरुषों के लिए 41 और महिलाओं के लिए 22

पुरुषों की लाइट-हेवीवेट और हेवीवेट श्रेणियों और महिलाओं के फेदरवेट से लेकर मिडिलवेट श्रेणियों में, सेमीफाइनल तक पहुंचने वाले सभी मुक्केबाज़ टोक्यो के लिए क्वालिफाई कर जाएंगे। पुरुषों के वेल्टरवेट से लेकर लाइट-हेवीवेट श्रेणियों में एक अतिरिक्त स्थान के लिए बॉक्स-ऑफ़ होगा। पुरुषों के फ्लाईवेट से लेकर लाइटवेट कैटेगरी और महिलाओं के फ्लाईवेट वर्ग में दो अतिरिक्त स्थानों के लिए बॉक्स-ऑफ होंगे।

मुक्केबाज़ों के पास मई में पेरिस में होने वाले वर्ल्ड क्वालिफाइंग इवेंट में टोक्यो 2020 के लिए क्वालिफाई करने का एक और मौका होगा।

events

20 Feb - 15 Mar

टोक्यो 2020 ओलंपिक के क्वालिफिकेशन टूर्नामेंट्स

डाकार, लंदन, अम्मान, ब्यूनस आयर्स, पेरिस

पहले दिन का कार्यक्रम - मंगलवार, 3 मार्च 2020

सुबह का सत्र, 14:30 (भारतीय समयानुसार)

1) वूमेंस फेदर (54-57 किग्रा)

क्रिस्मी लंकापुरायल्गे (श्रीलंका) बनाम सिल्पा रातू (इंडोनेशिया)

2) वूमेंस फेदर (54-57 किग्रा)

योद्गोरोय मिर्ज़ाएवा (उज़्बेकिस्तान) बनाम जेनिफर चैंग (माइक्रोनेशिया)

3) मेंस फेदर (52-57 किग्रा)

अकीलबेक एसेनबेक ऊलु (किर्गिस्तान) बनाम गौरव सोलंकी (भारत)

4) मेंस फेदर (52-57 किग्रा)

दानियाल शाहबख्श (ईरान) बनाम पो-ई-चेन (चीनी ताइपे)

5) मेंस लाइट (57-63 किग्रा)

आर्गेन काद्यर्बेक (किर्गिस्तान) बनाम सानिल शाही (नेपाल)

6) मेंस लाइट (57-63 किग्रा)

हैदर करवई (ईराक) बनाम जून शाह (चीन)

7) मेंस मिडिल (69-75 किग्रा)

लियोंग ताई कान (हांगकांग) बनाम किर्रा रुस्टन (ऑस्ट्रेलिया)

8) मेंस मिडिल (69-75 किग्रा)

अहमद घोषून (सीरिया) बनाम रुमेश वानिनी अराचिज (श्रीलंका)

9) मेंस मिडिल (69-75 किग्रा)

मैखेल मुस्किता (इंडोनेशिया) बनाम जॉर्ज तनोआ (अमेरिकी समोआ)

10) मेंस मिडिल (69-75 किग्रा)

चिया-वी कान (चीनी ताइपे) बनाम कुमार आशीष (भारत)

11) मेंस लाइट हेवी (75-81 किग्रा)

जेरोम पेम्पेलोन (न्यूजीलैंड) बनाम रेन यूम्यूरा (जापान)

शाम का सत्र, 21:30 (भारतीय समयानुसार)

12) मेंस फेदर (52-57 किग्रा)

इयान बॉटिस्टा (फिलीपींस) बनाम हयातो सुसुमी (जापान)

13) मेंस फेदर (52-57 किग्रा)

योंग चांग (चीन) बनाम संगमयोंग हैम (रिपब्लिक ऑफ कोरिया)

14) मेंस लाइट (57-63 किग्रा)

जॉन यूएमई (पापुआ न्यू गिनी) बनाम नासीम सादिक सऊदी अरब)

15) मेंस लाइट (57-63 किग्रा)

जोन डावले (फ़िजी) बनाम अतीचाई फोम्साप (थाईलैंड)

16) मेंस मिडिल (69-75 किग्रा)

हिशम एलीसरीन (जॉर्डन) बनाम फनत काखरामोन (उजबेकिस्तान)

17) मेंस मिडिल (69-75 किग्रा)

जिंजिया किम (रिपब्लिक ऑफ कोरिया) बनाम बख्तियार मिर्ज़ोमुखमद (ताजिकिस्तान)

18) मेंस मिडिल (69-75 किग्रा)

तंग्लतिहान तुहेटा इरबिके (चीन) बनाम महमूद हसन (पाकिस्तान)

19) मेंस मिडिल (69-75 किग्रा)

मुंतधर अल-फ़रोटोसी (इराक) बनाम युइतो मोरीवाकी (जापान)

20) मेंस लाइट-हेवी (75-81 किग्रा)

डैक्सिंग चेन (चीन) बनाम एहसान रूज़ाहानी (ईरान)

21) मेंस लाइट-हेवी (75-81 किग्रा)

नवोसा ईओटा (तुवालु) बनाम पाउलो औकुसू (ऑस्ट्रेलिया)

‘Road To Tokyo 2020’ के हर एक एक्शन और रोमांचक मुकाबलों के लिए हमारे ओलंपिक चैनल और लाइव स्ट्रीम से जुड़े रहें...