बॉक्सिंग ओलंपिक क्वालिफिकेशन - अम्मान | दूसरा दिन - लाइव ब्लॉग

एशिया और ओशिनिया क्वालिफायर्स के दूसरे दिन के हर एक मुक़ाबले का लाइव अपडेट, वीडियो हाइलाइट्स, और प्रतिक्रियाएं देखें। ओलंपिक चैनल आपके लिए ‘रोड टू टोक्यो 2020’ से संबंधित सभी एक्शन लेकर आ रहा है।

नमस्कार! आप सभी का जॉर्डन के अम्मान में चल रहे एशिया/ओशिनिया ओलंपिक बॉक्सिंग क्वालिफिकेशन टूर्नामेंट के दूसरे दिन स्वागत है।

आप इस टूर्नामेंट का लाइव टेलीकास्ट यहीं ओलंपिक चैनल पर देख सकते हैं। इसके आलावा पहली बार खासतौर पर आपके लिए हिंदी में बॉक्सिंग की कमेंट्री भी यहां उपलब्ध है।

आज होने वाले भारतीय मुकाबले:

57 किग्रा – साक्षी (भारत) बनाम निल्वान (थाईलैंड) - 3:15 PM

60 किग्रा – रिम्मा (कज़ाख़िस्तान) बनाम सिमरनजीत (भारत) - 10:15 PM

लाइव ब्लॉग – दूसरा दिन – बुधवार, 4 मार्च

नए अपडेट हासिल करने के लिए कृपया पेज रिफ्रेश करें... सभी समय भारतीय समयानुसार (IST)

23:20 - मिशिल्ट बट्टूमुर (मंगोलिया) बनाम थुलासिमरमन थरुमलिंगम (क़तर) - मेंस वेल्टरवेट (63-69 किग्रा)

शाम के सत्र का अंतिम मुकाबला मंगोलिया के मिशिल्ट बट्टूमुर और क़तर के थुलासिमरमन थरुमलिंगम के बीच शुरू हुआ। पहले और दूसरे राउंड में मंगोलिया के मुक्केबाज़ ने कॉर्नर में प्रतिद्वंदी मुक्केबाज़ को ले जाकर कुछ बेहतरीन राइट और लेफ्ट हुक लगाए। नतीजतन दोनों ही राउंड का नतीज़ा unanimous (एक पक्षीय) बट्टूमुर के पक्ष में रहा। 

तीसरे राउंड में थरुमलिंगम ने बढ़त बनाने के लिए प्रयास जरूर किया लेकिन असफल नज़र आए और राउंड ऑफ-32 के इस आखिरी मुकाबले में जजों ने एक पक्षीय निर्णय (5-0) (30-25, 30-26, 30-25, 30-25, 30-25) से मंगोलिया के मुक्केबाज़ के पक्ष में रहा। अब बट्टूमुर का अगला मुकाबला 6 मार्च को कज़ाकिस्तान के दूसरी वरीयता प्राप्त मुक्केबाज़ से होगा।

23:07 - ह्यंचुल लिम (दक्षिण कोरिया) बनाम वुट्टीचाई मासूक (थाईलैंड) - मेंस वेल्टरवेट (63-69 किग्रा)

राउंड ऑफ-32 का यह मुकाबला दक्षिण कोरिया की ह्यंचुल लिम और थाईलैंड की वुट्टीचाई के बीच शुरू हुआ। थाईलैंड के मुक्केबाज़ ने तीनों राउंड में अपने प्रतिद्वंदी को कोई भी मौका नहीं दिया और वह लगातार ह्यंचुल पर हावी रहे। उन्होंने कुछ शानदार अपरकट और राइट हुक लगाए। अंततः जजों ने unanimous निर्णय (5-0) (29-28, 30-27, 29-28, 30-27, 30-27) से थाईलैंड के वुट्टीचाई मासूक के पक्ष में रहा।

23:01 - नूरसुल्तान मामात्य (किर्गिस्तान) बनाम शेराली ममाडालीव (तज़ाकिस्तान) - मेंस वेल्टरवेट (63-69 किलोग्राम)

यह मुकाबला मेंस वेल्टरवेट श्रेणी में किर्गिस्तान के नूरसुल्तान मामात्या और तज़ाकिस्तान के शेराली ममाडालीव के बीच शुरू हुआ। 38 वर्षीय ममाडालीव ने एक शानदार पंच लगाया जिससे नूरसुल्तान की दाईं आंख में चोट लग गई और रेफरी ने लगातार किए गए पंचों पर मुकाबले को बीच में ही खत्म कर दिया और नूरसुल्तान को विजेता करार दे दिया गया।

22:51 - मुहम्मद आसिफ सैयद (पाकिस्तान) बनाम एल्डोम्स सुगुरो (इंडोनेशिया) - मेंस फ्लाईवेट (48-52 किग्रा)

यह मुकाबला पाकिस्तान के मुहम्मद आसिफ सैयद और इंडोनेशिया के एल्डोम्स सुगुरो के बीच शुरू हुआ। तीनों राउंड में आसिफ ने काफी कोशिश की लेकिन सुगुरो ने जो बढ़त बनाई वह उन्हें जीत दिलाने में कारगर रही और जजों ने एक पक्षीय निर्णय इंडोनेशिया के इस मुक्केबाज़ के पक्ष में सुनाया।

थाईलैंड के फ्लाईवेट श्रेणी में पनमोट ने जीता मुकाबला
थाईलैंड के फ्लाईवेट श्रेणी में पनमोट ने जीता मुकाबलाथाईलैंड के फ्लाईवेट श्रेणी में पनमोट ने जीता मुकाबला

22:26 - ताशी वांगड़ी (भूटान) बनाम थिटिसन पैनमोट (थाईलैंड) - मेंस फ्लाईवेट (48-52 किग्रा)

यह मुकाबला मेंस फ्लाईवेट में भूटान के ताशी वांगडी और थाईलैंड की थिटिसन पैनमोट के बीच शुरू हुआ। तीनों ही राउंड में थाईलैंड के मुक्केबाज़ ने शानदार प्रदर्शन किया और जज़ों ने एक पक्षीय निर्णय (5-0) (30-24, 30-27, 30-25, 30-25, 30-26) से थाईलैंड के थिटिसन पैनमोट के पक्ष में रहा।

भारत की सिमरनजीत ने अपने शानदार प्रदर्शन से जीता सभी का दिल
भारत की सिमरनजीत ने अपने शानदार प्रदर्शन से जीता सभी का दिलभारत की सिमरनजीत ने अपने शानदार प्रदर्शन से जीता सभी का दिल

22:09 - रिम्मा वोलोसेंको (कज़ाकिस्तान) बनाम सिमरनजीत बाथ (भारत) - वुमेंस लाइटवेट (57-60 किग्रा)

सिमरनजीत कौर (Simranjit Kaur) नेशनल ट्रायल में एल सरिता देवी (L Sarita Devi) को हराकर क्वालिफ़ायर में पहुंची हैं।

ब्लू कॉर्नर में सिमरनजीत कौर शाम के सत्र के सातवें मुकाबले में कज़ाकिस्तान की रिम्मा वोलोसेंको से मुकाबला लड़ रही हैं। वूमेंस लाइटवेट की इस श्रेणी में 4 ओलंपिक स्थान हैं, इसलिए सिमरनजीत को टोक्यो 2020 में अपनी जगह पक्की करने के लिए सेमीफाइनल में जगह बनानी होगी।

पहला राउंड: राउंड ऑफ-16 के पहले राउंड में सिमरनजीत ने कुछ बेहतरीन पंच लगाए। जिसका उन्हें बेहतर परिणाम मिला और unanimous (एक पक्षीय) निर्णय 5-0 से सिमरनजीत के पक्ष में रहा।

दूसरा राउंड: रिम्मा वोलोसेंको ने रिंग में शुरुआत करते ही भारत की सिमरनजीत पर हावी होने की जबरदस्त कोशिश की। दो लगातार राइट और लेफ्ट स्ट्रेट पंच लगाए। सिमरनजीत थोड़ा कमज़ोर नज़र आईं। जजों ने भी सभी पंचों को समझा और एक पक्षीय निर्णय 5-0 से कज़ाकिस्तान की मुक्केबाज़ के पक्ष में रहा।

तीसरा राउंड: पहले राउंड जैसा सिमरनजीत अपना प्रदर्शन जारी नहीं रख पाईं। कज़ाकिस्तान की मुक्केबाज़ ने बेल बजते ही राइट और लेफ्ट स्ट्रेट पंच लगाए। इसके बाद सिमरनजीत ने कुछ शानदार क्रॉस पंच लगाए। अंततः जजों ने एक पक्षीय (5-0) (29-28, 29-28, 29-28, 29-28, 29-28) निर्णय भारत की सिमरनजीत कौर के पक्ष में सुनाया।

आपको बता दें, अब तक भारत के चार मुक्केबाज़ रिंग में उतरे हैं और सभी के सभी मुकाबला जीतकर अगले राउंड में अपनी जगह बनाने में सफल रहे। शानदार प्रदर्शन लगातार जारी है, आप हमसे जुड़े रहें...

21:54 - साया हमामोटो (जापान) रिज़ा पासूट (फिलीपींस) - वुमेंस लाइटवेट (57-60 किग्रा)

यह मुकाबला जापान की साया हामामोटो और फिलीपींस की रिज़ा पासूट के बीच शुरू हुआ। रिज़ा पासूट ने पहले राउंड में काफी अच्छे पंच जड़े, जिसका उन्हें फायदा भी मिला और स्प्लिट निर्णय 4-1 से उनके पक्ष में रहा। दूसरे राउंड में हामामोटो ने राइट और लेफ्ट पंच कॉम्बिनेशन के साथ कुछ अच्छे प्रयास किए और एकबार फिर स्प्लिट निर्णय फिलीपींस की मुक्केबाज़ के पक्ष में ही रहा। 

तीसरे राउंड में हामामोटो ने क्लिंच में जाकर कुछ अच्छे पंच लगाने की कोशिश की। हालांकि रिज़ा हर तरह से हावी रहीं और जजों ने स्प्लिट निर्णय (3-2) (28-29, 30-27, 30-27, 28-29, 30-27) से रिज़ा के पक्ष में रहा। अब उनका अगला मुकाबला चीनी ताइपे की मुक्केबाज़ शी वू से होगा।

21:37 - सुदापोर्न सिसोन्दी (थाईलैंड) बनाम वेनलु यंग (चीन) - मेंस लाइटवेट (57-60 किग्रा)

राउंड ऑफ-16 का यह मुकाबला थाईलैंड की सुदापोर्न सिसोन्दी और चीन की वेनलू यंग के बीच शुरू हुआ। पहले और दूसरे दोनों ही राउंड में सिसोन्दी जजों को अपने पंचों से प्रभावित करने में सफल रहीं। तीसरे राउंड में भी दोनों ही मुक्केबाज़ों ने कड़ा मुकाबला किया। अंततः जज़ों ने स्प्लिट निर्णय (3-2) (29-28, 28-29, 29-28, 28-29, 30-27) से थाईलैंड के सिसोन्दी के पक्ष में रहा।

21:20 - योद्गोरोय मिर्ज़ाएव (उज़्बेकिस्तान) बनाम यू-टिंग लिन (चाइनीज ताइपे) - वुमेंस लाइटवेट (54-57 किग्रा)

यह मुकाबला वुमेंस लाइटवेट में उज़्बेकिस्तान की मिर्ज़ाएवा और चीनी ताइपे की यू-टिंग लिंग के बीच शुरू हुआ। पहले राउंड में चीनी ताइपे की मुक्केबाज़ ने शानदार प्रदर्शन किया और नतीजा एक पक्षीय (5-0) से उनके हक में रहा। दूसरे राउंड में रेड कॉर्नर पर काबिज़ मिर्ज़ाएवा ने वापसी के लिए कुछ अच्छे पंच लगाने की कोशिश जरूर की लेकिन इस बार भी (5-0) से निर्णय यू-टिंग लिन के पक्ष में रहा।

तीसरे राउंड में दोनों मुक्केबाज़ों के बीच क्लिंच ज्यादा देखने को मिला। मिर्ज़ाएवा ने राइट कॉर्नर से एक शानदार स्ट्रेट पंच लगाया। हालांकि अपनी लम्बाई का फायदा उठाते हुए वर्ल्ड चैंपियन यू-टिंग लिंग अपनी तकनीक और अनुभव के साथ क्लीयर पंच लगाने में सफल रहीं। जजों ने unanimous निर्णय (5-0) (30-27, 30-27, 30-27, 30-27, 30-27) से यू-टिंग लिंग के पक्ष में रहा। अब उनका अगला क्वार्टर-फाइनल मुकाबला 9 मार्च को चीन की युनवा यिन से होगा।

21:04 - जुनाह यिन (चीन) बनाम डमेटकेन केलिमबेट (कज़ाकिस्तान) - वुमेंस फेदरवेट (54-57 किलोग्राम)

तीसरा मुकाबला वूमेंस फेदरवेट में रियो की सिल्वर मेडल विजेता चीन की जुनाह यिन और कज़ाकिस्तान की डमेटकेन केलिमबेट के बीच शुरू हुआ। पहले और दूसरे राउंड में लाइटवेट श्रेणी से अपना वजन कम करते हुए रिंग में फेदरवेट में चीन की मुक्केबाज़ ने कुछ शानदार पंच जड़े। तीसरे राउंड में भी उनका प्रदर्शन काबिलेतारीफ रहा और जजों ने एक पक्षीय निर्णय (5-0) (30-27, 30-27, 30-27, 30-27, 30-27) से चीन की मुक्केबाज़ के पक्ष में रहा।

20:50 - बोलोर्तुल तुमरकुह्यग (मंगोलिया) बनाम फ्लोरा किलासा लोगा (पापुआ न्यू गिनी) - वुमेंस फेदरवेट (54-57 किग्रा)

दूसरा मुकाबला मंगोलिया के बोलोर्तुल तुमरकुह्यग और पापुआ न्यू गिनी की फ्लोरा किलासा लोगा के बीच शुरू हुआ। पहली बार ऐसा लगा कि अनुभव किसी युवा मुक्केबाज़ पर हावी रहा। तीसरे राउंड में बोलोर्तुल के अपने प्रतिद्वंदी पर काफी हावी होते हुए देख रेफरी ने मैच रोक दिया। इसी के साथ RSC - रेफरी स्टॉप्ड कॉन्टेस्ट के तहत मंगोलिया की बोलोर्तुल को विजेता घोषित कर दिया गया।

20:32 - स्काई निकोलसन (ऑस्ट्रेलिया) बनाम मिजगोना समाधोवा (तज़ाकिस्तान) - वुमेंस फेदरवेट (54-57 किग्रा)

शाम के सत्र का पहला मुकाबला ऑस्ट्रेलिया के स्काई निकोलसन और तज़ाकिस्तान के मिगोना समाधोवा के बीच शुरू हुआ। राउंड ऑफ-16 के इस मुकाबले में स्काई निकोलसन तीनों राउंड में तज़ाकिस्तान की मिजगोना समाधोवा पर हावी रहीं और जज़ों ने एक पक्षीय निर्णय (5-0) (30-27, 30-27, 30-27, 30-27, 30-27) से निकोलसन के पक्ष में सुनाया।

चीनी ताइपे वेल्टरवेट मुक्केबाज़ हंग-मिंग पैन ने जीता सुबह के सत्र का दूसरा मुकाबला
चीनी ताइपे वेल्टरवेट मुक्केबाज़ हंग-मिंग पैन ने जीता सुबह के सत्र का दूसरा मुकाबलाचीनी ताइपे वेल्टरवेट मुक्केबाज़ हंग-मिंग पैन ने जीता सुबह के सत्र का दूसरा मुकाबला

17:33 - हंग-मिंग पैन (चीनी ताइपे) बनाम दिनेश पथिरेज (श्रीलंका) - मेंस वेल्टरवेट (63-69 किग्रा)

दूसरे दिन के सुबह के सत्र का आखिरी मुकाबला मेंस वेल्टरवेट श्रेणी में चीनी ताइपे हंग-मिंग पैन और श्रीलंका दिनेश पाथिरेज के बीच शुरू हुआ। दोनों ही बॉक्सर पहले राउंड में एक-दूसरे को परखते हुए नज़र आए। रेड कॉर्नर पर साउथ पॉ (बाएं हाथ के मुक्केबाज़) हंग-मिंग पैन ने कुछ अच्छे पंच लगाए। वहीं, ब्लू कॉर्नर पर ऑर्थोडॉक्स (दाएं हाथ के मुक्केबाज़) दिनेश पथिरेज ने अच्छे स्ट्रेट पंच लगाए। लेकिन जजों ने दोनों ही राउंड में unanimous (एक पक्षीय) 5-0 से चीनी ताइपे मुक्केबाज़ के पक्ष में सुनाया। 

तीसरे राउंड में भी चीनी ताइपे के मुक्केबाज़ ने कुछ शानदार राइट और लेफ्ट स्ट्रेट पंचों के कॉम्बिनेशन लगाए। नतीजतन जजों ने unanimous निर्णय (5-0) (30-27, 30-27, 30-27, 30-27, 30-27) से हंग-मिंग पैन के पक्ष में सुनाया।

ऑस्ट्रेलिया के वेल्टरवेट श्रेणी मुक्केबाज़ जेसन मालिया ने जीत हासिल करने के लिए किया शानदार प्रदर्शन
ऑस्ट्रेलिया के वेल्टरवेट श्रेणी मुक्केबाज़ जेसन मालिया ने जीत हासिल करने के लिए किया शानदार प्रदर्शनऑस्ट्रेलिया के वेल्टरवेट श्रेणी मुक्केबाज़ जेसन मालिया ने जीत हासिल करने के लिए किया शानदार प्रदर्शन

17:17 - कर्रार काधिम सहम अल-इज़ाइरेज (ईराक) बनाम जेसन मालिया (ऑस्ट्रेलिया) - मेंस वेल्टरवेट (63-69 किग्रा)

सुबह के सत्र का पेनल्टीमेट मुकाबला ईराक के कर्रार काधिम और ऑस्ट्रेलिया के मुक्केबाज़ जेसन मालिया के बीच शुरू हुआ। पहले राउंड में अच्छा फुटवर्क देखने को मिला और जजों ने फैसला ईराक के मुक्केबाज़ के पक्ष में सुनाया।

दूसरे राउंड में रेड कॉर्नर में काबिज़ ईराक के मुक्केबाज़ ने अपने गार्ड को मजबूत रखते हुए शानदार पंच लगाए। वहीं, ऑस्ट्रेलिया के मुक्केबाज़ को पहले राउंड के स्कोर पता चल जाने की वजह से ऑस्ट्रेलियाई मुक्केबाज़ ने आक्रामक शुरुआत की और कुछ स्ट्रेट पंच लगाने की कोशिश की। नतीजतन जजों ने स्प्लिट निर्णय 3-2 से काधिम सहम के पक्ष में सुनाया। 

तीसरे राउंड में भी ऑस्ट्रेलियाई मुक्केबाज़ ने अपना बेहतर प्रदर्शन दिया और जजों ने स्प्लिट निर्णय (3-1) (29-28, 28-28, 29-28, 29-28, 28-29) से जेसन मालिया के पक्ष में सुनाया।

17:00 - मैरियन फॉस्टिनो एह टोंग (समोआ) बनाम विंस्टन हिल विंस्टन (फिजी) - मेंस वेल्टरवेट (63-69 किग्रा)

दूसरे दिन के सुबह के सत्र का 10वां मुकाबला समोआ के मैरियन फॉस्टिनो एह टोंग और फिजी के विंस्टन हिल के बीच शुरू हुआ। विंस्टन ने काफी पंच थ्रो किए लेकिन मैरियन एह टोंग हावी नज़र आए। उनके कुछ पंचों का इम्पैक्ट शानदार रहा। जजों ने पहला राउंड unaimous (एक पक्षीय) निर्णय समोआ के मुक्केबाज़ के पक्ष में सुनाया।

हालांकि दूसरे राउंड दोंनो ही मुक्केबाज़ों ने कुछ जबरदस्त स्ट्रेट पंच लगाए। तीसरे राउंड में दोनों ही कॉर्नर से लगातार कई पंच देखने को मिले। टोंग ने एक शानदार राइट हुक और एक अपरकट लगाया। अंततः जजों ने एक पक्षीय निर्णय (5-0) (29-28, 30-27, 29-28, 29-28, 30-27) से समोआ के एह टोंग के पक्ष में सुनाया।

16:43 - का वा चैन (हांगकांग) बनाम डोमिनिक रो (न्यूज़ीलैंड) - मेंस वेल्टरवेट (63-69 किग्रा)

यह मुकाबला हांगकांग के का वा चैन और न्यूज़ीलैंड के डोमिनिक रो के बीच शुरु हुआ। डोमिनिक रो जिन्होंने अपना डेब्यू 2011 में किया उन्होंने पहले और दूसरे दोनों ही राउंड में डोमिनिक के शानदार प्रदर्शन के चलते जजों ने Unanimous निर्णय 5-0 से उनके पक्ष में सुनाया। 

तीसरे राउंड में भी डोमिनिक चैन पर आक्रामक दिखे और शानदार राइट क्रॉस लगाए। जज़ों ने एक पक्षीय निर्णय (5-0) (30-26, 30-26, 30-25, 30-24, 30-25) डोमिनिक के पक्ष में सुनाया। अब राउंड ऑफ-16 में इनका मुकाबला उज़्बेकिस्तान के तीसरे वरीयता प्राप्त बोबो उस्मान से होगा।

16:27 - रयोमी तनाका (जापान) बनाम अज़त उसेनालिएव (किर्गिस्तान) - मेंस फ्लाईवेट ( 48-52 किग्रा)

यह मुकाबला जापान के रयोमी तनाका और किर्गिस्तान के अज़त उसेनालिएव के बीच शुरू हुआ। दोनों ही मुक्केबाज़ों ने एक-दूसरे पर कुछ तगड़े पंच लगाए। पहला राउंज स्प्लिट निर्णय 3-2 के साथ तनाका के पक्ष में रहा। दूसरे राउंड में अज़त उसेनालिएव तनाका पर भारी पड़े और जजों ने Unanimous निर्णय 5-0 से किर्गिस्तान के मुक्केबाज़ के पक्ष में सुनाया।

तीसरे राउंड में दोनों ही मुक्केबाज़ों ने अपनी पूरी ताकत झोंकते हुए तनाका पर कुछ अच्छे पंच लगाए। अंततः जजों ने स्प्लिट निर्णय (4-1) (29-28, 29-28, 29-28, 28-29, 29-28) के साथ किर्गिस्तान के अज़त उसेनालिएव के पक्ष में सुनाया।

16:15 - एंखमंडख खारखू (मंगोलिया) बनाम शुहरत सबजालियब (तज़ाकिस्तान) - मेंस फ्लाईवेट (48-52 किग्रा)

यह मुक़ाबला मंगोलिया के एंखमंडख खारखू और तज़ाकिस्तान के शुहरत सबजालियब बीच शुरू हुआ। पहले राउंड में सबजालियब प्रभावी नज़र आए। लेकिन दूसरे राउंड में उनके तेज़ और आक्रामक मुक्कों के लगातार बरसाए जाने की वजह से रेफरी ने मुकाबला बीच में ही रोक दिया। नतीजतन जजों ने RSC - रेफरी स्टॉप्ट कॉन्टेस्ट के तहत फैसला मंगोलिया के खारखू के पक्ष में सुनाया। 

आपको बता दें, अब इनका मुकाबला इस श्रेणी में 7 मार्च को भारत के अमित पंघल से होगा।

15:58 - ट्रॉय गार्टन (न्यूज़ीलैंड) बनाम रायखोना कोदीरोवा (उज़्बेकिस्तान) -वूमेंस लाइटवेट (57-63 किग्रा)

यह मुकाबला न्यूज़ीलैंड की 25 वर्षीय ट्रॉय गार्टन और उज़्बेकिस्तान की रायखोना कोदीरोवा के बीच शुरू हुआ। दोनों ही बॉक्सर ने कुछ अच्छे पंचों के साथ शुरुआत की। गार्टन ने कुछ शानदार राइट क्रॉस और लेक्ट क्रॉस के कॉम्बीनेशन पंच लगाए। जजों ने स्प्लिट निर्णय 3-2 से कोदीरोवा के पक्ष में सुनाया। 

राउंड-ऑफ 16 के इस मुकाबले के दूसरे राउंड में दोंनो मुक्केबाज़ एक दूसरे पर भारी नज़र आए। कोदीरोवा और गार्टन दोनों ही मुक्केबाज़ों ने शानदार पंच लगाए और जजों ने राउंड समाप्त होने के साथ ही स्प्लिट निर्णय 3-2 से कोदीरोवा के पक्ष में सुनाया।

आज के दिन के इस मुकाबले में सबसे अधिक पंच थ्रो होते हुए दिखाई दिए। गॉर्टन के मुक्कों के प्रयास ने सभी को काफी प्रभावित किया। हालांकि, जजों ने स्प्लिट निर्णय (3-2) (30-27, 28-29, 30-27, 29-28, 27-30) से कोदीरोवा के पक्ष में सुनाया।

15:40 - यौंजी ओह (दक्षिण कोरिया) बनाम शोएरा ज़ुलकायनारोवा (तज़ाकिस्तान) - वूमेंस लाइटवेट (52-57 किग्रा)

यह मुकाबला दक्षिण कोरिया की यौंजी ओह और तज़ाकिस्तान की शोएरा ज़ुलकायनारोवा के बीच शुरू हुआ। पहले और दूसरे दोंनों ही राउंड में यौंजी अपनी प्रतिद्वंदी मुक्केबाज़ पर हावी नज़र आईं और क्लिंच में ले जाते हुए उन्होंने कुछ शानदार पंच लगाए। सोएरा के पंच बहुत ही हल्के और टार्गेट से दूर पड़ते नज़र आए। जजों ने दोनों ही राउंड के निर्णय 5-0 से यौंजी के पक्ष में सुनाया। 

राउंड-ऑफ 16 के इस मुकाबले के तीसरे राउंड में भी दक्षिण कोरिया की मुक्केबाज़ के कुछ पंचों का इम्पैक्ट शानदार रहा। अंततः जजों ने Unanimous निर्णय (5-0) (3-27, 30-27, 30-27, 30-27, 29-28) के साथ यौंजी ओह के पक्ष में सुनाया।

भारत की फेदरवेट श्रेणी की साक्षी ने थाईलैंड की चौथी वरीयता मुक्केबाज़ को दी शिकस्त
भारत की फेदरवेट श्रेणी की साक्षी ने थाईलैंड की चौथी वरीयता मुक्केबाज़ को दी शिकस्तभारत की फेदरवेट श्रेणी की साक्षी ने थाईलैंड की चौथी वरीयता मुक्केबाज़ को दी शिकस्त

15:25 - साक्षी (भारत) बनाम निलावन टेकहॉन्सेस्प (थाईलैंड) - वूमेंस फेदरवेट (52-57 किग्रा)

दिन के जिस मुकाबले का आप सभी को इंतजार था, वह अब शुरू हो चुका है। भारत की साक्षी और थाईलैंड की निलावन रिंग में हैं। साक्षी यूथ और जूनियर वर्ल्ड चैंपियन रह चुकी हैं और इन्होंने भिवानी बॉक्सिंग क्लब में प्रशिक्षण प्राप्त किया है। साक्षी चौधरी (Sakshi Chaudhary) ने सोनिया लाठेर (Sonia Lather) को राष्ट्रीय ट्रायल में हराकर क्वालिफ़ायर में पहुंची हैं।

पहला राउंड: दोनों ही मुक्केबाज़ों महज स्ट्रेट पंच का प्रयोग करते ही नज़र आए। हालांकि थाईलैंड की मुक्केबाज़ निलावन अपनी लम्बाई और पहुंच का फायदा उठाने की कोशिश जरूर की लेकिन जजों ने स्प्लिट निर्णय 4-1 से भारत की साक्षी के पक्ष में सुनाया।

दूसरा राउंड: हरियाणा की साक्षी का शानदार प्रदर्शन लगातार जारी है। आप कह सकते हैं कि यह उनके परिवार और पिता की मेहनत का नतीजा है जो उन्हें 20 किलोमीटर रोज़ स्कूटर से बॉक्सिंग ट्रेनिंग के लिए ले जाते थे। निलावन और साक्षी दोनों ही मुक्केबाज़ों ने कुछ राइट और लेफ्ट क्रॉस लगाने की कोशिश की। अंततः जजों ने स्प्लिट निर्णय 3-2 से निलावन के पक्ष में सुनाया।

तीसरा राउंड: एक-एक से राउंड बराबर होने के चलते दोनों ही मुक्केबाज़ ने आक्रामक रुख अपनाने की कोशिश की। इस राउंड में निलावन कुछ अच्छे पंच लगाते हुए नज़र आईं। साक्षी ने अंत के 10 सेकेंड में एक अच्छा लेफ्ट जैब लगाया। अंततः जजों ने (4-1) (29-28, 29-28, 30-27, 27-30, 30-27) के स्प्लिट निर्णय से फैसला भारत की साक्षी के पक्ष में सुनाया।

दक्षिण कोरिया की एजी इम टोक्यो के लिए अपनी जगह पक्की करने से महज एक मुकाबले से हैं दूर
दक्षिण कोरिया की एजी इम टोक्यो के लिए अपनी जगह पक्की करने से महज एक मुकाबले से हैं दूरदक्षिण कोरिया की एजी इम टोक्यो के लिए अपनी जगह पक्की करने से महज एक मुकाबले से हैं दूर

15:09 - एजी इम (दक्षिण कोरिया) बनाम मिनू गुरुंग (नेपाल) - वूमेंस फेदरवेट (52-57 किग्रा)

सुबह के सत्र का तीसरा मुकाबला वूमेंस फेदरवेट में दक्षिण कोरिया और नेपाल की मिनू गुरुंग के बीच शुरू हुआ। दोनों ही मुक्केबाज़ एक दूसरे के गार्ड नीचे होते ही कुछ बेहतरीन पंच लगाते हुए नज़र आए। एजी इम ने अपने शानदार लेफ्ट जैब और स्ट्रेट पंच से जजों को प्रभावित किया। पहले राउंड में जजों ने दक्षिण कोरिया के पक्ष में 4-1 का स्प्लिट निर्णय और दूसरे राउंड में एक पक्षीय 5-0 निर्णय सुनाया। 

तीसरे राउंड में भी दक्षिण कोरिया के पक्ष में ही जज़ों ने Unanimous (एक पक्षीय) निर्णय (5-0) (30-25, 30-25, 30-26, 29-28, 30-26) से सुनाया। अब एजी इम सीधे क्वार्टर-फाइनल में पहुंच गई हैं।

14:51 - एमी एंड्रयू ( न्यूज़ीलैंड) बनाम सीना इरी (जापान) - वूमेंस फेदरवेट (54-57 किग्रा)

दूसरा मुकाबला वूमेंस फेदरवेट में न्यूज़ीलैंड की एमी एंड्रयू और जापान की सीना इरी के बीच शुरू हुआ। दिलचस्प बात यह है कि एमी पहले एक पत्रकार रह चुकी हैं और उन्हें एक समय यह खेल इतना पसंद आने लगा कि उन्होंने इसे ही अपनी जीविका का जरिया बना लिया। 

पहले राउंड में हालांकि जापान की मुक्केबाज़ इरी न्यूज़ीलैंड की एमी एंड्रयू पर हावी रहीं और दो शानदार राइट और लेफ्ट हुक लगाकर सभी का दिल जीत लिया। जजोंने निर्णय 5-0 से इरी के पक्ष में सुनाया। दूसरे राउंड में इरी का दबदबा रहा और जजों ने इसबार भी निर्णय 5-0 से जापानी मुक्केबाज़ के पक्ष में सुनाया। 

तीसरे राउंड में एमी ने अपनी लंबाई का फायदा उठाते हुए कुछ अच्छे लेफ्ट जैब लगाए। जापान की मुक्केबाज़ इरी इसबार भी हावी रहीं और अंततः जजों ने Unanimous (एक पक्षीय) निर्णय (5-0) (30-27, 30-27, 30-27, 30-27, 30-28) से सीना इरी के पक्ष में सुनाया।

14:35 - नेस्टी पेटिसियो (फिलीपींस) बनाम क्रिस्मी अयोमा दुलांज लंकापुरयालंगे (श्रीलंका) - वूमेंस फेदरवेट (54-57 किग्रा)

सुबह के सत्र का पहला मुकाबला वूमेंस फेदरवेट श्रेणी में फिलीपींस की नेस्टी पेटिसियो और श्रीलंका की क्रिस्मी लंकापुरयालंगे के बीच शुरू हुआ। पहले राउंड में क्रिस्मी रिंग में थोड़ा अभ्यस्त नज़र आईं। आपको बता दें, वह क्वालिफ़ायर्स के पहले दिन एक मुकाबला लड़ चुकी हैं। हालांकि मुकाबले में नेस्टी पेटिसियो उनपर पहले और दूसरे दोनों राउंड क्रिस्मी पर हावी रहीं और जजों ने Unanimous (एक पक्षीय) निर्णय (5-0) से पेटिसियो के पक्ष में सुनाया।

तीसरे राउंड में भी फिलीपींस की मुक्केबाज़ क्रिस्मी पर हावी रहीं और जजों ने एक पक्षीय निर्णय (5-0) (30-27, 30-27, 30-24, 30-26, 30-26) वर्ल्ड चैंपियन नेस्टी के पक्ष में सुनाया।

जॉर्डन के अम्मान के प्रिंस हमज़ाह हॉल में एशिया/ओशिनिया ओलंपिक बॉक्सिंग क्वालिफिकेशन (Asia/ Oceania Olympic Boxing Qualification) का आज दूसरा दिन है। जहां सभी मुक्केबाज़ ग्रीष्मकालीन ओलंपिक खेलों में अपनी जगह पक्की करने के लिए 63 बर्थ/स्थानों (41 पुरुषों के लिए और 22 महिलाओं के लिए) में मुक़ाबला करेंगे।

पुरुष 8 भार वर्गों (फ्लाईवेट (52 किग्रा) से लेकर सुपर-हैवीवेट (+91 किग्रा) तक) में प्रतिस्पर्धा करेंगे, जबकि महिलाएं 5 भार वर्गों (फ्लाईवेट (51 किग्रा) से लेकर मिडिलवेट (75 किग्रा) तक) में मुकाबला करेंगी।

हमें पहले दिन कुल 24 मुक़ाबले देखने को मिलेंगे – अम्मान में होने वाले दूसरे दिन के मुकाबले दो सत्र में विभाजित किए गए हैं - सुबह का सत्र और शाम का सत्र, जो भारतीय समयानुसार 14:30 से शुरू होंगे। आज यानी बुधवार को कुल 24 मुकाबले होंगे, सुबह के सत्र में कुल 12 और शाम के सत्र में 12 मुकाबले होंगे।

आप दूसरे दिन के मुकाबलों का पूरा शेड्यूल नीचे देख सकते हैं, साथ ही यह भी जाने सकते हैं कि मुकाबले कब और कहां देखें? इसके अलावा सभी एक्शन, हाइलाइट्स और लाइव शो हमारे ओलंपिक चैनल पर यहीं देख सकते हैं।.

प्रिंस हमज़ाह हॉल, एशिया/ओशिनिया क्वालिफायर के लिए आयोजन स्थल
प्रिंस हमज़ाह हॉल, एशिया/ओशिनिया क्वालिफायर के लिए आयोजन स्थलप्रिंस हमज़ाह हॉल, एशिया/ओशिनिया क्वालिफायर के लिए आयोजन स्थल

अम्मान में बॉक्सर कैसे करेंगे क्वालिफाई:

जॉर्डन में टोक्यो ओलंपिक के लिए कुछ 63 बर्थ/स्थान हैं - पुरुषों के लिए 41 और महिलाओं के लिए 22

पुरुषों की लाइट-हेवीवेट और हेवीवेट श्रेणियों और महिलाओं के फेदरवेट से लेकर मिडिलवेट श्रेणियों में, सेमीफाइनल तक पहुंचने वाले सभी मुक्केबाज़ टोक्यो के लिए क्वालिफाई कर जाएंगे। पुरुषों के वेल्टरवेट से लेकर लाइट-हेवीवेट श्रेणियों में एक अतिरिक्त स्थान के लिए बॉक्स-ऑफ़ होगा। पुरुषों के फ्लाईवेट से लेकर लाइटवेट कैटेगरी और महिलाओं के फ्लाईवेट वर्ग में दो अतिरिक्त स्थानों के लिए बॉक्स-ऑफ होंगे।

मुक्केबाज़ों के पास मई में पेरिस में होने वाले वर्ल्ड क्वालिफाइंग इवेंट में टोक्यो 2020 के लिए क्वालिफाई करने का एक और मौका होगा।

‘Road To Tokyo 2020’ के हर एक एक्शन और रोमांचक मुकाबलों के लिए हमारे ओलंपिक चैनल और लाइव स्ट्रीम से जुड़े रहें...

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!