दोहा करेगा 2030 ऐशियन गेम्स की मेजबानी, रियाद को मिला 2034 का संस्करण

कोरोना महामारी के कारण राष्ट्रीय संघों ने ऑनलाइन किया मतदान  

लेखक दिनेश चंद शर्मा ·

कतर अपने दूसरे एशियन गेम्स की मेजबानी करेगा जबकि सऊदी अरब को पहली बार महाद्वीपीय कार्यक्रम की मेजबानी करने का मौका मिलेगा। 

2030 ऐशियन गेम्स की मेजबानी के अधिकार कतर की राजधानी दोहा को प्रदान किए गए हैं। गेम्स का 2034 संस्करण भी पश्चिम एशिया में आयोजित किया जाएगा। सऊदी अरब का शहर रियाद अगला मेजबान होगा। 

ओलंपिक काउंसिल ऑफ एशिया (OCA) की बुधवार को आयोजित कार्यकारी समिति की बैठक के बाद इस निर्णय की घोषणा की गई। इसके साथ ही बैठक में 2030 की मेजबानी की दौड में उप विजेता रहे शहर को 2034 संस्करण की मेजबानी करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई।

ओलंपिक समिति के प्रमुख जोआन बिन हमद बिन खलीफा अल-थानी

कोरोनो वायरस महामारी के कारण यात्राओं पर प्रतिबंध होने के कारण राष्ट्रीय संघों ने इसके लिए ऑनलाइन मतदान किया था। दोहा पहले 2006 में भी ऐशियन गेम्स की मेजबानी कर चुका है, तो सऊदी अरब पहली बार ऐशियन गेम्स की मेजबानी करने के लिए तैयार है।

कतर खुद को एशिया में एक खेल गंतव्य के रूप में स्थापित करता जा रहा है। 2022 में फीफा विश्व कप की मेजबानी करने के लिए तैयार है। मतदान से पहले कतर ओलंपिक समिति के प्रमुख जोआन बिन हमद बिन खलीफा अल-थानी ने कहा कि "हमारा सीधा सा लक्ष्य है कि हम भविष्य में ओलंपिक पोडियम पर ज्यादा से ज्यादा एशियाई एथलीटों को देखना चाहते हैं।"

उन्होंने आगे कहा कि "हम आपके राष्ट्रीय खेल इतिहास का हिस्सा बनना चाहते हैं केवल खुद के लिए नहीं। हम वहां पहुंचने के प्रयासों को सहयोग करना चाहते हैं।" 2022 ऐशियन गेम्स हांग्जो (चीन) में आयोजित होंगे। जबकि 2026 संस्करण नागोया (जापान) में आयोजित होगा।