भारत ने रिसर्च और डवलपमेंट के लिए WADA को दी एक मिलियन अमेरिकी डॉलर की सहायता  

किसी भी सरकार द्वारा WADA को दिया अब तक का सबसे बड़ा आर्थिक सहयोग 

लेखक दिनेश चंद शर्मा ·

भारत डोपिंग रोधी परीक्षण और पता लगाने के तरीकों को उन्नत बनाने के लिए विश्व डोपिंग रोधी एजेंसी (WADA) के वैज्ञानिक अनुसंधान बजट में एक मिलियन अमेरिकी डॉलर देगा। इस राशि का इस्तेमाल WADA के स्वतंत्र जांच और खुफिया विभाग को और मजबूत करने के लिए भी किया जाएगा।

भारत की ओर से WADA को दिया गया आर्थिक सहयोग विश्व में किसी भी सरकार द्वारा अब तक किया गया सबसे बड़ा योगदान है।

केंद्रीय खेल मंत्री किरेन रिजिजू ने WADA के अध्यक्ष विटोल्ड बांका को सम्बोधित करते हुए लिखा है कि "मुझे आपके साथ यह बात साझा करते हुए बहुत खुशी हो रही है कि भारत सरकार ने वैज्ञानिक अनुसंधान एवं विकास के लिए WADA फंड में 1 मिलियन डालर की आर्थिक सहायता देने का वादा किया है। उम्मीद है कि भारत के इस सहयोग से WADA के कोष में 10 मिलियन डालर का फंड जुटाने के प्रयासों को बल मिलेगा।”

भारत के केंद्रीय खेल मंत्री किरेन रिजिजू

गौरतलब है कि यह राशि WADA के वार्षिक मूल बजट की राशि के अलावा दी जाने वाली अतिरिक्त सहायता राशि है। अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति (IOC) सभी सदस्य संघों द्वारा उनकी सहायता राशि दिए जाने के बाद इस राशि का मिलान करेगी। समिति का लक्ष्य 10 मिलियन अमरीकी डालर का फंड जुटाना है।

इस फंड का विचार डोपिंग ऑन स्पोर्टिंग को लेकर 2019 में कैटोविस, पोलैंड में आयोजित WADA के पांचवें विश्व सम्मेलन के दौरान आया, ताकि सभी खेलों से डोपिंग का सफाया किया जा सकेे।

भारत का डोप परीक्षण केंद्र वर्तमान में बंद है। 2021 में WADA एक बार फिर इसका निरीक्षण करेगा और तय करेगा कि क्या इसे फिर से शुरू किया जा सकता है।

बांका ने भारत की ओर से उदारता के साथ दी गई सहायता का स्वागत करते हुए कहा, "कि इससे खेल को साफ-सुथरा बनाने में WADA के प्रयासों को बढ़ावा मिलेगा। हम खेलों को संरक्षित करने में सहयोग देने के लिए चीन, मिस्र, भारत और सऊदी अरब सरकार के आभारी हैं।"

उन्होंने कहा कि "इन दानदाता राष्ट्रों के योगदान को इनकी मजबूत प्रतिबद्धता के रूप में देखा जा सकता है जिसका उपयोग वैज्ञानिक अनुसंधान को बढ़ाने देने और WADA के स्वतंत्र विभाग के रूप में कार्य करने में होगा। हाल ही के सालों में दोनों क्षेत्रों ने महत्वपूर्ण उपलब्धियां हासिल की हैं और ये अतिरिक्त सहायता खेलों को डोपिंग मुक्त बनाने के मिशन में सहायक सिद्ध होगी।"