भारतीय जोड़ी ने डेविस कप में पाकिस्तानी जोड़ी को दी मात

पेस/नेदुचेझियन बढ़े अगले पड़ाव पर और साथ ही सुमित नागल ने दर्ज की बेहतरीन जीत 

लेखक जतिन ऋषि राज ·

नूर सुल्तान, कज़ाकिस्तान में चल रहे डेविस कप में भारतीय मेंस डबल्स जोड़ी ने पाकिस्तान के खिलाफ उम्दा प्रदर्शन करते हुए जीत दर्ज की। भारत के स्टार टेनिस खिलाड़ी लिएंडर पेसऔर जीवन नेदुचेझियन ने पाकिस्तान के मुहम्मद शोअेब और हुज़ैफ़ा अब्दुल रहमान की जोड़ी को 6-1, 6-3 से हराया। शनिवार, 30 नवंबर को हुए इस टेनिस के मुकाबले को जीत कर भारतीय जोड़ी ने 3-0 की बढ़त बना ली है।

पेस के तजुर्बे और नेदुचेझियन की दृढ़ता ने डेविस कप में भारतीय टेनिस को मज़बूत पलड़े में रखा। इस प्रतियोगिता में अब यह जोड़ी क्रोएशिया के खिलाफ मार्च 2020 में खेलेगी। 

इतना ही नहीं, भारत के सुमित नागल ने सिंगल्स वर्ग में खेलते उए दमखम दिखाया और शोअेब को एक तरफ़ा मुकाबले में मात दी। अपने हुनर का लोहा मनवाते हुए नागल ने भारतीय टेनिस के भविष्य की भी साख दिखाई। प्रतियोगिता में मिली 4-0 की बढ़त की वजह से रामकुमार रामानाथन और रहमान के बीच होने वाले मुकाबले को रद्द किया गया।

तीसरे मुकाबले में पाकिस्तान की जोड़ी ने संभल कर खेलना शुरू किया लेकिन उनके इरादे भारतीय खिलाड़ियों के आगे ज़्यादा देर तक टिक नहीं पाएं। पेस और नेदुचेझियन ने अपने प्रतिद्वंदी की सर्विस को दो बार तोड़ते हुए सेट 6-1 से अपने नाम किया और अपने कारवां को आगे बढ़ाया। 

भारत की ओर से 18 ग्रैंड स्लैम जीतने वाले लिएंडर पेस ने पिछली बार डेविस कप में जगह न बना पाने की मलाल को ख़त्म कर बेहतरीन वापसी की। कहते हैं न कि अगर हौसलों में जान हो तो बाज़ी पक्ष में आ ही जाती है। कुछ ऐसा ही पेस ने भी बताया और जीत के साथ यह भी दिखाया कि वे क्यों एक अव्वल दर्जे के खिलाड़ी हैं। पेस और नेदुचेझियन की जोड़ी ने पाकिस्तान को केवल 53 मिनट में पस्त किया और कोर्ट के हर कोने पर अपने नाम की मुहर लगा दी। इस जीत के कारण पेस की झोली में डेविस कप की 44वीं डबल्स जीत आई, जिससे उनके मनोबल को खासी उड़ान मिलेगी। 

पेस की वापसी, पाकिस्तान पस्त 

दूसरे सेट में भारतीय खिलाड़ियों को कुछ कड़ी टक्कर ज़रूर मिली, पाकिस्तानी जोड़ी एक समय स्कोर 3-3 से बराबर करने में सफल रहे। अब बारी थी पेस और नेदुचेझियन को ध्यान पूर्वक खेलने की और उन्होंने कुछ ऐसा ही किया। डबल फ़ाउल जैसी गलतियों को न करते हुए इस भारतीय जोड़ी ने अपने प्रतिद्वंदियों को अटैक करने के ज़्यादा मौके नहीं दिए और हर समय खेल को अपने कब्ज़े में करने की कोशिश करते रहे। आखिकार भारतीय जोड़ी पाकिस्तानी जोड़ी की सर्विस तोड़ने में कामयाब हुई और इसके बाद उन्होंने पलट कर नहीं देखा। पेस और नेदुचेझियन खेलते रहे और स्कोर बोर्ड खुद ब खुद चलता रहा और आख़िरकार भारत की झोली में 6-3 से जीत आई। अब भारतीय जोड़ी अगले पड़ाव में क्रोएशिया के खिलाफ खेलती नज़र आएगी।