अभिषेक यादव AIFF के उप महासचिव नियुक्त   

भारत के पूर्व स्ट्राइकर अभिषेक यादव अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ के स्काउटिंग प्रोग्राम में भी थे शामिल 

लेखक दिनेश चंद शर्मा ·

अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ (AIFF) भारत के पूर्व अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ीअभिषेक यादव (Abhishek Yadav) को उप महासचिव नियुक्त किया है।

AIFF ने पहली बार किसी पूर्व राष्ट्रीय खिलाड़ी को उच्च पद पर नियुक्त किया है। यहां तक कि यूरोपीय फुटबॉल इतिहास में भी शायद पहली बार किसी पूर्व खिलाड़ी को इस तरह की महत्वपूर्ण भूमिका दी गई है।

डावर सुकर (क्रोएशियाई FA के वर्तमान अध्यक्ष), लुइस रूबियलस (RFEF, स्पेनिश फुटबॉल एसोसिएशन के अध्यक्ष) ऐसे पूर्व खिलाड़ी हैं जिन्हें रिटायर्मेंट के बाद राष्ट्रीय संघों में उच्च पद पर नियुक्त किया गया था।

भारतीय FA ने पूर्व खिलाड़ियों के अनुभवों का उपयोग फुटबॉल के ईको-सिस्टम को विकसित करने में किया है। यादव AIFF के स्काउटिंग प्रोग्राम में शामिल थे। भारतीय फुटबॉल टीम के पूर्व कप्तान ने राष्ट्रीय टीम के निदेशक के रूप में भी काम किया है।

AIFF के अध्यक्ष प्रफुल्ल पटेल (Praful Patel) ने पीटीआई भाषा को बताया, " अभिषेक ने अब तक सराहनीय काम किया है और मैंने व्यक्तिगत तौर पर एक प्रशासक के रूप में उसे आगे बढ़ते हुए देखा है।"

यादव ने कहा, "मैं AIFF का आभारी हूं जिसने इस तरह की महत्वपूर्ण भूमिका को निभाने के लिए मुझे चुना है।"

प्रफुल पटेल के साथ अभिषेक यादव

"मैं AIFF के महासचिव कुशाल दास का भी आभारी हूं जिन्होंने AIFF की कार्य-प्रणाली और तौर-तरीके को समझने में मेरा मार्गदर्शन किया। इसके साथ ही मैं अध्यक्ष (प्रफुल्ल पटेल) को भी धन्यवाद देना चाहूंगा जिन्होंने इस भूमिका में नियुक्ति के लिए मेरा समर्थन किया।"

AIFF के महासचिव कुशाल दास (Kushal Das) ने यादव के प्रयासों को स्काउटिंग कार्यक्रम के साथ राष्ट्रीय टीम को बेहतर बनाने में शामिल किया।

दास ने कहा, "AIFF के स्काउटिंग कार्यक्रम और राष्ट्रीय टीमों के साथ रहते हुए अभिषेक ने बहुत प्रभावित किया। हमें लगता है कि वह इस तरह की भूमिका के लिए अच्छे से तैयार है। इसमें सफल होने के लिए उनके पास हर तरह का हुनर मौजूद है।"

यादव ने भारतीय खेल प्राधिकरण (SAI)- AIFF अंतरराष्ट्रीय स्काउटिंग प्रोजेक्ट की शुरुआत की। इसके जरिये अंडर-17 विश्व कप टीम का हिस्सा रहे दो खिलाड़ी नमित देशपांडे और सनी धालीवाल को खोजने में मदद मिली। उन्होंने इंडियन एरोज में भी महत्वपूर्ण योगदान दिया।

पहले यादव ने 2017 में अंडर-17 भारतीय विश्व कप टीम के मुख्य परिचालन अधिकारी (COO) के रूप में भी काम किया है।

एक खिलाड़ी के रूप में उन्होंने महिंद्रा यूनाइटेड, चर्चिल ब्रदर्स और मुंबई FC का प्रतिनिधित्व किया।

2002 एलजी कप में वियतनाम के खिलाफ फाइनल में एक वैकल्पिक खिलाड़ी के रूप में शामिल होकर वो भारत की जीत में विजेता बनकर उभरे। वो कतर में 2011 के एशियाई कप में भाग लेने वाली भारतीय टीम का भी हिस्सा थे।