श्रीनू बुगथा, अविनाश साबले एयरटेल दिल्ली हाफ मैराथन में संभालेंगे देश की कमान

डिफेंडिंग चैंपियन बुगथा और ओलंपिक उम्मीदवार साबले उन 8 भारतीय खिलाड़ियों में से एक हैं जो इस स्पर्धा में दौड़ते दिखाई देंगे।

लेखक जतिन ऋषि राज ·

एयरटेल दिल्ली हाफ मैराथन (Airtel Delhi Half Marathon – ADHM) 29 नवंबर से शुरू होने जा रहा है और इसमें डिफेंडिंग चैंपियन श्रीनू बुगथा (Srinu Bugatha) और स्टीपलचेज़र अविनाश साबले पर नज़र होगी।

पिछले साल हुए एयरटेल दिल्ली हाफ मैराथन मे श्रीनू बुगथा ने भारतीय पुरुष वर्ग में गोल्ड मेडल जीता था। इसके बाद टाटा मुंबई मैराथन (Tata Mumbai Marathon) में उन्होंने अपना निजी सर्वश्रेष्ठ (2:18.36) टाइम भी हासिल किया था।

वही अविनाश साबले (Avinash Sable) की बात की जाए तो वह 3000 मीटर स्टीपलचेज़ में नेशनल रिकॉर्ड धारक हैं और इतना ही नहीं वह पहले भारतीय भी हैं जिन्होंने गुलज़ारा सिंह मान (Gulzara Singh Mann) (1952) के बाद इस वर्ग में ओलंपिक गेम्स में क्वालिफाई किया है। वह बुगथा को कड़ी चुनौती देने के लिए भी तैयार हैं।

बुगथा और साबले 2018 ADHM के विजेता अभिषेक पाल (Abhishek Pal) और 2018 मुंबई हाफ मैराथन विजेता प्रदीप सिंह (Pradeep Singh) के साथ स्पर्धा करते नज़र आएंगे।

वहीं भारतीय महिला वर्ग मेंपारुल चौधरी (Parul Chaudhary) एयरटेल दिल्ली हाफ मैराथन में अपने दूसरे स्थान को बेहतर कर अव्वल आना चाहेंगी। हाँ, टाटा मुंबई मैराथन में वह सबसे तेज़ भारतीय महिला रहीं थीं और उनका स्कोर 1:15.37 था।

चौधरी के साथ संजीवनी जाधव (Sanjivani Jadhav), मोनिका अथारे (Monika Athare) और चिंता यादव (Chinta Yadav) भी इस ख़िताब को अपने नाम करने की कोशिश में नज़र आएंगी।

ग़ौरतलब है कि अथारे एयरटेल दिल्ली हाफ मैराथन 2016 की विजेता रह चुकीं हैं और साथ ही इसी साल जनवरी में हुए टाटा मुंबई हाफ मैराथन में उनके हाथ ब्रॉन्ज़ मेडल आया था।

चिंता यादव की बात की जाए तो 2019 ADHM में ब्रॉन्ज़ मेडल पर उन्होंने अपने नाम की मुहर लगाई थी और वह इस बार भी उसी जोश के साथ दौड़ती हुई नज़र आएंगी।

एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ़ इंडिया (Athletics Federation of India – AFI) के अध्यक्ष आदिल सुमरिवाला (Adille Sumariwalla) ने स्टेटमेंट में कहा “रोड रेसिंग में एयरटेल दिल्ली हाफ मैराथन ने हमेशा ही उच्च कोटि का बेंचमार्क सेट किया है। यह देखना दिलचस्प होगा कि श्रीनू बुगथा , पारुल चौधरी और बाकी के खिलाड़ी कैसे इस वर्ल्ड गोल्ड लेबल रोड रेस में देश को सम्मानित करते हैं।”

एंडामलाक बेलिहू (Andamlak Belihu) और सेहे गेमेचू (Tsehay Gemechu) जैसे अंतरराष्ट्रीय दिग्गजों के साथ दौड़ना भारतीय एथलीटों के लिए भी प्रेरणा का रूप है।”

इस प्रतियोगिता में लगभग 60 एथलीट हिस्सा लेंगे जिसमें भारतीय और अंतरराष्ट्रीय दोनों ही दिल्ली की सड़कों पर सपर्धा करते नज़र आएंगे। हमेशा की तरह शुरुआत और अंत जवाहरलाल नेहरु स्टेडियम (Jawaharlal Nehru Stadium) पर ही होगा।ध्यक्ष ं