टेस्ट इवेंट: जानें क्यों ओलंपिक से पहले टेस्ट इवेंट होते हैं?

आज से एक रोमांचक हॉकी ओलंपिक टेस्ट इवेंट की शुरुआत हो रही है। लेकिन क्या आप सही मायने में जानते हैं कि ओलंपिक टेस्ट इवेंट क्यों होते हैं? 

लेखक रितेश जायसवाल ·

सीधे शब्दों में कहें तो ओलंपिक खेलों से पहले आयोजित किए जाने वाली खेल प्रतियोगिताओं को टेस्ट इवेंट कहा जाता है। इनका मकसद खिलाड़ियों में खेल भावना जगाना होता है। सामान्य तौर पर यह प्रतियोगिताएं ओलंपिक खेलों के शुरू होने से एक वर्ष पहले कराई जाती हैं। इससे आयोजकों को देश को खेल की परिस्थितियों, बुनियादी ढ़ांचे और तैयारियों से जुड़े मुद्दों को जांचने और सुलझाने में भी मदद मिलती है। इसके साथ ही खिलाड़ियों को भी वहां के माहौल में ढ़लने का मौका मिल जाता है।

ओलंपिक 2020 टेस्ट इवेंट के लिए, मेज़बान देश ने अपना "रेडी स्टेडी टोक्यो" अभियान जुलाई 2019 में लांच कर दिया है। इसी क्रम में 17 अगस्त, 2019 से हॉकी टेस्ट इवेंट की शुरुआत होने जा रही है।  

इन प्रतियोगिताओं से खिलाड़ियों को क्वाड्रेनियल मल्टी-स्पोर्ट इवेंट से पहले अपनी खेल योजना बनाने और उससे पहले बची हुई तैयारियों को पूरा करने में मदद मिलेगी। साथ ही मेज़बान शहर को अग्रिम रूप से एक स्पष्ट दृष्टिकोण भी प्राप्त होता है।

यह पूरी प्रक्रिया अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) को ओलंपिक खेलों के शुरू होने से पहले स्टेडियम में रह गई कमियों को बेहतर करने और दूसरी व्यवस्थाओं में सुधार लाने के लिए बनाई गई है। आइए इसको और बारीकी से समझने की कोशिश करते हैं और इस बार होने जा रहे टेस्ट इवेंट्स पर एक नज़र डालते हैं।

मैराथॉन स्वीमिंग टेस्ट इवेंट के दौरान ओडैबा मरीन पार्क

ड्रेस रिहर्सल

टेस्ट इंवेट दोनों पक्षों के लिए लाभकारी होता है। दोनों पक्षों से हमारा तात्पर्य मेज़बान देश और प्रतिभागिता लेने जा रहे देशों से है। दरअसल, ओलंपिक के संभावित उम्मीदवारों को मेज़बान देश की खेल परिस्थितियों को समझने में मदद मिलती है। इसके साथ ही अपनी क्षमता का भी सही आंकलन कर पाते हैं।

वहीं मेज़बान देश इस दौरान अपना ड्रेस रिहर्सल भी करते हैं। इससे वह यह देखने की कोशिश करते हैं कि अगले साल होने वाले ओलंपिक खेलों के दौरान वास्तविकता में उनकी व्यवस्था कैसी होगी। ऐसे में अगर कोई कमी रह जाने पर उन्हें इसमें सुधार करने में मदद मिलती है। इसके अलावा वह इस दौरान के मानसून की अवस्था पर भी गौर कर पाते हैं।

टोक्यो 2020 से एक साल पहले

बीजिंग 2008, लंदन 2012 और रियो 2016 में टेस्ट इवेंट से मिली सफलता के बाद अब टोक्यो 2020 के लिए भी टेस्ट इवेंट की शुरुआत हो रही है। यहां 33 खेलों के आयोजन के लिए कुल 56 स्थानों या कहें स्टेडियम की व्यवस्था की गई है। इन टेस्ट इवेंट को "रेडी स्टेडी टोक्यो" अभियान के तहत शुरू किया गया है। ये अभी से शुरू होने के बाद मई 2020 तक चलेंगे। हॉकी टेस्ट इवेंट की बात करें तो ये 17 से 21 अगस्त तक चलेंगे।

सर्फिंग टेस्ट इवेंट में रेडी स्टेडी टोक्यो

टेस्ट इवेंट कार्यक्रम

इस साल ओलंपिक टेस्ट इवेंट की शुरुआत वेट लिफ्टिंग से हुई है। इसके बाद अन्य खेलों जैसे कि मॉडर्न पेंटाथलॉन, तीरंदाज़ी और साइकलिंग के इवेंट हुए। अभी हाल ही में अगस्त के दूसरे सप्ताह इक्वेस्टेरियन के इवेंट हुए। इसके बाद ओलंपिक के दिलचस्प खेल सर्फिंग के भी टेस्ट इवेंट हुए। सितम्बर में हमें कराटे, केनोई, पॉवर लिफ्टिंग और तैक्वांडो के टेस्ट इवेंट देखने को मिलेंगे।

वेटलिफ्टिंग टेस्ट इवेंट में चीन के मिनहाओ हुआंग

रेसलिंग, साइकलिंग और केनोई के मैच अक्टूबर 2019 तक खत्म होंगे। बाकी अन्य खेलों के टेस्ट इवेंट इसके बाद से शुरू होंगे और ऐसे ही समय के साथ एक-एक कर ये मार्च 2020 तक खत्म हो जाएंगे। कार्यक्रम की अधिक जानकारी के लिए आप जापान के "गाइड ऑफ द गेम्स" या फिर "टोक्यो 2020 वेबसाइट" पर जा सकते हैं।

events

23 Jul - 8 Aug 2021

टोक्यो 2020 | ओलंपिक गेम्स

जापान