बॉक्सर अमित पंघाल को ईरानी बॉक्सिंग लीग में भाग लेने के लिए मिला आमंत्रण  

मुक्केबाज पहले अपने उच्च-प्रदर्शन निदेशक सैंटियागो नीवा से परामर्श करने के बाद ही इसमें भागीदारी की पुष्टि करेंगे  

लेखक दिनेश चंद शर्मा ·

टोक्यो ओलंपिक में जाने वाले मुक्केबाज अमित पंघाल (Amit Panghal) को ईरानी बॉक्सिंग लीग में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया गया है। उनके चाचा राजनारायण पंघाल ने सोमवार को ANI को बताया कि अमित को ई-मेल के जरिए आमंत्रण पत्र मिला था।

पंघाल, कर्नाटक के बेल्लारी में कोच अनिल धनखड़ की देखरेख में राष्ट्रीय शिविर में प्रशिक्षण ले रहे हैं।

लीग 22 फरवरी से 5 मार्च तक ईरान की राजधानी तेहरान में होगी। प्रत्येक मुक्केबाज पांच मुकाबलों में भाग लेगा।

हालांकि, अपनी भागीदारी की पुष्टि करने से पहले पंघाल कोच धनखड़ और मुक्केबाजी में भारत के उच्च प्रदर्शन निदेशक सैंटियागो निवा के साथ परामर्श करेंगे।

भारतीय दल बुल्गारिया में स्ट्रैंड्जा मेमोरियल टूर्नामेंट में भाग लेने के लिए तैयार है। यह आमतौर पर यूरोप में सीजन-ओपनर के रूप में माना जाता है। इसका आयोजन 21 से 28 फरवरी तक सोफिया में होगा।

अमित पंघल का मानना है कि टोक्यो 2020 में भारत 5 से 6 मेडल जीत सकता है। 

जर्मनी के अर्गिश्ती टेरेटियन के वॉकओवर देने के बाद पंघाल ने कोलोन विश्व कप में स्वर्ण पदक जीता।

उन्होंने अम्मान, जॉर्डन में एशियाई मुक्केबाजी ओलंपिक क्वालीफायर में 52 किग्रा वर्ग में 4-1 के विभाजित फैसले में फिलीपींस के कार्लो पालम को मात देते हुए टोक्यो के लिए क्वालीफाई किया।

भारतीय मुक्केबाज ने पहले राउंड में ही आक्रामक रुख अपना लिया था और दूसरे राउंड में आक्रामकता जारी रखते हुए जीत के लिए बढत बनाई और सेमीफाइनल में पहुंचने के लिए लगातार जवाबी मुक्के बरसाये। 

ओलंपिक की तैयारियों के हिस्से के रूप में भारतीय दल इटली के असीसी के ओलंपिक केंद्र में प्रशिक्षण लिया था। दो टूर्नामेंटों में भी भाग लिया- नैनटेस, फ्रांस में एलेक्सिस वास्टीन अंतर्राष्ट्रीय मुक्केबाजी टूर्नामेंट और 2020 में जर्मनी का कोलोन बॉक्सिंग विश्व कप।