अंकिता रैना और कामिला राखीमोवा ने जीता फिलिप आईलैंड WTA ट्रॉफी का युगल खिताब

सानिया मिर्जा के बाद WTA ट्रॉफी जीतने वाली रैना दूसरी भारतीय महिला टेनिस खिलाड़ी बनीं

लेखक दिनेश चंद शर्मा ·

मेलबर्न में शुक्रवार को सुबह, 1573 एरीना में आयोजित फिलिप आईलैंड WTA ट्रॉफी के फाइनल में अंकिता रैना (Ankita Raina) और कामिला राखीमोवा (Kamila Rakhimova) ने अन्ना ब्लिंकोवा (Anna Blinkova) और अनास्तासिया पोतापोवा (Anastasia Potapova) की जोडी द्वारा दी गई कड़ी चुनौती का मुकाबला करते हुए जीत दर्ज की।

WTA 250 इवेंट के एक सेट में पिछड़ने के बाद उन्होंने वापसी करते हुए रूसी जोड़ी को 2-6, 6-4, 10-7 से मात दी।

ब्लिंकोवा और पोतापोवा ने पहले सेट में तेजी से शुरुआत की और इसका फायदा उठाते हुए पांच ब्रेक पॉइंट जुटाए।

हालांकि, पहले सेट की कमी को दूर करते हुए दूसरे सेट में रैना और उनकी जोड़ीदार ने बढ़त बनाई। उन्होंने अच्छा मुकाबला किया और मैच को बराबरी पर लाने के लिए एक महत्वपूर्ण ब्रेक प्वाइंट बदल दिया। यह पहला सेट था जिसके कारण रूसी जोड़ी पूरे टूर्नामेंट में नीचे पहुंच गई थी।

अनुभवी भारतीय टेनिस खिलाड़ी और राखीमोवा ने मैच टाई-ब्रेक में लय हासिल करते हुए एक घंटा और 23 मिनट में मुकाबला जीत कर ट्रॉफी अपने नाम की। क्योंकि उनके प्रतिद्वंदियों ने उनकी सर्विस में दोहरी गलती की।

कोरोना महामारी के ब्रेक के बाद रैना अच्छी फॉर्म में हैं। उन्होंने जोडीदार एकातेरिन गोर्गोदेज़ (Ekaterine Gorgodoze) के साथ मुकाबला करते हुए दुबई में आयोजित 2020 अल हैबटूर टेनिस चैलेंज में ITF डबल्स का खिताब जीता। यूएई में मिली जीत ने उन्हें युगल में करियर की सर्वश्रेष्ठ रैंकिंग 117वें स्थान पर पहुंचा दिया। 

उसने नए साल में अपनी समृद्ध रूप रेखा को भी आगे बढ़ाया। वह ऑस्ट्रेलियन ओपन के अंतिम क्वालीफाइंग दौर में बाहर होने के बाद मेलबर्न जाने वाली 12 लकी लूजर में से एक थीं।

हालांकि रैना सिंगल्स में कोटा हासिल करने से चूक गई। उन्होंने युगल में अपना ग्रैंड स्लैम मुख्य ड्रॉ पदार्पण किया। निरूपमा मांकड़, निरुपमा संजीव और सानिया मिर्जा के बाद ऐसा करने वालीं रैना चौथी भारतीय महिला बनीं।

फिलिप आईलैंड ट्रॉफी में जीत के साथ वह, सानिया मिर्जा के बाद WTA खिताब जीतने वाली दूसरी भारतीय महिला टेनिस खिलाड़ी बन गईं हैं।

इसके साथ ही उनके युगल रैंकिंग में शीर्ष 100 में भी पहुंचने की संभावना है, जो सानिया मिर्जा और अमेरिका की शिखा उबरोई के बाद यह उपलब्धि हासिल करने वाली तीसरी भारतीय महिला होंगी।