एशिया कप से बाहर होने के बाद भारतीय तीरंदाज़ों की ओलंपिक तैयारी को लगा झटका 

आर्चरी एसोसिएशन ऑफ इंडिया (Archery Association of India) ने साफ कर दिया है कि कोरोना वायरस के कारण भारतीय तीरंदाज़ थाईलैंड में होने वाले एशिया कप में हिस्सा नहीं लेंगे।

आर्चरी एसोसिएशन ऑफ इंडिया ने गुरुवार को ऐलान कर दिया है कि तीरंदाज़ी टीम बैंकाक में आगामी एशिया कप विश्व रैंकिंग टूर्नामेंट (Asia Cup world ranking tournament) में हिस्सा नहीं लेगी। यह टूर्नामेंट 8 मार्च से 15 मार्च तक के बीच होने वाला है। एसोसिएशन ने ये फैसला कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे के कारण लिया है।

सेशन के पहले टूर्नामेंट का आयोजन थाईलैंड की राजधानी में होना है और ये भारत का निलंबन खत्म होने के बाद पहला इंटरनेशनल टूर्नामेंट था। ये निलंबन एएआई के चुनाव प्रक्रिया में गड़बड़ी के कारण लगाया गया था।

एएआई के सहायक सचिव गुंजन अबरोल (Gunjan Abrol) ने विश्व तीरंदाज़ी कमेटी के महासचिव टॉम डिलेन (Tom Dielen) को पत्र लिखकर सूचित किया, "हमने ये फैसला कोरोना वायरस के कारण वर्तमान स्थिति की समीक्षा करने और एसएआई और आईओसी द्वारा जारी यात्रा सलाह को ध्यान में रखने के बाद किया है।”

दीपिका कुमारी एकमात्र भारतीय महिला तीरंदाज़ हैं जिन्होंने टोक्यो 2020 के लिए कोटा हासिल किया है।
दीपिका कुमारी एकमात्र भारतीय महिला तीरंदाज़ हैं जिन्होंने टोक्यो 2020 के लिए कोटा हासिल किया है।दीपिका कुमारी एकमात्र भारतीय महिला तीरंदाज़ हैं जिन्होंने टोक्यो 2020 के लिए कोटा हासिल किया है।

इसके अलावा गुंजन अबरोल ने लिखा, “भारतीय तीरंदाज़ी संघ अपने खिलाड़ियों के स्वास्थ्य के लिए चिंतित है और हम कोई जोखिम नहीं लेना चाहते हैं। इसलिए हमने यह फैसला किया है कि हम 8 से 15 मार्च तक होने वाली एशिया कप स्टेज 1 वर्ल्ड रैंकिंग तीरंदाजी टूर्नामेंट में हिस्सा नहीं लेंगे।

इससे पहले भारत ने फैसला किया था कि वह टूर्नामेंट में अपनी दोयम दर्जे की टीम भेजेगा लेकिन इसके बाद उन्होंने साई (SAI) की सलाह के बाद अपना फैसला बदल दिया।

गुंजन अबरोल ने कहा, “जैसा कि आप जानते हैं कि एएआई हमेशा बैंकॉक में होने वाली प्रतियोगिता में अपनी टीम भेजता है और हम इस बार भी इस टूर्नामेंट में हिस्सा लेना चाहते थे। हमने 7 मार्च को उड़ान भरने की व्यवस्था की थी लेकिन दुर्भाग्य से हम अपनी इच्छा के खिलाफ यह कठोर निर्णय लेने के लिए मजबूर हैं।"

इस टूर्नामेंट से अपना नाम वापस लेने के बाद भारतीय तीरंदाज़ी टीम को, और व्यक्तिगत तौर पर हर एक खिलाड़ी को टोक्यो ओलंपिक के लिए होने वाले क्वालिफ़ाइंग टूर्नामेंट की तैयारियों में बड़ा झटका लगा है, जो बर्लिन में 22 से 28 जून तक होने हैं। आपको बता दें, आर्चरी के इस खेल में किसी देश की एक टीम या व्यक्तिगत तौर पर भी खिलाड़ी 2020 ओलंपिक खेलों के लिए क्वालिफाई कर सकते हैं।

अब तक 4 भारतीय तीरंदाज़ों ने ओलंपिक में अपना स्थान पक्का कर लिया है, जिनमें तरुणदीप राय (Tarundeep Rai), अतानु दास (Atanu Das) और प्रवीण जाधव (Pravin Jadhav) शामिल है। वहीं महिलाओं में केवल दीपिका कुमारी (Deepika Kumari) ही अब तक अपनी जगह बना सकी हैं।

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!