हार के मुंह से जीत छीनते हुए वर्ल्ड नंबर-1 अमित पंघल ने बनाई क्वार्टरफ़ाइनल में जगह

पांचवें दिन भारत ने एशियन बॉक्सिंग क्वालिफ़ायर्स में जीत से की शुरुआत

वर्ल्ड नंबर-1 रैंक मुक्केबाज़ अमित पंघल (Amit Panghal) ने फ़्लाईवेट (48-52 किग्रा) कैटेगिरी में क्वार्टरफ़ाइनल में जगह बना ली है। शनिवार को जॉर्डन के अम्मान में एशियन बॉक्सिंग क्वालिफ़ायर्स में उन्होंने अपने प्रारंभिक बाऊट में मंगोलियाई मुक्केबाज़ एनखमनदख खार्खू (Enkhmanadakh Kharkhuu) को शिकस्त दी।

एक ऐसी लड़ाई देखने को मिली जहां दोनों ही मुक्केबाज़ कभी ऊपर तो कभी नीचे दिख रहे थे, अमित पंघल ने दूसरे और तीसरे राउंड में कमाल का खेल दिखाते हुए 3-2 (Split Decision) से जीत दर्ज की।

बेहद फुर्तीले दिखे अमित पंघल

पहले राउंड में अमित पंघल की चपलता और फुर्ती का मंगोलियाई मुक्केबाज़ के पास कोई जवाब नहीं था। शुरुआत में ही भारतीय मुक्केबाज़ ने खार्खू पर कुछ अच्छे और सटीर प्रहार करते हुए महत्वपूर्ण अंक ले लिए थे।

अपने प्रतिद्वंदी के ख़िलाफ़ अमित ने कई बार लेफ़्ट क्रॉस काउंट किया, खार्खू ने भी इस रणनीति को अपनाने की कोशिश की थी।

और फिर कुछ बेहतरीन दाएं और बाएं हाथ के जैब्स के मिश्रण के साथ अमित पंघल ने पहल राउंड 4-1 से अपने नाम कर लिया।

दूसरे राउंड में आया बदलाव

अमित पंघल ने दूसरे राउंड की शुरुआत भी पहले की ही तरह की थी, रिंग में उनके मूवमेंट देखने लायक़ थे।

खार्खू लगातार ख़ुद को पंघल के प्रहार वाले रेंज से हटा रहे थे, और इस दौरान मंगोलियाई मुक्केबाज़ ने कई घूंसे भी लगाए लेकिन किसी का भी निशाना सटीक नहीं रहा।

हालांकि एक बार मंगोलियाई मुक्केबाज़ ने अमित पंघल के माउथगार्ड पर वार किया, जिसके बाद भारतीय मुक्केबाज़ को एक मिनट और 32 सेकंड्स का टाइमआउट लेना पड़ा।

अमित पंघल पर थकान नज़र आ रही थी

इसके बाद पंघल थके हुए नज़र आ रहे थे, कई बार उनके हाथ रस्सियों पर थे और चेहरे पर थकान झलक रही थी।

टाइमआउट के बाद पंघल ने दाएं हुक का अच्छा इस्तेमाल किया और कुछ अच्छे प्रहार भी किए जो बिल्कुल सटीक बैठे। लेकिन जजों ने दूसरा राउंड 3-2 से मंगोलियाई मुक्केबाज़ के पक्ष में दिया।

हार के मुंह से पंघल ने छीनी जीत

तीसरे राउंड में पंघल के फ़ॉर्म बहुत बड़ा अंतर नज़र आया, तेज़ मूवमेंट और रफ़्तार वाले पंच अब पंघल से नहीं दिख रहे थे बल्कि वह रक्षात्मक रवैया अपना रहे थे।

जिसका फ़ायदा उठाते हुए खार्खू ने आक्रमण तेज़ कर दिया था, इसर राउंड में एक बार तो मंगोलिआई मुक्केबाज़ के राइट क्रॉस पर पंघल नीचे गिर गए थे।

इसके बाद एक बार फिर खार्खू ने कमाल का आक्रामक खेल दिखाते हुए एक बार फिर पंघल को गिरा दिया था।

अब लड़ाई ख़त्म होने के कगार पर थी, और दोनों ही मुक्केबाज़ों की शारीरिक भाषा से लग रहा था कि जीत खार्खू की होगी, लेकिन जैसे ही जजों ने फ़ैसला सुनिया मंगोलियाई मुक्केबाज़ चौंक गए थे क्योंकि 3-2 से जीत अमित पंघल की हो गई थी।

जीत के बाद ओलंपिक चैनल से बात करते हुए अमित पंघल ने कहा, ‘’ये बेहद क़रीबी मुक़ाबला था, और इनसे इससे पहले भी एक बार मैं हार चुका था। लिहाज़ा मैं नर्वस भी था, लेकिन कोच के साथ जो मैंने रणनीति बनाई थी, उसी पर ध्यान दे रहा था, जो काम आ गई।‘’

भारत के लिए अगली चुनौती ?

गौरव सोलंकी (Gaurav Solanki) भी एक और भारतीय होंगे जो शनिवार को रिंग में उतरेंगे, उन्होंने पहले राउंड में अकिलबेक एसेनबेक ऊलू (Akylbek Esenbek Uulu) को शिकस्त दी थी। दूसरे दौर में उनके सामने उज़बेकिस्तान के टॉप सीडेड मिराज़िज़बेक मिर्ज़ाखालिलोव (Mirazizbek Mirzakhalilov) की चुनौती होगी।

शाम के सत्र में छ: बार की वर्ल्ड चैंपियन मैरी कॉम को उनकी कैटेगिरी में दूसरी वरीयता हासिल है, और उनका सामना न्यूज़ीलैंड की बेनी टेसमिन (Benny Tasmyn) के ख़िलाफ़ पहले राउंड के मैच में होगा। मैरी कॉम को टोक्यो 2020 का सफ़र तय करने के लिए बस दो जीतों की दरकार है, अगर ऐसा हो गया तो मैरी कॉम का ये अंतिम ओलंपिक होगा।

कब और कहां देख सकते हैं बॉक्सिंग ओलंपिक क्वालिफ़ायर ?

आप एशिया/ओशियिना बॉक्सिंग क्वालिफ़िकेशन का सीधा प्रसारण एक्सक्लूसिव तौर पर ओलंपिक चैनल पर देख सकते हैं, साथ ही हमारे फ़ेसबुक पेज पर भी इसका आनंद उठा सकते हैं। सुबह के सत्र की शुरुआत भारतीय समयनुसार दोपहर 1.30 बजे से होती है, जबकि शाम का सत्र भारतीय समयनुसार 8.30 बजे से प्रस्तावित है।

साथ ही साथ आप ओलंपिक चैनल पर रोज़ाना इंग्लिश और हिन्दी में लाइव ब्लॉग के ज़रिए भी सारे मुक़ाबलों से रु-ब-रु हो सकते हैं।

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!