एशियन ओलंपिक क्वालिफ़ायर्स में मौजूदा वर्ल्ड चैंपियन से हारकर बाहर हुए गौरव सोलंकी

मौजूदा वर्ल्ड चैंपियन को गौरव ने कड़ी टक्कर तो दी, लेकिन ये उनके लिए काफ़ी नहीं रही

हार न मानने का जज़्बा और बेहतरीन वापसी के बावजूद शनिवार को एशियन बॉक्सिंग ओलंपिक क्वालिफ़ायर्स में गौरव सोलंकी (Gaurav Solanki) को मौजूदा वर्ल्ड चैंपियन से हारकर बाहर होना पड़ा। राउंड ऑफ़ 16 के मुक़ाबले में उन्हें उज़बेकिस्तान के मिराज़िज़बेक मिर्ज़ाखालिलोव (Mirazizbek Mirzakhalilov) ने मात दी।

इससे पहले फ़रीदाबाद के इस मुक्केबाज़ ने राउंड ऑफ़ 32 में एकिलबेक एसेनबेक ऊलू को मात देकर यहां तक पहुंचे थे, शनिवार को इस हार के साथ ही अब उन्हें ओलंपिक के लिए क्वालिफ़ाई करने के लिए पेरिस में होने वाले वर्ल्ड क्वालिफ़ायर का इंतज़ार करना होगा।

रोमांचक मुक़ाबला और बेहतरीन वापसी

पहले राउंड में दोनों ही मुक्केबाज़ों की तरफ़ से कुछ बेहतरीन शारीरिक पंच देखने को मिले। गौरव सोलंकी भी ज़ोरदार प्रदर्शन करते हुए एक उम्मीद जगा चुके थे, लेकिन उज़्बेकिस्तानी मुक्केबाज़ का प्रहार गौरव से कहीं ज़्यादा सटीक रह और पहले राउंड में उन्होंने एकपक्षीय फ़ैसले के साथ बढ़त बना ली।

दूसरे राउंड में भारतीय मुक्केबाज़ ने अपने गार्ड मजबूत करते हुए मिर्ज़ाखालिलोव के पंचों का अच्छा बचाव किया। इस दौरान उज़्बेकिस्तान के मुक्केबाज़ में उतावलापन भी नज़र आया और लड़ाई के बीच में दो बार रेफ़री को क्लिंच में जा रहे दोनों मुक्केबाज़ों को अलग करना पड़ा।

छुपे रूस्तम गौरव सोलंकी ने इसका फ़ायदा उठाते हुए दाएं हाथ के पंच के साथ मिर्ज़ाखालिलोव को बिल्कुल रस्सी की तरफ़ धकेल दिया और इसी प्रहार को लगातार जारी रखते हुए गौरव सोलंकी ने दूसरा राउंड 4-1 के स्प्लिट निर्णय से अपने नाम करते हुए राउंड में 1-1 से बराबरी हासिल कर ली।

आख़िरी बाज़ी हार गए गौरव

तीसरे और फ़ाइनल राउंड में दोनों ही मुक्केबाज़ 19-19 अंकों के साथ रिंग में उतरे थे, यानी मुक़ाबला बराबरी का रहा, लेकिन उज़्बेकिस्तानी मुक्केबाज़ अपने अनुभव का फ़ायदा उठाते हुए तीसरे राउंड में पूरी तरह गौरव पर हावी हो गए। उन्होंने कई शानदार लेफ़्ट अपरकट और जैब्स के साथ गौरव पर ज़ोरदार प्रहार किया।

हालांकि गौरव सोलंकी ने भी कुछ बेहतरीन हुक के साथ वापसी करने की कोशिश की, लेकिन तब तक देर हो चुकी थी और मिर्ज़ाखालिलोव ने आख़िरी बाज़ी 4-1 (Split Decision) से जीतते हुए गौरव सोलंकी का सफ़र रोक दिया।

बाऊट के बाद ओलंपिक चैनल से बातचीत करते हुए गौरव सोलंकी ने कहा, “मैं अपने प्रतिद्वंदी को बस एक दूसरे प्रतिभागी की तरह देख रहा था, और मैंने उसी हिसाब से अपना खेल खेला।”

अब गौरव सोलंकी के पास 2020 ओलंपिक में जगह बनाने का एकमात्र और आख़िरी रास्ता पेरिस में 13 से 24 मई के बीच होने वाले वर्ल्ड क्वालिफ़ायर के ज़रिए होगा।

अब सभी की निगाहें एमसी मैरी कॉम पर

शाम के सत्र में छ: बार की वर्ल्ड चैंपियन मैरी कॉम को उनकी कैटेगिरी में दूसरी वरीयता हासिल है, और उनका सामना न्यूज़ीलैंड की बेनी टेसमिन (Benny Tasmyn) के ख़िलाफ़ पहले राउंड के मैच में होगा। मैरी कॉम को टोक्यो 2020 का सफ़र तय करने के लिए बस दो जीतों की दरकार है, अगर ऐसा हो गया तो मैरी कॉम का ये अंतिम ओलंपिक होगा।

कब और कहां देख सकते हैं बॉक्सिंग ओलंपिक क्वालिफ़ायर ?

आप एशिया/ओशियिना बॉक्सिंग क्वालिफ़िकेशन का सीधा प्रसारण एक्सक्लूसिव तौर पर ओलंपिक चैनल पर देख सकते हैं, साथ ही हमारे फ़ेसबुक पेज पर भी इसका आनंद उठा सकते हैं। सुबह के सत्र की शुरुआत भारतीय समयनुसार दोपहर 2:30 बजे से होती है, जबकि शाम का सत्र भारतीय समयनुसार 8:30 बजे से प्रस्तावित है।

साथ ही साथ आप ओलंपिक चैनल पर रोज़ाना इंग्लिश और हिन्दी में लाइव ब्लॉग के ज़रिए भी सारे मुक़ाबलों से रु-ब-रु हो सकते हैं।

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!