अमित पंघल ने ज़ोरदार पंच के साथ हासिल किया टोक्यो 2020 का टिकट

साक्षी चौधरी और मनीष कौशिक के तौर पर दो और भारतीय मुक्केबाज़ों को सुबह के सत्र में मिली हार

सोमवार को जॉर्डन की राजधानी अम्मान में एशियन/ओशिनिया बॉक्सिंग क्वालिफ़ायर्स के सातवें दिन वर्ल्ड नंबर-1 मुक्केबाज़ अमित पंघल (Amit Panghal) ने 4-1 के स्पिलिट निर्णय (Split Decision) के साथ क्वार्टरफ़ाइनल में जीत दर्ज की, जिसने उन्हें 2020 ओलंपिक का टिकट भी दिला दिया।

पहले राउंड में अमित को हार मिली थी लेकिन उसके बाद वापसी करते हुए उन्होंने अगले दो राउंड में धमाकेदार प्रदर्शन करते हुए सेमीफ़ाइनल में प्रवेश कर लिया।

जीत के बाद ओलंपिक चैनल से बात करते हुए अमित पंघल ने कहा, ‘’हमने ये टिकट एक साथ हासिल की है, मैं इसके लिए अपने कोच और उन तमाम लोगों का शुक्रिया अदा करता हूं जिन्होंने मेरा समर्थन किया था। बिना कोच के साथ और मेरी कड़ी मेहनत के ये संभव नहीं हो पाता, अकेले एक खिलाड़ी के लिए ये मुमकिन नहीं होता।‘’

सेमीफ़ाइनल में भारतीय मुक्केबाज़ के सामने जियांगुआन हू (Jianguan Hu) की चुनौती होगी।

सोमवार को सुबह के सत्र में दो और भारतीय मुक्केबाज़ों के पास भी ओलंपिक का टिकट लेने का मौक़ा था, लेकिन वूमेंस फ़ेदरवेट कैटेगिरी में जहां साक्षी चौधरी (Sakshi Chaudary) को एकपक्षीय फ़ैसले से हार का शिकार होना पड़ा तो एक और क्वार्टरफ़ाइनल में मनीष कौशिक (Manish Kaushik) को भी 2-3 से (Split Decision) हार नसीब हुई।

अमित पंघल ने अपने पहले ओलंपिक यानी टोक्यो 2020 के लिए किया क्वालिफ़ाई
अमित पंघल ने अपने पहले ओलंपिक यानी टोक्यो 2020 के लिए किया क्वालिफ़ाईअमित पंघल ने अपने पहले ओलंपिक यानी टोक्यो 2020 के लिए किया क्वालिफ़ाई

पहली बार ओलंपिक में पहुंचे अमित पंघल

वर्ल्ड नंबर एक अमित पंघल और फ़िलिपींस के कार्लो पालम (Carlo Paalam) के बीच बेहद रोमांचक बाऊट देखने को मिली, जिसका फ़ैसला किसी भी पक्ष में जा सकता था।

पहला राउंड इतना धमाकेदार था कि कहना मुश्किल था कि विजेता कौन होगा, हालांकि जजों ने 3-2 से कार्लो पालम के पक्ष में फ़ैसला सुनाया।

अब दबाव अमित पंघल पर साफ़ झलक रहा था, लेकिन अमित ने अपने काउंटर पंचों के ज़रिए बेहतरीन आक्रामक रवैया अपनाया और दूसरा राउंड 4-1 से जीतते हुए बाऊट में रोमांच बनाए रखा।

तीसरे और आख़िरी राउंड में भारतीय मुक्केबाज़ ने ज़बरदस्त प्रहार करते हुए जजों को एक बार फिर 4-1 से उनके पक्ष में फ़ैसला देने पर मजबूर कर दिया, और इस तरह से स्पिलिट निर्णय के ज़रिए अमित ने सेमीफ़ाइनल और टोक्यो 2020 का टिकट हासिल कर लिया।

एशियन बॉक्सिंग ओलंपिक क्वालिफ़ायर्स से साक्षी चौधरी बाहर

बात अगर वूमेंस मुब्बेकाज़ की करें तो साक्षी चौधरी को दक्षिण कोरियाई एइजी इम (Aeji Im) से हार का सामना करना पड़ा।

पहले राउंड में दक्षिण कोरिया की मुक्केबाज़ ने साक्षी पर पंचों के ज़ोरदार प्रहार किए और 4-1 से जीत दर्ज की।

दूसरे राउंड में साक्षी ने वापसी की कोशिश ज़रूर की, लेकिन फ़ेदरवेट के इस मुक़ाबले में एइजी इम एक बार फिर साक्षी पर हावीं दिखीं और इस बार तो 5-0 से जीत दर्ज करते हुए साक्षी के लिए क़रीब क़रीब सफ़र रोक ही दिया था।

दो राउंड में हार के बाद साक्षी तीसरे राउंड में हिम्मत हार चुकीं थीं, और वह रिंग में भी दिख रहा था, लिहाज़ा एइजी ने ये राउंड भी जीतते हुए एकपक्षीय फैसले से बाऊट अपने नाम कर ली।

साक्षी चौधरी के लिए इस श्रेणी में बॉक्स ऑफ़ नहीं है, लिहाज़ा अब उनका सफ़र यहीं ख़त्म हो गया। उनके पास अब ओलंपिक का टिकट हासिल करने के लिए मई में पेरिस में होने वाले वर्ल्ड क्वालिफ़ायर में अपनी क़िस्मत आज़माना होगा।

एशियन बॉक्सिंग ओलंपिक क्वालिफ़ायर्स के क्वार्टरफ़ाइनल में साक्षी चौधरी को मिली हार
एशियन बॉक्सिंग ओलंपिक क्वालिफ़ायर्स के क्वार्टरफ़ाइनल में साक्षी चौधरी को मिली हारएशियन बॉक्सिंग ओलंपिक क्वालिफ़ायर्स के क्वार्टरफ़ाइनल में साक्षी चौधरी को मिली हार

हार के बाद मनीष कौशिक के पास बॉक्स ऑफ़ का सहारा

भारतीय पुरुष लाइटवेट मुक्केबाज़ मनीष कौशिक के सामने तीसरी वरीयता प्राप्त चिनज़ोरीग बातरसुख (Chinzorig Baatarsukh) की चुनौती थी।

मंगोलियाई मुक्केबाज़ ने पहले ही राउंड में धमाकेदार प्रदर्शन के साथ मनीष पर दबाव डालना शुरू कर दिया था। चिनज़ोरीग ने तेज़ तर्रार राइट और लेफ़्ट हुक्स के साथ मनीष को बैकफ़ुट पर धकेल दिया था।

हालांकि मनीष कौशिक यहां से कमाल का पलटवार करते हुए मंगोलियाई मुक्केबाज़ पर हावी हो गए और पहला राउंड 4-1 से जीत लिया।

दूसरे राउंड में चिनज़ोरीग अपनी रणनीति में बदलाव लाए और अब वह एक के बाद एक ताक़तवर बॉडी शॉट्स खेल रहे थे। हालांकि मनीष ने भी इस राउंड में पलटवार करने की कोशिश की लेकिन वह नाकाम रहे और जजों ने 5-0 का एकपक्षीय फ़ैसला मंगोलियाई मुक्केबाज़ के पक्ष में दिया।

तीसरे और आख़िरी राउंड में एक बार फिर लड़ाई कांटे की थी, और दोनों ही मुक्केबाज़ एक दूसरे पर कड़े प्रहार कर रहे थे, लेकिन यहां भी मंगोलियन मुक्केबाज़ ने बेहतरीन लेफ़्ट जैब के साथ जजों को अपने पक्ष में 3-2 (Split Decision) से फ़ैसला सुनाने के लिए मजबूर किया।

मनीष कौशिक के पास इस हार के बावजूद बॉक्स ऑफ़ के ज़रिए अभी भी टोक्यो 2020 के लिए क्वालिफ़ाई करने का मौक़ा बचा है।

कब और कहां देख सकते हैं बॉक्सिंग ओलंपिक क्वालिफ़ायर ?

आप एशिया/ओशिनिया बॉक्सिंग क्वालिफ़िकेशन का सीधा प्रसारण एक्सक्लूसिव तौर पर ओलंपिक चैनल पर देख सकते हैं, साथ ही हमारे फ़ेसबुक पेज पर भी इसका आनंद उठा सकते हैं। सुबह के सत्र की शुरुआत भारतीय समयनुसार दोपहर 2.30 बजे से होती है, जबकि शाम का सत्र भारतीय समयनुसार 8.30 बजे से प्रस्तावित है।

साथ ही साथ आप ओलंपिक चैनल पर रोज़ाना इंग्लिश और हिन्दी में लाइव ब्लॉग के ज़रिए भी सारे मुक़ाबलों से रु-ब-रु हो सकते हैं।

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!