लवलीना, आशीष और सतीश ने हासिल किया टोक्यो 2020 का टिकट

एशियन बॉक्सिंग ओलंपिक क्वालिफ़ायर्स में छठे दिन छ: में से पांच भारतीय मुक्केबाज़ों ने बनाई टोक्यो ओलंपिक में जगह।

लेखक सैयद हुसैन ·

रविवार को जॉर्डन के अम्मान में जारी एशिया/ओशिनिया ओलंपिक बॉक्सिंग क्वालिफ़ायर्स के छठे दिन का शाम का सत्र भारतीय मुक्केबाज़ों के नाम रहा, जहां लवलीना बोर्गोहेन (Lovlina Borgohain), आशीष कुमार (Ashish Kumar) और सतीश कुमार (Satish Kumar)ने अपने अपने भारवर्ग में जीत के साथ टोक्यो 2020 का टिकेट हासिल कर लिया।

लवलीना बोर्गोहेन ने अपने बाउट के सभी राउंड जीतते हुए एकपक्षीय फ़ैसले (5-0) से विजेता रहीं, तो आशीष कुमार ने धीमी शुरुआत के बाद वापसी की और अपने प्रतिद्वंदी को मात दी।

लेकिन भारत के लिए दिन का सबसे दमदार प्रदर्शन रहा सतीश कुमार का, जिन्होंने अपनी बाउट की शुरुआत से ही वर्चस्व बना लिया था और मुक़ाबला जीतते हुए सुपर हेवीवेट कैटेगिरी से ओलंपिक का टिकट हासिल करने वाले अब तक के पहले भारतीय बन गए।

लवलीना बोरगोहेन ने एशियन बॉक्सिंग क्वालिफ़ायर्स के क्वार्टरफ़ाइल मुक़ाबले में जीत के साथ टोक्यो 2020 में बनाई जगह

टोक्यो 2020 में जगह बनाने वाली लवलीना दूसरी भारतीय महिला

शाम के सत्र में भारत की ओर से सबसे पहले रिंग में दूसरी वरीयता हासिल लवलीना बोर्गोहेन आईं, जिनके सामने उज़बेकिस्तान की मफ़्तुनाख़ोन मेलीवा (Maftunakhon Melieva) की चुनौती थी।

लंबी क़द की वेल्टरवेट भारतीय मुक्केबाज़ ने पहले ही राउंड से अपना दमदार प्रदर्शन जारी रखा था।

लवलीना के ज़ोरदार जैब्स का जवाब मेलीवा के पास नहीं था और पहला राउंड एकतरफ़ा अंदाज़ में लवलीना ने अपने नाम कर लिया था।

दूसरे राउंड में हालांकि उज़बेकिस्तानी मुक्केबाज़ ने वापसी करने की कोशिश की लेकिन लवलीना ने ये राउंड भी 4-1 से जीतते हुए मेलीवा के लिए मुश्किलें खड़ी कर दीं थीं।

आख़िरी राउंड में भी मुक़ाबला रोमांचक दिखा, लेकिन एक बार फिर जजों का एकपक्षीय फ़ैसला लवलीना के पक्ष में गया और इस तरह से उन्होंने बाउट जीतने के साथ ही सेमीफ़ाइनल में प्रवेश कर लिया और टोक्यो 2020 का टिकट भी हासिल कर लिया।

सेमीफ़ाइनल में लवलीना का सामना हांग गो (Hong Gu) से होगा, मैच के बाद उन्होंने ओलंपिक चैनल से बातचीत में कहा, "मैं बहुत ख़ुश हूं कि मैंने ओलंपिक के लिए क्वालिफ़ाई कर लिया है, मैंने इसके लिए बहुत मेहनत की थी और जब नतीजा मेरे पक्ष में आया तो मैं बहुत ख़ुश हूं।"

"टोक्यो 2020 का मेरा सपना अब सच होने जा रहा है, और मुझे पूरा विश्वास है कि मैं देश के लिए स्वर्ण पदक जीतूंगी।"

लवलीना बोरगोहेन एशियन बॉक्सिंग क्वालिफ़ायर्स के क्वार्टरफ़ाइल मुक़ाबले में जीत के बाद टोक्यो की टिकट के साथ

आशीष ने अपनी जीत दिवंगत पिता को की समर्पित

आशीष कुमार और उनके इंडोनेशियाई प्रतिद्वंदी माइखेल मुस्किता (Maikhel Muskita) के बीच पहला राउंड बेहद कांटे का रहा, जहां दोनों ही मुक्केबाज़ एक दूसरे पर हावी होने के लिए एड़ी चोटी का ज़ोर लगाते नज़र आए।

हालांकि जजों ने पहले राउंड का नतीजा 4-1 से भारतीय मुक्केबाज़ के पक्ष में दिया।

दूसरे राउंड में आशीष एक बार फिर आक्रामक रवैया अख़्तियार किए हुए थे, और उन्होंने इस राउंड को पहले की तुलना में ज़्यादा एकतरफ़ा बनाते हुए 5-0 से अपने नाम किया।

तीसरा और आख़िरी राउंड एक बार फिर रोमांचक हो गया था, माइखेल मुस्किता अब लगातार प्रहार किए जा रहे थे, लेकिन आशीष कुमार भी विश्वास के साथ ख़ुद को बचा रहे थे।

भारतीय मिडिलवेट मुक्केबाज़ ने भी कुछ ज़ोरदार बॉडी शॉट्स का इस्तेमाल किया और जब बाऊट ख़त्म होने की घंटी बजी तो जजों ने एकपक्षीय फ़ैसले के साथ आशीष कुमार को विजेता घोषित किया।

जीत के साथ टोक्यो का टिकट हासिल करने वाले आशीष कुमार ने ओलंपिक चैनल से कहा, "मैं बहुत अच्छा महसूस कर रहा हूं, और मैंने जो भी पाया है उसे अपने स्वर्गीय पिता जी को समर्पित कर रहा हूं। क्योंकि वह आज से एक महीने पहले हम सब को छोड़ कर चले गए। उनका ख़्वाब था कि मुझे ओलंपिक में खेलता हुआ देखें, लिहाज़ा मैंने जो भी पाया है सब उनको समर्पित है।"

सेमीफ़ाइनल मुक़ाबले आशीष कुमार के सामने एयुमिर मार्शल (Eumir Marcial) की चुनौती होगी।

सतीश कुमार ने रचा इतिहास

चौथी वरीयता प्राप्त सतीश कुमार एशियन बॉक्सिंग क्वालिफ़ायर्स के छठे दिन पांचवें मुक्केबाज़ बन गए जिन्होंने टोक्यो 2020 में अपना स्थान पक्का किया है।

सुपर-हेवीवेट कैटेगिरी में उन्होंने मंगोलिया के ओटगोनबायर दैईवी (Otgonbayer Daivii) को एकतरफ़ा अंदाज़ में शिकस्त दी और ओलंपिक में क्वालिफ़ाई करने वाले इतिहास के पहले सुपर-हेवीवेट भारतीय मुक्केबाज़ बन गए।

सतीश ने तीनों ही राउंड में मंगोलियाई मुककेबाज़ को बेबस कर दिया और एकपक्षीय फ़ैसले के साथ उन्हें विजेता घोषित किया गया।

सेमीफ़ाइनल में सतीश की टक्कर टॉप सीड बाख़ोदिर जालोलोव (Bakhodir Jalolov) से होगी, ओलंपिक चैनल से बातचीत में सतीश ने कहा, "मैं इस वक़्त बेहद ख़ुश हूं और इस ख़ुशी को मैं शब्दों में बयां नहीं कर सकता। मुझे गर्व है कि सुपर हेवीवेट कैटेगिरी से ओलंपिक में जाने वाला मैं पहला भारतीय हूं। आने वाली बाऊट में मैं कोशिश करूंगा कि इससे भी बेहतर प्रदर्शन करूं।"

कब और कहां देख सकते हैं बॉक्सिंग ओलंपिक क्वालिफ़ायर ?

आप एशिया/ओशिनिया बॉक्सिंग क्वालिफ़िकेशन का सीधा प्रसारण एक्सक्लूसिव तौर पर ओलंपिक चैनल पर देख सकते हैं, साथ ही हमारे फ़ेसबुक पेज पर भी इसका आनंद उठा सकते हैं। सुबह के सत्र की शुरुआत भारतीय समयानुसार दोपहर 2.30 बजे से होती है, जबकि शाम का सत्र भारतीय समयानुसार 8.30 बजे से प्रस्तावित है।

साथ ही साथ आप ओलंपिक चैनल पर रोज़ाना इंग्लिश और हिन्दी में लाइव ब्लॉग के ज़रिए भी सारे मुक़ाबलों से रु-ब-रु हो सकते हैं।