मनीष कौशिक और सचिन कुमार की नज़र भारत के विजयरथ को बरक़रार रखने पर

दोनों ही भारतीय मुक्केबाज़ों के साथ साथ आशीष कुमार भी जीत के साथ क्वार्टरफ़ाइनल में जगह बनाने के इरादे से रिंग में उतरेंगे

बुधवार को जॉर्डन की राजधानी अम्मान में एशियन बॉक्सिंग क्वालिफ़ायर्स में भारत के जहां महिला मुक्केबाज़ों ने जीत की दोहरी ख़ुशी दी, तो अब गुरुवार को एक बार फिर भारतीय पुरुष मुक्केबाज़ों पर रहेगी नज़र। मनीष कौशिक (Manish Kaushik) और सचिन कुमार (Sachin Kumar)अपने अपने बाऊट के लिए रिंग में उतरेंगे। ये दोनों जहां अपने अभियान का आग़ाज़ करेंगे तो, आशीष कुमार (Ashish Kumar) दूसरे राउंड के मुक़ाबले के लिए रिंग में उतरेंगे।

गुरुवार को दोनों ही मुक्केबाज़ अपने अपने राउंड ऑफ़ 16 के बाऊट के लिए रिंग में उतरेंगे, जहां मनीष कौशिक का सामना चीनी ताइपे के छु-एन लाई (Chu-En Lai) के साथ लाइटवेट (57-63 किग्रा) कैटेगिरी में होगा जबकि सचिन कुमार के सामने लाइट हेवीवेट (75-81 किग्रा) कैटेगिरी में सामोआ के डी लोआपो (Dee Ioapo) की चुनौती होगी।

आशीष कुमार का सामना होगा जाने माने विरोधी के साथ

आशीष कुमार ने मंगलवार को पुरुष मिडिलवेट कैटेगिरी (69-75 किग्रा) में ताइवान के चिया-वे कान को 5-0 से हराया था और अब गुरुवार को किर्गिस्तान के ओमरबेक बेकज़िगित उलू (Omurbek Bekzhigit Uulu के खिलाफ उतरेंगे। यह पहली बार नहीं होगा जब आशीष कुमार का सामना चौथी वरीयता प्राप्त उलु से होगा और वह पिछले साल अपने एशियन चैंपियनशिप के प्रदर्शन को दोहराने की कोशिश करेंगे,, जब उन्होंने क्वार्टर फाइनल में किर्गिज़ को हराया था।।

मनीष कौशिक ने नहीं दिया है कोई ट्रायल्स

भारत के सभी 13 मुक्केबाज़ों को एशियन बॉक्सिंग क्वालिफ़ायर्स में जगह बनाने के लिए बॉक्सिंग फ़ेडरेशन ऑफ़ इंडिया (BFI) के द्वारा कराए गए नेशनल ट्रायल्स से गुज़रना पड़ा था। लेकिन उन सभी में मनीष कौशिक और अमित पंघल अपवाद थे, क्योंकि उन्होंने 2019 AIBA वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप में पदक जीते थे।

2018 कॉमनवेल्थ गेम्स में कांस्य पदक जीतने वाले मनीष कौशिक को पहले राउंड में बाई मिला था और अब उनका सामना एक और बाई हासिल करने वाले चीनी ताइपे मुक्केबाज़ छु-एन लाई से होगा। जो पिछली बार रियो ओलंपिक में 17वें स्थान पर रहे थे।

भारत के मनीष कौशिक (दाएं) की नज़र गुरुवार को जीत के साथ क्वार्टरफ़ाइनल में स्थान बनाने पर
भारत के मनीष कौशिक (दाएं) की नज़र गुरुवार को जीत के साथ क्वार्टरफ़ाइनल में स्थान बनाने परभारत के मनीष कौशिक (दाएं) की नज़र गुरुवार को जीत के साथ क्वार्टरफ़ाइनल में स्थान बनाने पर

सचिन कुमार के सामने होगी सामोआ के मुक्केबाज़ की चुनौती

सचिन कुमार को यहां तक पहुंचने के लिए ट्रायल्स से गुज़रना पड़ा था, जहां उन्होंने सर्विसेज़ स्पोर्ट्स कंट्रोल बोर्ड (Services Sports Control Board) के बृजेश यादव (Brijesh Yadav) को 6-3 से शिकस्त दी थी।

हरियाणा स्टेट बॉक्सिंग टूर्नामेंट के स्वर्ण पदक विजेता सचिन को पहले राउंड में बाई मिला था और अब उनका राउंड ऑफ़ 16 में सामना सामओआ के NSW ख़िताब के विजेता डी लोआपो से होगा।

जीत का मतलब आगे क्या ?

गुरुवार को अगर मनीष कौशिक की जीत होती है तो वह क्वार्टरफ़ाइनल में प्रवेश कर जाएंगे, जहां उनका सामना दूसरे राउंड की बाऊट के विजेता से होगा। ये मुक़ाबला पापुआ न्यू गिनी के जॉन उमे (John Ume) और तीसरी वरीयता प्राप्त मंगोलिया के चिनज़ोरीग बातारसुख (Chinzorig Baatarsukh) के बीच प्रस्तावित है।

जबकि सचिन कुमार की अगर जीत होती है तो उनके सामने चीन के डाक्ज़ेंग चेन (Daxaing Chen) और किर्गिस्तान के एरकिन एडिलबेक (Erkin Adylbek) के बीच होने वाले मुक़ाबले के विजेता से होगा।

कब और कहां देख सकते हैं बॉक्सिंग ओलंपिक क्वालिफ़ायर ?

आप एशिया/ओशियिना बॉक्सिंग क्वालिफ़िकेशन का सीधा प्रसारण एक्सक्लूसिव तौर पर ओलंपिक चैनल पर देख सकते हैं, साथ ही हमारे फ़ेसबुक पेज पर भी इसका आनंद उठा सकते हैं। सुबह के सत्र की शुरुआत भारतीय समयनुसार दोपहर 1.30 बजे से होती है, जबकि शाम का सत्र भारतीय समयनुसार 8.30 बजे से प्रस्तावित है।

साथ ही साथ आप ओलंपिक चैनल पर रोज़ाना इंग्लिश और हिन्दी में लाइव ब्लॉग के ज़रिए भी सारे मुक़ाबलों से रु-ब-रु हो सकते हैं।

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!