टोक्यो 2020 का टिकट हासिल करने के इरादे से रिंग में उतरेंगे मैरी कॉम और अमित पंघल

भारत के शीर्ष महिला और पुरुष मुक्केबाज़ ओलंपिक के लिए अपनी जगह पक्की करने से सिर्फ एक जीत दूर हैं।

लेखक विवेक कुमार सिंह ·

सोमवार को 2020 ओलंपिक में भारत की सबसे बड़ी पदक की उम्मीद महिलाओं की फ्लाइवेट (48-51 किग्रा) में मैरी कॉम (Mary Kom) और पुरुषों की फ्लाइवेट (48-52 किग्रा) में अमित पंघल (Amit Panghal) एशियाई मुक्केबाज़ी ओलंपिक क्वालिफायर के क्वार्टर फाइनल में अपनी-अपनी श्रेणियों में जीत के इरादे से रिंग में उतरेंगे।

रविवार को भारत की पूजा रानी (Pooja Rani), विकास कृष्ण (Vikas Krishan), लवलीना बोरगोहेन (Lovlina Borgohain), आशीष कुमार (Ashish Kumar) और सतीश कुमार (Satish Kumar) ने अपना-अपना टोक्यो 2020 का टिकट हासिल कर लिया है। सोमवार को उम्मीद है कि भारत के और मुक्केबाज़ ओलंपिक में अपना स्थान पक्का कर पाएंगे।

मैरी कॉम और अमित पंघल के साथ इस दिन साक्षी चौधरी (Sakshi Chaudhary), मनीष कौशिक (Manish Kaushik)और सिमरनजीत कौर (Simranjit Kau) भी अपनी अपनी श्रेणी में रिंग में उतरेंगे।

मैरी कॉम का अंतिम ओलंपिक दौरा

शनिवार को भारतीय मुक्केबाजी की दिग्गज मैरी कॉम को क्वार्टर फाइनल में जगह बनाने के लिए ज्यादा परेशानी का सामना नहीं करना पड़ा। न्यूज़ीलैंड के कम अनुभव वाली तस्मिन बेनी को हराकर, मणिपुर की इस बॉक्सर ने सर्वसम्मति से निर्णय अपने पक्ष में कर लिया।

हालांकि, फिलीपींस के आयरिश मैग्नो के खिलाफ उनका क्वार्टर फाइनल मुकाबला संभवत: इस तरह का एकतरफा नहीं होगा।

2019 के दक्षिण-पूर्व एशियाई खेलों में रजत-पदक विजेता आयरिश मैग्नो ने अपने प्रारंभिक बाउट में अपने प्रतिद्वंदी विनी एयू यिन यिन पर इतना प्रहार किया कि रेफरी को मुक़ाबला रोकना पड़ा और इस फिलीपींस को जीत सौंप दी।

अमित पंघल की परेशानी

मैरी कॉम की तरह अमित पंघल के खिलाफ भी क्वार्टरफाइनल में एक शानदार फिलीपींस मुक्केबाज़ कार्लो पालम (Carlo Paalam) होंगे, जो 2020 ओलंपिक का टिकट हासिल करने में पंघल के रास्ते का रोड़ा बन सकते हे।

2019 के दक्षिण-पूर्व एशियाई खेलों के स्वर्ण पदक विजेता पालम ने शनिवार को अपने राउंड ऑफ 16 के मुकाबले में अफ़गानिस्तान के रामिश रहमानी को 5-0 से हराकर अपनी ताकत का परिचय दिया।

राउंड ऑफ 16 के मुकाबले में अमित पंघल को संघर्ष करते देखा गया था, जहां वो थोड़े डगमगा भी गए थे और यहां तक ​​कि दो बार उन्हें नीचे गिरते हुए भी देखा गया। अब ये देखना दिलचस्प होगा कि कैसे वो फिलीपींस के मुक्केबाज़ का सामना करते हैं।

ज्यादा से ज्यादा बर्थ हासिल करने की कोशिश में हैं भारतीय मुक्केबाज़

मैरी कॉम और अमित पंघल के अलावा, 2020 के ओलंपिक बर्थ के लिए दौड़ में तीन और भारतीय मुक्केबाज शामिल हैं, बशर्ते उन्हें सोमवार को अपने-अपने क्वार्टर फाइनल मुकाबलों में जीत हासिल करनी होगी।

सबसे पहले सुबह के सत्र में महिला वर्ग में साक्षी चौधरी (54-57 किग्रा) दक्षिण कोरिया की ऐजी इम से भिड़ेंगी।

उसके बाद मनीष कौशिक पुरुषों के लाइटवेट (57-63 किग्रा) में तीसरी वरीयता प्रप्त मंगोलिया के अपने प्रतिद्वंदी बातरसुखिन चिनजोरिग का सामना करेंगे।

अंत में सिमरनजीत कौर मंगोलिया की मोनखोर नामुन के खिलाफ महिलाओं के लाइटवेट (57-60 किग्रा) वर्ग में उतरेंगी।

कब और कहां देख सकते हैं बॉक्सिंग ओलंपिक क्वालिफ़ायर ?

आप एशिया/ओशिनिया बॉक्सिंग क्वालिफ़िकेशन का सीधा प्रसारण एक्सक्लूसिव तौर पर ओलंपिक चैनल पर देख सकते हैं, साथ ही हमारे फ़ेसबुक पेज पर भी इसका आनंद उठा सकते हैं। सुबह का सत्र दोपहर 2:30 बजे से शुरू होगा, जबकि शाम का सत्र भारतीय समयानुसार 8.30 बजे से प्रस्तावित है।

साथ ही साथ आप ओलंपिक चैनल पर रोज़ाना इंग्लिश और हिन्दी में लाइव ब्लॉग के ज़रिए भी सारे मुक़ाबलों से रु-ब-रु हो सकते हैं।