मुश्किल चुनौतियों को पार करते हुए मैरी कॉम ने टोक्यो 2020 में बनाई जगह

एशियन बॉक्सिंग ओलंपिक क्वालिफ़ायर्स से अब तक 8 भारतीय मुक्केबाज़ों ने 2020 ओलंपिक में स्थान किया पक्का

सोमवार को जॉर्डन की राजधानी अम्मान में एशियन/ओशिनिया बॉक्सिंग क्वालिफ़ायर्स के सातवें दिन के शाम के सत्र में दूसरी वरीयता प्राप्त और 2012 ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता एमसी मैरी कॉम (MC Mary Kom) ने एकपक्षीय फ़ैसले के साथ सेमीफ़ाइनल में जगह बनाते हुए टोक्यो 2020 में भी स्थान पक्का कर लिया।

पिछले मुक़ाबले में मैरी कॉम ने स्पिलिट निर्णय से बाऊट जीती थी लेकिन क्वार्टरफ़ाइनल में उन्होंने मुक़ाबले को क़रीब क़रीब एकतरफ़ा बना दिया।

सेमीफ़ाइनल में मैरी कॉम का सामना चीन की युआन चैंग (Yuan Chang) से होगा, जीत के बाद इस महिला मुक्केबाज़ ने ओलंपिक चैनल के साथ बातचीत में कहा, ‘’मैं इसके लिए लंबे समय से मेहनत कर रही थी, मुझे लगता है कि मैं इसके योग्य हूं। और मुझे इसके लिए गर्व है क्योंकि एक लड़की होते हुए मुक्केबाज़ बनना आसान नहीं होता है।‘’

‘’आपके सामने पहली चुनौती होती है कि आप लड़की हैं, और फिर उससे भी बड़ी चुनौती शादी के बाद आती है। कौन लड़ता है ? और फिर जब आपके बच्चे हो जाते हैं तो उसके बाद वापसी करना भी बड़ी चुनौती होती है, लिहाज़ा मैंने कई चुनौतियों को पार किया है और उन्हें जवाब दिया है जो मेरे बारे नकारात्मक सोच रखते हैं।‘’

भारत के लिए शाम के सत्र में एक और मुक़ाबला था जहां सिमरनजीत कौर बाथ (Simranjit Kaur Baatth) ने भी अपनी क्वार्टरफ़ाइनल बाऊट में जीत हासिल करते हुए भारत की ओर से टोक्यो 2020 का टिकट पाने वाली 8वीं मुक्केबाज़ बन गईं।

सेमीफ़ाइनल में सिमरनजीत कौर का सामना चीनी ताइपे की शी यी वु (Shih Yi Wu) से होगा।

एशियन बॉक्सिंग क्वालिफ़ायर्स के क्वार्टरफ़ाइनल में जीत के साथ मैरी कॉम ने टोक्यो 2020 में स्थान किया पक्का
एशियन बॉक्सिंग क्वालिफ़ायर्स के क्वार्टरफ़ाइनल में जीत के साथ मैरी कॉम ने टोक्यो 2020 में स्थान किया पक्काएशियन बॉक्सिंग क्वालिफ़ायर्स के क्वार्टरफ़ाइनल में जीत के साथ मैरी कॉम ने टोक्यो 2020 में स्थान किया पक्का

मैरी कॉम का होगा दूसरा ओलंपिक

6 बार की वर्ल्ड चैंपियन और 2012 लंदन की कांस्य पदक विजेता मैरी कॉम का सामना फ़िलिपींस की मैग्नो आइरिश (Irish Magno) से था, और रिंग में उतरते ही मैरी कॉम ने अपने इरादे साफ़ कर दिए थे।

पहला राउंड में ब्लू कॉर्नर पर साउथपॉ मुक्केबाज़ मैरी कॉम ने शानदार शुरुआत की। उनकी प्रतिद्वंदी मुक्केबाज़ ने भी कुछ अच्छे पंच थ्रो किए। जजों ने 3-2 से स्प्लिट निर्णय मैरी कॉम के पक्ष में सुनाया।

दूसरा राउंड में घंटी बजते ही मैरी ने अपने खेमे में रखे सभी पंचों के खज़ाने को अपने प्रतिद्वंदी मुक्केबाज़ पर झोंक दिए। फिलीपींस की मुक्केबाज़ बस रिंग में बचती हुई नज़र आईं। जजों ने एक पक्षीय निर्णय के ज़रिए 5-0 से मैरी कॉम को इस राउंड का भी विजेता क़रार किया।

तीसरे और आख़िरी राउंड में भी मैरी पूरी तरह लाजवाब रहीं, अपने तज़ुर्बे का फायदा उठाते हुए मैरी ने 1,2 (लेफ्ट और राइट) पंचों के बेहतरीन कॉम्बिनेशन को जारी रखा। उनके पंच अच्छे कनेक्ट हुए। जजों ने एकपक्षीय निर्णय (Unanimous Decision) से बाऊट का फ़ैसला मैरी कॉम के पक्ष में सुनाया।

सिमरनजीत कौर बनीं टोक्यो 2020 में जगह बनाने वाली 8वीं भारतीय मुक्केबाज़

भारत के लिए सातवें दिन के शाम के सत्र के आख़िरी मुक़ाबले में वुमेंस लाइटवेट मुक्केबाज़ सिमरनजीत कौर और मंगोलिया की नामून मोंखोर (Namuun Monkhor) रिंग में थीं।

पहला राउंड में रेड कॉर्नर पर काबिज़ भारत की सिमरनजीत ने घंटी बजते ही आक्रामक शुरुआत की। अपनी प्रतिद्वंदी मुक्केबाज़ की वरीयता को ध्यान में न रखते हुए सिमरनजीत ने अच्छे और तगड़े पंच थ्रो किए। जजों ने 5-0 से निर्णय भारत की इस मुक्केबाज़ के पक्ष में सुनाया।

दूसरे राउंड में मंगोलिया की मुक्केबाज़ नामून मोंखोर एक बार फिर थोड़ा कमज़ोर नज़र आईं। वहीं, सिमरनजीत अपने लय में लगातार बनी रहीं। लेफ्ट अपरकट और राइट क्रॉस से वह लगातार अपने प्रतिद्वंदी पर हावी रहीं। जजों ने फिर एक पक्षीय निर्णय 5-0 से सिमरनजीत के पक्ष में सुनाया।

तीसरे और आख़िरी राउंड में में काफी पंच देखने को मिले। सिमरनजीत अपने पंचों के कॉम्बिनेशन को उम्दा तरीके से कनेक्ट करने में कामयाब रहीं। मोंखोर ने पूरी ताक़त से पंच लगाने की कोशिश की लेकिन भारत की ये मुक्केबाज़ हर प्रहार के बचाव के लिए तैयार रहीं।

घंटी बजते ही जजों ने मैच का विजेता एकपक्षीय निर्णय (Unanimous Decision) के ज़रिए भारत की सिमरनजीत कौर घोषित किया।

टोक्यो 2020 का टिकट पाने के बाद ओलंपिक चैनल के साथ बातचीत में सिमरनजीत कौर ने कहा, ‘’मैंने इस बाऊट में अपनी पूरी ताक़त झोंक दी थी, मैं इस समय जो महसूस कर रहीं हूं, उसे शब्दों में नहीं बयां कर सकती। मैं पूरी रात सो नहीं सकी थी और बस इसी बाऊट के बारे में सोच रही थी, मेरी प्रतिद्वंदी दूसरी वरीयता हासिल थीं और मैं थोड़ा दबाव में थी। लेकिन मैंने जैसे ही रिंग में क़दम रखा, फिर अपना सर्वश्रेष्ठ देने पर ही सोचने लगी।‘’

एशियन बॉक्सिंग क्वालिफ़ायर्स के क्वार्टरफ़ाइनल में जीत के साथ सिमरनजीत कौर ने टोक्यो 2020 में स्थान किया पक्का
एशियन बॉक्सिंग क्वालिफ़ायर्स के क्वार्टरफ़ाइनल में जीत के साथ सिमरनजीत कौर ने टोक्यो 2020 में स्थान किया पक्काएशियन बॉक्सिंग क्वालिफ़ायर्स के क्वार्टरफ़ाइनल में जीत के साथ सिमरनजीत कौर ने टोक्यो 2020 में स्थान किया पक्का

कब और कहां देख सकते हैं बॉक्सिंग ओलंपिक क्वालिफ़ायर ?

आप एशिया/ओशिनिया बॉक्सिंग क्वालिफ़िकेशन का सीधा प्रसारण एक्सक्लूसिव तौर पर ओलंपिक चैनल पर देख सकते हैं, साथ ही हमारे फ़ेसबुक पेज पर भी इसका आनंद उठा सकते हैं। सुबह के सत्र की शुरुआत भारतीय समयनुसार दोपहर 2.30 बजे से होती है, जबकि शाम का सत्र भारतीय समयनुसार 8.30 बजे से प्रस्तावित है।

साथ ही साथ आप ओलंपिक चैनल पर रोज़ाना इंग्लिश और हिन्दी में लाइव ब्लॉग के ज़रिए भी सारे मुक़ाबलों से रु-ब-रु हो सकते हैं।

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!