पूजा रानी और विकास कृष्ण ने टोक्यो 2020 का टिकट हासिल किया

भारत के एक और मुक्केबाज़ सचिन कुमार को सुबह के सत्र में हार झेलनी पड़ी

रविवार को जॉर्डन के अम्मान में जारी एशियन/ओशियिना ओलंपिक बॉक्सिंग क्वालिफ़ायर्स के छठे दिन के सुबह के सत्र में दो भारतीय मुक्केबाज़ों ने टोक्यो 2020 के लिए क्वालिफ़ाई कर लिया।

भारतीय महिला मुक्केबाज़ पूजा रानी (Pooja Rani) और पुरुष मुक्केबाज़ विकास कृष्ण (Vikas Krishnan) ने अपने अपने क्वार्टरफ़ाइनल मुक़ाबले जीतते हुए एशियन बॉक्सिंग क्वालिफ़ायर्स के सेमीफ़ाइनल में भी पहुंचे और 2020 ओलंपिक में भी स्थान पक्का कर लिया।

India's Pooja Rani became the first Indian boxer to qualify for Tokyo 2020 on Women's Day
India's Pooja Rani became the first Indian boxer to qualify for Tokyo 2020 on Women's DayIndia's Pooja Rani became the first Indian boxer to qualify for Tokyo 2020 on Women's Day

महिला दिवस पर पूजा रानी ने ओलंपिक में जगह बनाकर मनाया जश्न

भारत के लिए छठे दिन की पहली बाऊट में रिंग में उतरीं थी पूजा रानी, जिनके सामने वेल्टरवेट (69-75 किग्रा) कैटेगिरी में थाईलैंड की पोर्ननीपा चुटी (Pornnipa Chutee) की चुनौती थी।

मौजूदा एशियन लाइट-हेवीवेट चैंपियन पूजा रानी के लिए पहला राउंड बेहद रोमांचक रहा जहां उन्होंने 10-9 से जीत हासिल की।

पूजा ने दूसरे राउंड में थाई मुक्केबाज़ पोर्ननीपा चुटी के ख़िलाफ़ और भी आक्रामक अंदाज़ में रिंग में उतरीं और इस राउंड को 5-0 से अपने नाम किया।

पहले दो राउंड में जीत के बाद पूजा के लिए ओलंपिक का टिकट अब ज़्यादा मुश्किल नहीं था और उन्होंने ज़ोरदार अंदाज़ में इसे अपने नाम किया और एकपक्षीय फ़ैसले से उन्होंने पोर्ननीपा चुटी को शिकस्त दी।

जीत के बाद बेहद उत्साहित पूजा ने ओलंपिक चैनल के साथ बातचीत में कहा, ‘’आज अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस भी है और मैं ओलंपिक में क्वालिफ़ाई होने वाली पहली भारतीय मुक्केबाज़ भी बन गई। और साथ ही साथ मैं पहली भारतीय महिला भी बन गई हूं जिसे टोक्यो 2020 का टिकेट मिला। मुझे बहुत अच्छा लग रहा है और मैं सभी महिलाओं को महिला दिवस की शुभकामना देना चाहती हूं।‘’

विकास कृष्ण खेलेंगे अपना तीसरा ओलंपिक

भारत के एक और मुक्केबाज़ विकास कृष्ण भी क्वार्टरफ़ाइनल मुक़ाबले के लिए रिंग में थे, जहां उनके सामने जापान के कुइंसी ओकाज़ावा (Sewonrets Quincy Mensah Okazawa) थे।

ये मुक़ाबला भी सांस रोक देने वाला था, और दोनों ही मुक्केबाज़ ज़बरदस्त फ़ाइट कर रहे थे। शुरुआत जापानी मुक्केबाज़ के पक्ष में रही थी और वह विकास पर हावी दिखाई दे रहे थे, लेकिन तुरंत ही विकास ने अपने खेल में बदलाव लाते हुए पहला राउंड 3-2 के क़रीबी अंतर से जीत लिया।

इस राउंड में जीत का असर विकास के दूसरे राउंड में साफ़ देखने को मिला और कुछ बेहतरीन स्ट्रेट पंच, जैब्स और ज़ोरदार हुक के साथ भारतीय मुक्केबाज़ ने दूसरा राउंड भी 5-0 से अपने नाम कर लिया।

हालांकि तीसरे राउंड में जापानी मुक्केबाज़ ने कुछ आक्रामक और ज़ोरदार पंच के साथ भारतीय मुक्केबाज़ पर हावी रहे, लेकिन पहले दो राउंड में की गई विकास की मेहनत ने उन्हें मैच का विजेता बना दिया था। जजों ने विकास कृष्ण को एकपक्षीय फ़ैसले से विजेता क़रार दिया और इस तरह पूजा के बाद विकास ने भी टोक्यो 2020 का टिकेट हासिल कर लिया। विकास कृष्ण का ये तीसरा और आख़िरी ओलंपिक होगा, क्योंकि इसके बाद वह एक बार फिर प्रोफ़ेशनल बॉक्सिंग में जाने का इरादा कर चुके हैं।

विकास कृष्ण अब सेमीफ़ाइनल बाऊट में कज़ाकिस्तान के अबलईख़ान ज़ुसुपोव (Ablaikhan Zhussupov) के ख़िलाफ़ रिंग में उतरेंगे। मैच के बाद ओलंपिक चैनल से बातचीत में विकास ने कहा, ‘’अगर आख़िरी राउंड में आपने मेरे जैब्स देखे होंगे, तो मैं हैरान हूं कि जापानी मुक्केबाज़ ने उसे कैसे बर्दाश्त किया होगा। मैंने इसके लिए बहुत मेहनत की है और कुछ अलग से भी काम किया है, मुझे लगता है कि ये जीत उसी अलग से किए गए काम का नतीजा है।‘’

सचिन कुमार की क्वार्टरफ़ाइनल में हार

भारत छठे दिन सुबह के सत्र में जीत की हैट्रिक और लगातार तीन ओलंपिक टिकट पाने से चूक गया, क्योंकि लाइट-हेवीवेट कैटेगिरी में सचिन कुमार (Sachin Kumar) को चीन के चेन डैग्ज़ेंग (Chen Daxaing) से हार का सामना करना पड़ा।

हालांकि पहला राउंड सचिन ने 5-0 से अपने नाम कर लिया था, लेकिन अगले राउंड में चीनी मुक्केबाज़ ने सचिन को 4-1 से शिकस्त दी और फिर तीसरे और निर्णाय राउंड में भी चीनी मुक्केबाज़ हावी रहे।

जजों ने (Split Decision) के ज़रिए चेन डैग्ज़ेंग को विजेता घोषित कर दिया, लेकिन सचिन के लिए ओलंपिक में स्थान बनाने की उम्मीदें अभी भी ज़िंदा हैं।

अब सचिन को क्वार्टरफ़ाइनल में हारने वाले मुक्केबाज़ों के ख़िलाफ़ बॉक्स ऑफ़ में उतरना होगा, जहां मिली जीत उन्हें टोक्यो 2020 का टिकट दिला देगी।

कब और कहां देख सकते हैं बॉक्सिंग ओलंपिक क्वालिफ़ायर ?

आप एशिया/ओशियिना बॉक्सिंग क्वालिफ़िकेशन का सीधा प्रसारण एक्सक्लूसिव तौर पर ओलंपिक चैनल पर देख सकते हैं, साथ ही हमारे फ़ेसबुक पेज पर भी इसका आनंद उठा सकते हैं। सुबह के सत्र की शुरुआत भारतीय समयनुसार दोपहर 2.30 बजे से होती है, जबकि शाम का सत्र भारतीय समयनुसार 8.30 बजे से प्रस्तावित है।

साथ ही साथ आप ओलंपिक चैनल पर रोज़ाना इंग्लिश और हिन्दी में लाइव ब्लॉग के ज़रिए भी सारे मुक़ाबलों से रु-ब-रु हो सकते हैं।

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!