बॉक्सिंग क्वालिफ़ायर्स में साक्षी चौधरी ने भारत के लिए लगाई जीत की हैट्रिक

2018 वर्ल्ड यूथ चैंपियन ने 2018 एशियन गेम्स की कांस्य पदक विजेता निलावन टेचेसस्पे को स्प्लिट निर्णय से हराया

लेखक सैयद हुसैन ·

बुधवार को जॉर्डन की राजधानी अम्मान में एशियन बॉक्सिंग क्वालिफ़ायर्स में भारतीय महिला मुक्केबाज़ साक्षी चौधरी (Sakshi Chaudhary) ने चौथी वरीयता हासिल निलावन टेचेसस्पे (Nilawan Techasuep) को वूमेंस फ़ेदरवेट (54-57 किग्रा) में राउंड ऑफ़ 16 में मात देकर अगले दौर में प्रवेश कर लिया।

इससे पहले मंगलवार को भारतीय पुरुष मुक्केबाज़ गौरव सोलंकी (Gaurav Solanki) और आशीष कुमार (Ashish Kumar) ने अपने पहले दौर यानी राउंड ऑफ़ 32 में क्रमश: किर्गिस्तान के अकाइलबेक एसेनबेक उलु (Akylbek Esenbek Uulu) और चीनी ताइपे के चिया-वेई कान (Chia-Wei Kan) को भी शिकस्त दी थी। इस तरह से साक्षी ने भारत के सिर तीन मुक़ाबलों में तीन जीत दिला दी है।

साक्षी चौधरी ने एशियन बॉक्सिंग क्वालिफ़ायर्स में भारतीय महिला मुक्केबाज़ों के अभियान का आग़ाज़ जीत के साथ किया

शुरुआत से ही साक्षी रहीं हावी

साक्षी चौधरी ने पहले राउंड में धमाकेदार प्रदर्शन किया, उन्होंने लगातार अपने बाएं जैब के ज़रिए थाई मुक्केबाज़ को पीछे की ओर धकेल दिया था।

साथ ही साथ भारतीय मुक्केबाज़ के पैरों का मूवमेंट भी शानदार था, वह तुरंत ही आगे जाकर निलावन पर प्रहार करतीं और फिर तुरंत ही ख़ुद को उनके प्रहार से चपलता के साथ बचा रहीं थीं।

हालांकि पहले राउंड के आधे रास्ते तक निलावन ने बेहतरीन वापसी की और साक्षी को तीन बेहतरीन बाएं जैब से धकेल दिया था। पहले राउंड के ख़त्म होने से ठीक पहले थाई मुक्केबाज़ ने 2018 की वर्ल्ड यूथ चैंपियन पर एक और बाएं जैब का प्रहार किया जिसने साक्षी को पीछे धकेल दिया था।

लेकिन इसके बावजूद साक्षी ने बेहतरीन वापसी करते हुए चौथी वरीयता थाई मुक्केबाज़ पर 4-1 से पहला राउंड जीता।

निलावन की ज़ोरदार वापसी

जब साफ़ दिख रहा था कि थाई मुक्केबाज़ पीछे चल रही हैं, तभी 2018 एशियन गेम्स की कांस्य पदक विजेता निलावन टेचेसस्पे ने अपने प्रदर्शन में सुधार लाते हुए दूसरे राउंड में पहले राउंड की बनिस्बत कई प्रहार किए।

निलावन के आक्रामक रवैये को देखते हुए साक्षी चौधरी ने अपने खेल में थोड़ा बदलाव लाया और वह अब रक्षात्मक दिख रहीं थीं। भारतीय मुक्केबाज़ का मूवमेंट भी पहले राउंड की अपेक्षा कम दिख रहा था, बीच बीच में वह अपने दाएं हाथ का भी अच्छा इस्तेमाल कर रहीं थीं।

लेकिन आख़िरकार दूसरा राउंड थाई मुक्केबाज़ ने 3-2 के स्प्लिट निर्णय से अपने नाम कर लिया।

साक्षी ने ज़रूरत के हिसाब से बदलाव करते हुए दर्ज की जीत

फ़ाइनल राउंड में थाई मुक्केबाज़ के दाएं और बाएं हाथ के प्रहार को देखते हुए साक्षी ने अपने खेल में भी बदलाव किए। और ये साक्षी के लिए रंग भी लाता दिखाई दिया, और वह लगातार थाई मुक्केबाज़ पर दबाव बना रहीं थीं।

अब साक्षी अपने दाएं हाथ का इस्तेमाल ज़्यादा कर रहीं थीं, और नतीजा ये हुआ कि थाई मुक्केबाज़ जो अपने बाएं हाथ से बचाव की कोशिश कर रहीं थीं, उनपर अब साक्षी आसानी से प्रहार करती जा रहीं थीं।

हालांकि पिछले राउंड की तुलना में साक्षी अब और भी बेहतर ज़रूर नज़र आ रहीं थीं लेकिन थाई मुक्केबाज़ के भी पंच पहले से ज़्यादा सटीक होते जा रहे थे।

इसके बाद आख़िरी बाज़ी साक्षी ने 4-1 से अपने नाम करते हुए एशियन बॉक्सिंग क्वालिफ़ायर्स में भारत के लिए दो दिनों में तीसरी जीत दिला दी थी।

इस जीत के तुरंत ही बाद ओलंपिक चैनल के साथ बातचीत में साक्षी ने कहा कि वह हर मुक़ाबले के बाद बेहतर होती जाएंगी।

‘’ये मेरा पहला बाउट था, लिहाज़ा अब मैं और भी ज़्यादा आत्मविश्वास महसूस करूंगी जितना पहले नहीं था। और मैं आने वाली बाउट में भी अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने की कोशिश करूंगी। ये एक शानदार मुक़ाबला था और मैं बॉक्सिंग फ़ेडरेशन ऑफ़ इंडिया (BFI) का धन्यवाद देना चाहूंगी जिनका समर्थन मुझे हमेशा से है।‘’

साक्षी चौधरी का एशियन बॉक्सिंग क्वालिफ़ायर्स में अगला मुक़ाबला दक्षिण कोरिया की एजी इम (Aeji Im) के ख़िलाफ़ क्वार्टर फ़ाइनल में होगा। इस मुक़ाबले का विजेता न सिर्फ़ सेमीफ़ाइनल में पहुंचेगा बल्कि उसे टोक्यो 2020 का टिकेट भी मिल जाएगा।

कब और कहां देख सकते हैं बॉक्सिंग ओलंपिक क्वालिफ़ायर ?

आप एशिया/ओशियिना बॉक्सिंग क्वालिफ़िकेशन का सीधा प्रसारण एक्सक्लूसिव तौर पर ओलंपिक चैनल पर देख सकते हैं, साथ ही हमारे फ़ेसबुक पेज पर भी इसका आनंद उठा सकते हैं। सुबह के सत्र की शुरुआत भारतीय समयनुसार दोपहर 1.30 बजे से होती है, जबकि शाम का सत्र भारतीय समयनुसार 8.30 बजे से प्रस्तावित है।

साथ ही साथ आप ओलंपिक चैनल पर रोज़ाना इंग्लिश और हिन्दी में लाइव ब्लॉग के ज़रिए भी सारे मुक़ाबलों से रु-ब-रु हो सकते हैं।