क्वार्टरफ़ाइनल में पहुंची सिमरनजीत कौर, टोक्यो 2020 में जगह बनाने से एक जीत दूर

कुछ ही महीने पहले सिमरनजीत को रिम्मा वोल्सेन्को से हार मिली थी, लेकिन अम्मान में भारतीय मुक्केबाज़ ने हिसाब बराबर किया

बुधवार को सिमरनजीत कौर (Simranjit Kaur Baath) ने भारत का जॉर्डन के अम्मान में चल रहे एशिया/ओशियिना बॉक्सिंग क्वालिफ़ायर्स में विजय रथ बरक़रार रखा। उन्होंने कज़ाकिस्तान की मुक्केबाज़ रिम्मा वोल्सेन्को (Rimma Volossenko) को एकपक्षीय निर्णय के ज़रिए शिकस्त देते हुए चार मैचों में भारत को चौथी जीत दिला दी।

पहले राउंड में भारतीय महिला मुक्केबाज़ ने कज़ाकिस्तानी मुक्केबाज़ पर अपना दबदबा बना दिया था, लेकिन दूसरे राउंड में रिम्मा ने ज़ोरदार वापसी के संकेत दे दिए थे। और फिर आख़िरी राउंड पूरी तरह से सिमरनजीत के नाम रहा, और जजों के एकपक्षीय फ़ैसले (Unanimous Decision) से सिमरनजीत कौर ने रिम्मा वोल्सेन्को को हराकर क्वार्टर फ़ाइनल में प्रवेश कर लिया।

जीत के बाद ओलंपिक चैनल से बात करते हुए सिमरनजीत कौर ने कहा, ‘’ये मेरी पहली बाउट थी लिहाज़ा मैं थोड़ा दबाव में थी, ऐसा इसलिए भी क्योंकि कुछ ही महीने पहले मुझे रिम्मा से हार मिली थी। लेकिन मैं इस बार जीत के इरादे से रिंग में उतरी थी और अब मेरा आत्मविश्वास काफ़ी बढ़ गया है, अगले बाउट में और खुलकर खेलने की कोशिश करूंगी।‘’

सिमरनजीत कौर का सामना एशियन बॉक्सिंग क्वालिफ़ायर्स क्वार्टर फ़ाइनल में दूसरी वरीयता हासिल नामुन मोंखोर से होगा
सिमरनजीत कौर का सामना एशियन बॉक्सिंग क्वालिफ़ायर्स क्वार्टर फ़ाइनल में दूसरी वरीयता हासिल नामुन मोंखोर से होगासिमरनजीत कौर का सामना एशियन बॉक्सिंग क्वालिफ़ायर्स क्वार्टर फ़ाइनल में दूसरी वरीयता हासिल नामुन मोंखोर से होगा

पहले राउंड में सिमरनजीत कहीं आगे थीं

नेशनल ट्रायल्स में दिग्गज सरिता देवी को शिकस्त देकर एशियन बॉक्सिंग क्वालिफ़ायर्स के राउंड ऑफ़ 16 में जगह बनाने वाली सिमरनजीत वूमेंस लाइटवेट (57-60 किग्रा) कैटेगिरी के पहले राउंड में बेहद शानदार नज़र आईं।

रिंग में उनकी चपलता देखते बन रही थी, हालांकि रिम्मा ने कोशिश ज़रूर की थी कि उनका मुक़ाबला डट कर किया जाए पर बदले में उन्हें कुछ बेहतरीन पंच खाने को मिले।

हालांकि हर बार रिंग में अपना वर्चस्व दिखाने का प्रयास भी रिम्मा कर रहीं थीं, लेकिन सिमरनजीत कौर ने अपने पैरों का ख़ूबसूरत मूवमेंट दिखाते हुए दूर से ही कुछ अच्छे शॉट्स लगाए।

इसके बावजूद कज़ाकिस्तानी मुक्केबाज़ अपने गेम प्लान पर ही क़ायम रहीं, जिसका नतीजा ये हुआ कि पहला राउंड सिमरनजीत ने 5-0 से अपने नाम किया।

रिम्मा वोल्सेन्को ने दूसरे दौर में आक्रामक रवैया अपनाया

कज़ाकिस्तानी मुक्केबाज़ का रवैया दूसरे दौर में शानदार रहा, और उन्होंने इस मुक़ाबले में जान ला दी थी।

उन्हें पता था कि जजों के स्कोर कार्ड में वह 0-5 से पीछे चल रही हैं, लिहाज़ा इस राउंड में उन्होंने कमाल का खेल दिखाते हुए कुछ तगड़े पंच लगाए, जिसने सिमरनजीत को पीछे धकेलने पर मजबूर कर दिया।

इस राउंड में ज़्यादातर सिमरनजीत कौर पीछे ही खेल रहीं थीं और रिम्मा एक के बाद एक लगातर घूसों का प्रहार भारतीय मुक्केबाज़ पर कर रहीं थीं।

नतीजा ये हुआ कि पहले राउंड में 0-5 से हारने वाली वोल्सेन्को अगले राउंड में सिमरनजीत पर 5-0 की जीत दर्ज कर ली थी।

सिमरनजीत के हार न मानने वाले जज़्बे ने दिलाई जीत

आख़िरी राउंड भारतीय मुक्केबाज़ और कज़ाकिस्तानी मुक्केबाज़ के बीच सांस रोक देने वाला रहा।

पिछले राउंड की ही तरह वोल्सेन्को ने इस बार भी रिंग में आगे आकर खेलने वाला रवैया जारी रखा था लेकिन इस बार सिमरनजीत ने अपने दाईं और बाईं ओर से कुछ अच्छे बचाव करते हुए मैच में रोमांच ला दिया था।

वोल्सेन्को के आक्रामक रवैये का ज़ोरदार तरीक़े से सामना करते हुए सिमरनजीत ने अपने पिछले पैर से कुछ लाजवाब खेल दिखाया। इसी की देन थी कि जजों ने इस राउंड में सिमरनजीत को 5-0 से विजेता घोषित करते हुए भारत को बुधवार की दूसरी और इस प्रतियोगिता में लगातार चौथी जीत दिला दी थी।

एशियन बॉक्सिंग क्वालिफ़ायर्स में सिमरनजीत का सामना अब दूसरी वरीयता हासिल नामुन मोंखोर (Namuun Monkhor) से होगा। इस मैच को जीतने का मतलब न सिर्फ़ सेमीफ़ाइनल में स्थान बनाना होगा बल्कि टोक्यो 2020 का टिकेट हासिल करना भी होगा।

दूसरी वरीयता खिलाड़ी के साथ होने वाले इस मुक़ाबले को लेकर सिमरनजीत ने कहा, ‘’वरीयता मेरे लिए कोई मायने नहीं रखती है, मैं बस अभी अभी 64 से 60 किग्रा वर्ग में आईं हूं लिहाज़ा मेरी नज़र सिर्फ़ अपना 100 फ़ीसदी देने पर है।‘’

कब और कहां देख सकते हैं बॉक्सिंग ओलंपिक क्वालिफ़ायर ?

आप एशिया/ओशियिना बॉक्सिंग क्वालिफ़िकेशन का सीधा प्रसारण एक्सक्लूसिव तौर पर ओलंपिक चैनल पर देख सकते हैं, साथ ही हमारे फ़ेसबुक पेज पर भी इसका आनंद उठा सकते हैं। सुबह के सत्र की शुरुआत भारतीय समयनुसार दोपहर 1.30 बजे से होती है, जबकि शाम का सत्र भारतीय समयनुसार 8.30 बजे से प्रस्तावित है।

साथ ही साथ आप ओलंपिक चैनल पर रोज़ाना इंग्लिश और हिन्दी में लाइव ब्लॉग के ज़रिए भी सारे मुक़ाबलों से रु-ब-रु हो सकते हैं।

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!