जानिए कब एशियन बॉक्सिंग ओलंपिक क्वालिफ़ायर्स में होगा विकास कृष्ण का स्वर्ण पदक के लिए मुकाबला ?

एशियन बॉक्सिंग क्वालिफ़ायर्स के फ़ाइनल में भारत से सिर्फ़ विकास कृष्ण और सिमरनजीत कौर ने जगह बनाई है

लेखक ओलंपिक चैनल ·

ओलंपिक में स्थान पक्का करने के बाद अब भारत के विकास कृष्ण (Vikas Krishan) और सिमरनजीत कौर (Simranjit Kaur) बुधवार को एशियन बॉक्सिंग क्वालिफ़ायर्स में स्वर्ण पदक जीत के साथ विदाई लेना चाहेंगे।

जॉर्डन के अम्मान में चल रही इस प्रतियोगिता में अब तक भारतीय मुक्केबाज़ों ने बेहतरीन प्रदर्शन किया है, अब तक भारत के 8 मुक्केबाज़ों ने टोक्यो 2020 का टिकट हासिल कर लिया है, जिनमें एमसी मैरी कॉम (MC Mary Kom), विकास कृष्ण और अमित पंघल (Amit Panghal)जैसे दिग्गज शामिल हैं।

कुछ साल पहले प्रोफ़ेशनल मुक्केबाज़ बने विकास ने एक ही मक़सद के साथ दोबारा वापसी की थी और वह था ओलंपिक, जिसके लिए उन्होंने क्वालिफ़ाई भी कर लिया है। विकास कृष्ण जानते हैं कि ये उनके ओलंपिक पदक जीतने के सपने की ओर सिर्फ़ पहला क़दम है, अभी मंज़िल बाक़ी है।

अम्मान में जारी इस इवेंट में विकास ने अब तक कमाल का प्रदर्शन किया है और अब बुधवार को वह वेल्टरवेट (63-69 किग्रा) कैटेगिरी के फ़ाइनल में स्वर्ण पदक जीतने के इरादे से रिंग में उतरेंगे। जहां उनके सामने जॉर्डन के एशाश ज़ियाद हुसेन (Eashash Zeyad Eishaih Hussein) की चुनौती होगी।

उनके लिए एक बार फिर बाऊट आसान नहीं होने वाली, क्योंकि उनके स्थानीय प्रतिद्वंदी ने अपने पिछले मैच में ही शीर्ष वरीयता हासिल मुक्केबाज़ और एशियन चैंपियन बातुरोव बोबो-उस्मोन (Baturov Bobo-Usmon) को शिकस्त देकर फ़ाइनल में पहुंचे हैं।

ठीक इसी तरह भारत की महिला मुक्केबाज़ सिमरनजीत कौर के लिए भी अब तक एशियन बॉक्सिंग क्वालिफ़ायर्स शानदार गया है।

सिमरनजीत कौर ने क्वार्टरफ़ाइनल और सेमीफ़ाइनल में शुरुआत भले ही धीमी की हो लेकिन सही मौक़े पर वापसी करते हुए उन्होंने यहां तक का सफ़र तय किया है। 2018 में वर्ल्ड चैंपियनशिप में कांस्य पदक से संतोष करने वाली सिमरनजीत इस प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक पर कब्ज़ा जमाना चाहती हैं।

सिमरनजीत की टक्कर दक्षिण कोरिया की दो बार एशियन चैंपियन रह चुकीं ओह इयोन जी (Oh Yeon Ji) से होगी। सिमरनजीत की नज़र अपनी लय को फ़ाइनल में भी बरक़रार रखने पर है।

एक तरफ़ विकास और सिमरनजीत की नज़र जहां गोल्ड मेडल पर होगी तो बुधवार को एक और भारतीय मुक्केबाज़ सचिन कुमार (Sachin Kumar) भी लाइट हेवीवेट (75-81 किग्रा) कैटेगिरी में रिंग में उतरेंगे, जो उनका दूसरा और आख़िरी बॉक्स ऑफ़ मुक़ाबला होगा जिसे जीतने का मतलब होगा टोक्यो 2020 का टिकट।

इस मुक़ाबले में सचिन के सामने तज़ाकिस्तान के शाब्बोस नेग्मातुल्लोव (Negmatulloev Shabbos) की चुनौती होगी।

तो वहीं भारत के मनीष कौशिक (Manish Kaushik) के पास भी टोक्यो 2020 में यहीं स्थान पक्का करने का एक मौक़ा भी होगा, जब वह लाइटवेट (57-63 किग्रा) कैटेगिरी के बॉक्स ऑफ़ मुक़ाबले में ऑस्ट्रेलिया के गारसाइड हैरिसन (Garside Harrison) के ख़िलाफ़ रिंग में उतरेंगे।

एशियन ओलंपिक बॉक्सिंग क्वालिफिकेशन के लिए भारतीय बॉक्सिंग दल

पुरुष मुक्केबाज़ दल:

अमित पंघल (52 किग्रा), गौरव सोलंकी (57 किग्रा), मनीष कौशिक (63 किग्रा), विकास कृष्ण (69 किग्रा), आशीष कुमार (75 किग्रा), सचिन कुमार (81 किग्रा), नमन तनवर (91 किग्रा) और सतीश कुमार (+91 किग्रा)।

महिला मुक्केबाज़ दल:

एमसी मैरी कॉम (51 किग्रा), साक्षी चौधरी (57 किग्रा), सिमरनजीत कौर (60 किग्रा), लवलीना बोरगोहेन (69 किग्रा) और पूजा रानी (75 किग्रा)।

एशियन बॉक्सिंग ओलंपिक क्वालिफ़ायर्स कार्यक्रम और मुक़ाबले

एशियन बॉक्सिंग ओलंपिक क्वालिफ़ायर्स में फ़ाइनल और बॉक्स ऑफ़्स के आख़िरी दौर के मुक़ाबले 11 मार्च को होंगे।

भारतीय मुक्केबाज़ों के कार्यक्रम इस प्रकार हैं:

11 मार्च - 2:30 PM IST-6:30 PM IST (सुबह का सत्र)

सचिन कुमार बनाम शाब्बोस नेग्मातुल्लोव (TJK)

मनीष कौशिक बनाम गारसाइड हैरिसन (AUS)

11 मार्च - 8:30 PM IST – 12:00 AM IST (शाम का सत्र)

विकास कृष्ण बनाम एशाश ज़ियाद हुसेन (JOR)

सिमरनजीत कौर बनाम ओह इयोन जी (KOR)

कब और कहां देख सकते हैं बॉक्सिंग ओलंपिक क्वालिफ़ायर ?

आप एशिया/ओशियिना बॉक्सिंग क्वालिफ़िकेशन का सीधा प्रसारण एक्सक्लूसिव तौर पर ओलंपिक चैनल पर देख सकते हैं, साथ ही हमारे फ़ेसबुक पेज पर भी इसका आनंद उठा सकते हैं। सुबह के सत्र की शुरुआत भारतीय समयनुसार दोपहर 2.30 बजे से होती है, जबकि शाम का सत्र भारतीय समयनुसार 8.30 बजे से प्रस्तावित है।

साथ ही साथ आप ओलंपिक चैनल पर रोज़ाना इंग्लिश और हिन्दी में लाइव ब्लॉग के ज़रिए भी सारे मुक़ाबलों से रु-ब-रु हो सकते हैं।