विकास कृष्ण और सिमरनजीत कौर स्वर्ण पदक जीतना चाहेंगे

2020 टोक्यो ओलंपिक के लिए अपनी जगह सुनिश्चित करने के बाद भारतीय मुक्केबाज़ अब स्वर्ण पदक जीतना चाहेंगे, जबकि मनिष कौशिक और सचिन कुमार अभी भी टोक्यो के टिकट की तलाश में हैं।

एशियन बॉक्सिंग ओलंपिक क्वालिफायर भारतीय मुक्केबाजों के अपार सफलता लेकर आया है, जहां चार महिला और चार पुरुष मुक्केबाज़ों के साथ अब तक कुल आठ मुक्केबाज़ अलग अलग श्रेणियों में  2020 ओलंपिक के लिए टिकट हासिल कर लिया है।

उनमें से कई ने टोक्यो जाने का अपना लक्ष्य हासिल कर लिया। साथ ही जॉर्डन की राजधानी अम्मान में चल रहे इस टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में हारने वाले कई भारतीय मुक्केबाजों के लिए सेमीफाइनल की हार भी उनके ज्यादा निराशाजनक नहीं रही, क्योंकि उन्होंने पहले ही टोक्यों 2020 का टिकट हासिल कर लिया है, जिसमें भारत की ओंलपिक के लिए सबसे बड़ी उम्मीद मैरी कॉम और अमित पंघल (Amit Panghal) शामिल हैं।

हालांकि, अंतिम दिन अभी भी भारतीय मुक्केबाजों के कुछ एक्शन देखने को मिलेंगे, जहां वो इस क्वालिफायर्स को जीत कर इस इवेंट का खत्म करना चाहेंगे।

गोल्ड की तलाश में हैं विकास कृष्ण और सिमरनजीत

तीन बार ओलंपिक के लिए क्वालिफाई करने वाले बॉक्सर विजेंदर सिंह (Vijender Singh) के बाद सिर्फ दूसरा भारतीय मुक्केबाज बनना विकास के लिए पर्याप्त नहीं था, अब विकास कृष्ण बुधवार को एशियन बॉक्सिंग ओलंपिक क्वालिफायर में वेल्टरवेट (69 किग्रा) वर्ग में स्वर्ण जीतने की संभावना के साथ रिंग में उतरेंगे।

दूसरी वरीयता प्राप्त भारतीय मुक्केबाज ने अबलाखान झूसुपोव (Ablaikhan Zhussupov) को कड़ी मेहनत के साथ संघर्षपूर्ण मुकाबले में शिकस्त दी थी, वे फाइनल में स्थानीय नायक ज़ेयाद एशाश ज़ियाद हुसेन (Zeyad Eishaih Hussein Eashash) के खिलाफ उतरेंगे।

विकास कृष्ण के पास है एशियन बॉक्सिंग ओलंपिक क्वालिफायर्स में गोल्ड जीतने का सुनहरा मौका
विकास कृष्ण के पास है एशियन बॉक्सिंग ओलंपिक क्वालिफायर्स में गोल्ड जीतने का सुनहरा मौकाविकास कृष्ण के पास है एशियन बॉक्सिंग ओलंपिक क्वालिफायर्स में गोल्ड जीतने का सुनहरा मौका

हालांकि जॉर्डन के इस मुक्केबाज़ को चौथी वरीयता दी गई है,  लिहाजा विकास कृष्ण को फाइनल में कड़ी चुनौती मिल सकती है, क्योंकि उनके प्रतिद्वंदी ने सेमीफाइनल में उज्बेकिस्तान के शीर्ष वरीयता प्राप्त मुक्केबाज़ बोबो-यूसॉन बटुरोव को हराकर बाहर का रास्त दिखाया था।

सिमरनजीत कौर आठ भारतीय मुक्केबाजों में से एक हैं, जिन्होंने 2020 ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया है, टोक्यो का टिकट हासिल करने वाली मैरी कॉम और पूजा रानी में से फाइनल में पहुंचने वाली वो एकमात्र महिला मुक्केबाज़ हैं, जिन्होंने सेमीफाइनल में जीत हासिल की है।

वह लाइटवेट (60 किग्रा) वर्ग में दक्षिण कोरिया के येओजी ओह से भिड़ेंगी और स्वर्ण पदक के साथ अपनी अम्मान यात्रा को और यादगार बनाने की उम्मीद करेंगी।

दोनों मुक्केबाज़ शाम के सत्र में गोल्ड की तलाश में रिंग में उतरेंगे।

सचिन और मनीष भारत के ओंलंपिक कोटे को और बढ़ाना चाहेंगे

इस बीच लाइट हेवीवेट (81 किग्रा) वर्ग में बुधवार को नेगमतुलुदेव शबोस के खिलाफ बॉक्स-ऑफ फाइनल में सचिन कुमार एक्शन नज़र आएंगे। क्वार्टर-फ़ाइनल चरण में हारने वाले भारतीय मुक्केबाज, ये मुकाबला जीतने की उम्मीद करेंगे और सुबह के सत्र में भारत के लिए 2020 ओलंपिक टिकट पाने वाले नौवें मुक्केबाज़ बनना चाहेंगे।

सचिन कुमार ने बॉक्सिंग क्वालिफ़ायर्स के पहले मुकाबले में किया शानदार प्रदर्शन
सचिन कुमार ने बॉक्सिंग क्वालिफ़ायर्स के पहले मुकाबले में किया शानदार प्रदर्शनसचिन कुमार ने बॉक्सिंग क्वालिफ़ायर्स के पहले मुकाबले में किया शानदार प्रदर्शन

टोक्यो 2020 में भारत के लिए दसवीं बर्थ भी मनीष कौशिक के नाम से कंफर्म हो सकती है, जो सचिन कुमार की तरह एशियन मुक्केबाज़ी ओलंपिक क्वालिफायर के क्वार्टर फाइनल में हार गए थे, लेकिन अभी भी लाइटवेट (63 किग्रा) वर्ग में एक बॉक्स-ऑफ के माध्यम से अपना स्थान बुक कर सकते हैं।

कब और कहां देख सकते हैं बॉक्सिंग ओलंपिक क्वालिफ़ायर ?

आप एशिया/ओशियिना बॉक्सिंग क्वालिफ़िकेशन का सीधा प्रसारण एक्सक्लूसिव तौर पर ओलंपिक चैनल पर देख सकते हैं, साथ ही हमारे फ़ेसबुक पेज पर भी इसका आनंद उठा सकते हैं। सुबह के सत्र की शुरुआत भारतीय समयनुसार दोपहर 2.30 बजे से होती है, जबकि शाम का सत्र भारतीय समयनुसार 8.30 बजे से प्रस्तावित है।

साथ ही साथ आप ओलंपिक चैनल पर रोज़ाना इंग्लिश और हिन्दी में लाइव ब्लॉग के ज़रिए भी सारे मुक़ाबलों से रु-ब-रु हो सकते हैं।

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!