भारतीय पहलवानों के लिए एशियन रेसलिंग चैंपियनशिप 2020 है ओलंपिक क्वालिफ़ायर्स की तैयारी की तरह

एशियन रेसलिंग चैंपियनशिप के ज़रिए भारतीय पहलवान ओलंपिक क्वालिफ़ायर्स में अपना दावा मज़बूत कर सकते हैं

लेखक सैयद हुसैन ·

विनेश फ़ोगाट, बररंग पुनिया और रवि कुमार दहिया कुछ ऐसे बड़े नाम हैं जो 18 फ़रवरी से शुरू होने वाली एशियन रेसलिंग चैंपियनशिप में नज़र आएंगे। ये प्रतियोगिता नई दिल्ली के इंदिरा गांधी स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स में आयोजित होगी।

भारतीय कुश्ती दल में 30 पहलवान शामिल हैं, 10-10 पुरुष और महिला फ़्रीस्टाइल इवेंट में शिरकत करेंगे तो 10 पहलवान ग्रेको-रोमन इवेंट में ज़ोरआज़माइश करते हुए दिखाई देंगे।

रेसलिंग फ़ेडरेशन ऑफ़ इंडिया (WFI) के चीफ़ बृजभूषण शरण सिंह ने पिछले हफ़्ते कहा था, ‘’हमें बजरंग पुनिया, विनेश फ़ोगाट, अंशु मलिक, रवि दहिया और दीपक पुनिया से काफ़ी उम्मीदें हैं कि ने सीनियर एशियन रेंसलिंग चेंपियनशिप में स्वर्ण पदक हासिल करें।‘’

पिछले साल यानी 2019 में हुई एशियन रेसलिंग चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक सिर्फ़ बजरंग पुनिया के नाम रहा था, और वह इस बार भी 65 किग्रा वर्ग में अपने इस ख़िताब की रक्षा करने के इरादे से मैट पर उतरेंगे। पुनिया के लिए 2020 भी अब तक शानदार गया है, जहां उन्होंने मैटियो पेलिकोन मेमोरियल में स्वर्ण पदक अपने नाम किया था।

रवि कुमार दहिया जिन्होंने 61 किग्रा वर्ग में रोम में स्वर्ण पदक अपने नाम किया था और दीपक पुनिया जिन्होंने वर्ल्ड रेसलिंग चैंपियनशिप में रजत पदक के साथ टोक्यो 2020 का टिकेट भी हासिल कर चुके हैं, एक बार फिर इन दोनों पर भी सभी की निगाहें होंगी। इनके अलावा युवा चेहरों में राहुल अवारे और गौरव बलियान पर भी भरोसा करना लाज़िमी है।

नॉन ओलंपिक कैटेगिरी में होंगी साक्षी मलिक

रियो 2016 की कांस्य पदक विजेता साक्षी मलिक एशियन रेसलिंग चैंपियनशिप में 65 किग्रा वर्ग में फ़्रीस्टाइल इवेंट में मैट पर उतरेंगी। ये एक नॉन ओलंपिक कैटेगिरी है, साक्षी को इसी साल जनवरी में नेशनल ट्रायल्स में सोनम मलिक के हाथों हार झेलनी पड़ी थी। उनकी नज़र इस प्रतियोगिता में प्रभावित करते हुए एक बार फिर ओलंपिक कोटा हासिल करने के लिए अपना दावा पेश करने पर होगी।

18 वर्षीय सोनम मलिक जिन्होंने साक्षी को शिकस्त देने के बाद सुर्ख़ियां बटोरीं थीं, वह भी इस प्रतियोगिता में 62 किग्रा फ़्रीस्टाइल में नज़र आएंगी, उनकी कोशिश होगी कि एक और बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए ओलंपिक क्वालिफ़ायर्स से पहले आत्मविश्वास में इज़ाफ़ा किया जाए।

विनेश फ़ोगाट और अंशु मलिक ने रोम में क्रमश: 53 किग्रा और 57 किग्रा में स्वर्ण पदक और रजत पदक अपने नाम किया था। तो वहीं 50 किग्रा फ़्रीस्टाइल में निर्मला देवी मैट पर ज़ोर आज़माइश करेंगी।

बात अगर ग्रेको-रोमन बाउट की करें तो 87 किग्रा वर्ग में सुनील कुमार पर सभी की नज़रें होंगी, हाल ही में उन्होंने रोम में रजत पदक अपने नाम किया था।

53 किग्रा महिला फ़्रीस्टाइल में विनेश फ़ोगाट एशियन रेसलिंग चैंपियनशिप में होंगी सर्वोच्च रैंकिंग वाली खिलाड़ी 

एशियन रेसलिंग चैंपियनशिप 2020 के कार्यक्रम:

इस प्रतियोगिता में प्रत्येक इवेंट के लिए दो दिन रखे गए हैं, यानी पुरुष फ़्रीस्टाइल, महिला फ़्रीस्टाइल और ग्रेको-रोमन दो-दो दिनों तक चलेंगे। पांच भार वर्गों के क्वालिफ़िकेशन राउंड, रेपेचेज राउंड और फ़ाइनल्स एक ही दिन में हो जाएंगे जबकि ठीक यही कायर्क्रम अगले पांच भार वर्ग के लिए दूसरे दिन जारी रहेगा।

ग्रेको-रोमन बाउट 18 और 19 फ़रवरी को खेले जाएंगे, इसके बाद महिला फ़्रीस्टाइल इवेंट 20 और 21 फ़रवरी को होंगे जबकि पुरुष फ़्रीस्टाइल इवेंट 22 और 23 फ़रवरी को प्रस्तावित हैं।

इन सभी इवेंट के ड्रॉ की घोषणा प्रत्येक इवेंट के एक दिन पहले की जाएगी।

2020 ओलंपिक के मद्देनज़र ये प्रतियोगिता क्यों है ख़ास ?

एक तरफ़ जहां विनेश फ़ोगाट, बजरंग पुनिया, रवि दहिया और दीपक पुनिया ने टोक्यो ओलंपिक 2020 का कोटा हासिल कर लिया है तो वहीं एशियन रेसलिंग चैंपियनशिप दूसरे पहलवानों को भी अपनी रैंकिंग में सुधार लाने का एक मौक़ा देगी।

उनकी उम्मीद होगी कि इस टूर्नामेंट में वह अपने प्रदर्शन से WFI को प्रभावित कर सकें, और मार्च में होने वाले टोक्यो 2020 के एशियन क्ववालिफ़ायर्स में भारतीय दल का हिस्सा हो सकें।

कहां देख सकते हैं एशियन रेसलिंग चैंपियनशिप ?

एशियन रेसलिंग चैंपियनशिप का सीधा प्रसारण इस साइट पर www.wrestlingtv.in देख सकते हैं।