रियो की हार से सबक़ लेकर अतानु दस टोक्यो पर निशाना साधने के लिए हैं तैयार

टोक्यो 2020 के लिए क्वालिफ़ाई कर चुके 4 भारतीय तीरंदाज़ों में अतानु दास का नाम भी शामिल है।

लेखक जतिन ऋषि राज ·

भारतीय तीरंदाज़ अतानु दास (Atanu Das) का लक्ष्य अगले साल होने वाले ओलंपिक गेम्स में अच्छा प्रदर्शन करना है। 2019 वर्ल्ड आर्चरी चैंपियनशिप में दास ने सिल्वर मेडल हासिल कर टोक्यो 2020 में अपनी जगह बना ली है। ग़ौरतलब है कि वह भारतीय पुरुष रिकर्व टीम का हिस्सा थे।

अतानु दास के अलावा उनके साथी तरुणदीप राय (Tarundeep Rai) और प्रवीण जाधव (Pravin Jadhav) ने भी ओलंपिक गेम्स में अपना स्थान पुख्ता कर लिया है। टोक्यो गेम्स के ज़रिए दास दूसरी बार इस ऐतिहासिक इवेंट का हिस्सा होने जा रहे हैं, इस पहले वह रियो गेम्स में शिरकत करते नज़र आए थे।

टेबल टेनिस खिलाड़ी मुदित दानी (Mudit Dani) के साथ इन्स्टाग्राम चैट के दौरान दास ने कहा “मैं 2021 ओलंपिक के लिए बहुत मेहनत कर रहा हूं। रियो 2016 मेरा पहला ओलंपिक था लेकिन टोक्यो 2020 मेरा बेस्ट ओलंपिक होगा।”

भारतीय आर्चर अतानु दास ने रियो 2016 के ज़रिए ओलंपिक में डेब्यू किया था।

अतानु दास के लिए उनका पहला ओलंपिक अच्छा रहा लेकिन वह जीत से वंचित रह गए थे। राउंड ऑफ़ 16 में खेलते हुए साउथ कोरिया के ली सियूंग-युन (Lee Seung-Yun) से महज़ एक अंक से हार गए थे। हालांकि उस शिरकत के बाद अतानु के पास अनुभव आ गया था और अब वह पहले से बेहतर हो चुके हैं।

आर्चर की शारीरिक रचना: अतानु दास की छिपी हुई ताक़त

हम भारतीय आर्चर अतानु दास को स्पोर्ट्स साइंस लैब में ले गए ताकि हम इस ओलंपि...

28 वर्षीय इस तीरंदाज़ ने आगे कहा “मैं अपने पहले ओलंपिक के लिए काफी उत्साहित था। मैंने अपना सर्वश्रेष्ठ दिया था और आख़िरी निशाने तक मैं मेहनत करता रहा। दुर्भाग्य वर्ष, मैं प्री-क्वार्टर्स में हार गया।”

“उस हार से मैंने बहुत कुछ सीखा था। मैंने अपने कमज़ोर और मज़बूत पहलुओं पर ध्यान दिया और उन पर काम किया।”

दास ने यह भी माना की रियो की हार से उबरने में उन्हें थोड़ा समय लगा।

“उस समय मैंने किसी से महीनों तक बात नहीं की थी। मुझे समय चाहिए था, अभ्यास के समय पर भी आपकी मानसिक सोच बहुत मायने रखती है। आपको ख़ुद से सच बोलना पड़ेगा, रियो में मिली हार के एक महीने के बाद मैंने अपनी मानसिक थकान पर काम करना शुरू कर दिया था।”

दास की पत्नी दीपिका कुमारी (Deepika Kumari) टोक्यो 2020 के लिए कोटा स्थान हासिल करते वाली इकलौती भारतीय महिला आर्चर हैं। अतानु दास और दीपिका कुमारी दोनों ही भारत के 16 मेंबर स्क्वाड में हैं और 25 अगस्त से आर्मी स्पोर्ट्स इंस्टिट्यूट (Army Sports Institute – ASI में शुरू हुए आर्चरी नेशनल कैंप का हिस्सा भी हैं।