अंजु बॉबी जॉर्ज बनीं AFI की पहली महिला वाइस प्रेसिडेंट

भारत की दिग्गज लॉन्ग-जंपर अंजु बॉबी जॉर्ज निर्विरोध चुनी गईं AFI की वाइस प्रेसिडेंट, उनके अनुभव का फ़ायदा एथलीटों को मिलेगा।

लेखक सैयद हुसैन ·

वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप में भारत की ओर से पदक जीतने वाली एकमात्र एथलीट और ओलंपियन अंजु बॉबी जॉर्ज (Anju Bobby George) शनिवार को एथलेटिक्स फ़ेडरेशन ऑफ़ इंडिया (AFI) की निर्विरोध उपाध्यक्ष चुनी गईं। 2024 तक वह इस पद पर बनी रहेंगी।

अंजू ने पेरिस में हुई 2003 वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप में लॉन्ग-जंप का कांस्य पदक जीता था। इसके बाद 2004 एथेंस ओलंपिक में भी वह पदक जीतने के क़रीब थीं, लेकिन 6.83 मीटर के व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ के बावजूद वह पांचवें स्थान पर रहीं थीं।

अपने संन्यास के बाद अंजु बॉबी जॉर्ज सीधे तौर पर स्पोर्ट्स एडमिनिस्ट्रेशन के साथ जुड़ गईं, जहां उन्होंने केरल स्टेट स्पोर्ट्स काउंसिल, टारगेट ओलंपिक पोडियम स्कीम (TOPS) और खेलो इंडिया को भी अपनी सेवाएं दीं।

प्रेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया (PTI) के साथ बातचीत में अंजु ने कहा, “मैंने इससे पहले भी अपनी सेवाएं दी हैं। मैंने हमेशा एक एथलीट के तौर पर भी देश की सेवा की और राष्ट्र को बड़े स्तर पर सम्मानित किया। मुझे पूरा भरोसा है कि इस नई भूमिका में भी मैं सभी एथलीटों और कोच के साथ अच्छे से जुड़ पाऊंगी और देश को आगे ले जाऊंगी।“

भारतीय खेल इतिहास में अंजु बॉबी जॉर्ज का नाम दिग्गज के तौर पर लिया जाता है और यही वजह है कि AFI के उपाध्यक्ष पद की वह एक योग्य उम्मीदवार थीं। जहां से वह एथलीटों के साथ जुड़कर उन्हें और भारतीय खेल का विकास करने में अहम भूमिका निभा सकती हैं।

अंजु के अलावा तीन और भारतीय महिलाओं को AFI ने एक्ज़ेक्यूटिव काउंसिल के पद पर चुना है।

इनमें पूर्व लॉन्ग-डिस्टेंस रनर सुमन रावत मेहता (Suman Rawat Mehta), पूर्व मिडिल-डिस्टेंस रनर सी लाथा (C Latha) और ए हाइमा (A Hyma) का नाम शामिल है।

शनिवार को AFI की वार्षिक आम बैठक (AGM) में AFI के अध्यक्ष और तीसरे कार्यकाल के लिए ओलंपियन एडिले सुमिरवाला (Adille Sumariwalla) के नाम का भी ऐलान किया गया।

सुमिरवाला पहली बार 2012 में AFI के अध्यक्ष चुने गए थे, ये उनका तीसरा और आख़िरी टर्म होगा। नेशनल स्पोर्ट्स कोड के तहत किसी राष्ट्रीय खेल फ़ेडरेशन का अध्यक्ष सिर्फ़ तीन बार ही हो सकता है।

AGM की इस बैठक में रविंदर चौधरी (Ravinder Chaudhary) और मधुकांत पाठक (Madhukant Pathak) को क्रमश: AFI के सचिव और ट्रेज़र के तौर पर चुना गया।