AFI को फिर से तैयार करना होगा अपना कैलेंडर 

कोरोना वायरस महामारी की वजह से कई योजनाबद्ध खेल आयोजनों को स्थगित या रद्द कर दिया गया है। 

लेखक ओलंपिक चैनल ·

कोरोना वायरस के चलते पूरे विश्व की गतिविधियों पर एक विराम सा लग गया है। ऐसे में खेल की दुनिया के सभी समुदायों को अपने कार्यों को रोकना पड़ा। एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ़ इंडिया (Athletics Federation of India AFI) ने साझा किया था कि घरेलु प्रतियोगिताओं के लिए एक नया कैलेंडर तैयार करेंगे और साथ ही ट्रेनिंग के शेड्यूल पर भी बात करेंगे। कोच और विदेशी विशेषज्ञों के साथ सलाह कर AFI प्रतियोगिताओं की तारीख साझा करेंगे। 

AFI के अध्यक्ष आदिल जे. सुमरिवाला (Adille J Sumariwalla) ने प्रेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया से बात करते हुए बताया, “ओलंपिक खेलों (Olympic Games) को फिलहाल के लिए टाले जाने के बाद पूरे घरेलु कैलेंडर में बदलाव करने होंगे और खासकर बड़ी प्रतियोगिताओं पर ज़्यादा ध्यान देना पड़ेगा। प्रतिस्पर्धा के अलावा हमने कोचों से ट्रेनिंग के ऊपर भी बात की।” 

अप्रैल में आयोजित इंडियन ग्रांड प्रिक्स को नेशनल लॉकडाउन से पहले बिना दर्शकों के करवाने पर भी चर्चा हुई थी।

जेवलिन थ्रोअर शिवपाल सिंह ने किया अपने पहले ओलंपिक में क्वालिफाई  

योजना के मुताबिक ही होंगे नेशनल गेम्स

36वें नेशनल गेम्स (National Games) को फिलहाल उसकी पहले से तय की गई तारीखों पर ही आयोजित किया जाएगा। आपको बता दें कि इस प्रतियोगिता को अक्टूबर के महीने में आयोजित करने का फैसला किया गया था। आयोजकों का मानना है कि तब तक हालिया स्थिति में सुधार हो जाएगा। 

IOA के महासचिव राजीव मेहता ने द न्यू इंडियन एक्सप्रेस को बताया, “नेशनल गेम्स के शेड्यूल में कोई बदाव नहीं किया जाएगा। वह अपने पहले से तय किए गए प्लान के मुताबिक़ ही आगे बढ़ेगा।” 

गोवा ओलंपिक एसोसिएशन के महा सचिव गुरुदत्त भक्त (Gurudatta Bhakta) ने कहा कि अभी तक 85 प्रतिशत कार्य हो चुका है। स्विमिंग पूल और स्क्वॉश कोर्ट पर अभी त्जोदा और कार्य करने की ज़रूरत है। एक बार लॉकडाउन की स्थिति ख़त्म हो जाए तब हम सरकार के साथ बैठ कर अंतिम निर्णय लेंगे।”

हालांकि मौजूदा स्थिति की वजह से आधारिक संरचना में बदलाव करने की प्रक्रिया धीमी ज़रूर हो जाएगी। नेशनल गेम्स को पहले 20 अक्टूबर से 4 नवंबर 2020 में करने का फैसला किया था और अभी भी इसी तारीख को तय माना जा रहा है।