हार के साथ ऑस्ट्रेलियन ओपन में दिविज शरण का सफर हुआ समाप्त 

सीधे सेटों में भारत के दिविज शरण और उनके जोड़ीदार अर्टेम सिटेक को मिली हार ने ऑस्ट्रेलियन ओपन से बाहर किया।

लेखक जतिन ऋषि राज ·

ऑस्ट्रेलियन ओपन में भारत के दिविज शरण का सफ़र समाप्त हो गया है। पुरुष युगल वर्ग में खेलते हुए इस भारतीय खिलाड़ी को सीधे सेटों से मात मिली और इस तरह से इस टूर्नामेंट में उनका कारवां यहीं थम गया। न्यूज़ीलैंड अर्टेम सिटेक के साथ जोड़ी बनाकर खेल रहेदिविज शरण से देश ने उम्मीदें ज़रूर लगाईं थीं लेकिन वे उस पर खरे न उतर सके। इस जोड़ी को ब्रूनो सोरेस और मेट पेविक ने 7-6 (7-2), 6-3 से हराया और अपने कारवां को आगे बढ़ाया। यह मुकाबला दिलचस्प रहा और दोनों ही टीमों में हार न मानने वाला जोश दिखा, लेकिन अंतत: परिणाम भारत के हित में नहीं गया।

दिविज से रूठी विजय

पहले सेट में दोनों ही टीमों ने अपनी सर्व को कायम रखा और टाई ब्रेकर की ओर कदम बढ़ाए। हालांकि टाई ब्रेकर में जाते हीदिविज शरण और अर्टेम सिटेक की पहली सर्व को ही तोड़ा गया और उन पर इस बात का दबाव भी दिखा। इस भारतीय और न्यूज़ीलैंड जोड़ी ने अपने प्रतिद्वंदियों की सर्व एक बार तोड़ी ज़रूर लेकिन इसका भुगतान उन्हें आगे करना पड़ा। ब्रूनो सोरेस और मेट पेविक भी पीछे नहीं हटे और तीन बार उन्होंने दिविज शरअर्टेम सिटेक की सर्व तोड़ टाई ब्रेकर में 7-2 से सेट को अपने नाम किया।

दिविज शरण और अर्टेम सिटेक हुए ऑस्ट्रेलियन ओपन से बाहर।  

दूसरे सेट के पहले गेम में दोनों ही टीमें पहली तीन बार अपनी अपनी सर्व को बचाने में सफल रहीं। हालांकि दिविज शरण अर्टेम सिटेक की जोड़ी वे जोड़ी बनीं जिन्होंने अपने प्रतिद्वंदियों को मौका दिया और चौथी सर्व को बचा नहीं पाए और 1-3 से पीछे हो गए।

इसके बाद दबाव बढ़ता गया और फिर दिविज शरण और उनके जोड़ीदार कभी भी इसे उभर नहीं पाए। ब्रूनो सोरेस और मेट पेविक ने शानदार खेल दिखाते हुए 6-3 से जीत हासिल की और इसी के साथ भारत के दिविज शरण को टूर्नामेंट से बाहर होना पड़ा।

भारतीय खेमा चिंता में

ऑस्ट्रेलियन ओपन देखते ही देखते भारत के लिए निराशा ला रहा है। भारत के रोहन बोपन्ना भी मेंस डबल्स में बाहर हो गए हैं। जापानी खिलाड़ी यासुताका युचियामाके साथ जोड़ी बनाकर खेल रहे बोपन्ना का सफ़र पहले ही समाप्त हो गया है। यूएसए के बॉब ब्रायन और माइक ब्रायन के खिलाफ भारतीय खिलाड़ी को 1-6, 6-3, 3-6 से हार मिली और उनका मेंस डबल्स का कारवां यहीं रुका।

इतना ही नहीं भारसानिया मिर् को भी काफ इंजरी के चलते बीच में खेल छोड़ना पड़ा। नाडिया किचेनोक के साथ जोड़ी बनाकर वूमेंस डबल्स में मिर्ज़ा 0-1 से पीछे चल रहीं थी और इसी दौरान चोट के कारण उन्हें कोर्ट को बीच में छोड़ना।

ऑस्ट्रेलियन ओपन में पेस करेंगे कमाल

उम्मीद तो यही है कि रोहन बोपन्ना मिक्स्ड डबल्स में अच्छा प्रदर्शन कर ऑस्ट्रेलियन ओपन में भारत को गौरव प्रदान करेंगे। इतना ही नहीं भारत के दिग्गज टेनिस खिलाड़ी लिएंडर पेस भी शनिवार को कोर्ट पर ज़ोर-आज़माइश करते हुए दिखेंगे। येलेना ओस्टापेंको के साथ जोड़ी बनाकर पेस कोर्ट पर उतरेंगे और अपने तजुर्बे का इस्तेमाल कर वे भारत को सम्मान दिलाने की पूरी कोशिश करेंगे।त की