एशियन रेसलिंग चैंपियनशिप के फाइनल में बजरंग पूनिया को मिली शिकस्त

भारतीय पहलवान बजरंग पूनिया को फाइनल मुकाबले में 65 किलोग्राम भारवर्ग में 2-10 से शिकस्त मिली।

लेखक सतीश त्रिपाठी ·

एशियाई कुश्ती चैंपियनशिप (Asian Wrestling Championships) में पांचवें दिन भारत के स्टार पहलवान बजरंग पूनिया (Bajrang Punia) को फाइनल में हार का सामना करना पड़ा, और उन्हें केवल सिल्वर मेडल से ही संतोष करना पड़ा। बता दें कि फाइनल मैच में उनका सामना जापान के ताकुतो ओटोगुरो से था, जहां ओटोगुरो ने बजरंग को 10-2 से मात दी। 

65 किलोग्राम भारवर्ग के फाइनल मुकाबले में बजरंग पूनिया को एक बेहतरीन पहलवान के तौर पर देखा जा रहा था, क्योंकि बजरंग पूनिया ने अपने सारे मुकाबले अपनी बेहतरीन तकनीकि श्रेष्ठता की वजह से जीत हासिल की थी। लेकिन शनिवार को फाइनल मुकाबले में ताकुतो ओटोगुरो (Takuto Otoguro) से एक बड़े अंतर से हार मिली और सिल्वर मेडल से ही संतोष करना पड़ा।

 2018 विश्व चैंपियनशिप के फाइनल में बजरंग पूनिया के अतीत को देखकर ऐसी उम्मीद थी कि जापान के इस पहलवान के साथ कड़ी टक्कर होगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। दरअसल विश्व के नंबर दो स्थान पर काबिज बजरंग पुनिया अपने विरोधी ओटोगुरो के लेग-लॉक में फंसते नजर आ रहे थे। वहीं, जापान के इस पहलवान के पास बजरंग पूनिया के हर मूव का तोड़ था, जिसका हर बार वह एक शानदार अटैकिंग तरीके से जवाब दे रहे थे।

बजरंग पूनिया को अक्सर एक असामान्य स्थिति में पाया गया जबकि ताकूतो ओटोगुरो ने अपने प्रतिद्वंदी की हर चाल का जवाब दिया। फोटो: UWW

शुरुआती समय में बजरंग पूनिया अपने प्रतिद्वंदी ओटोगुरो के सिंगल-लेट अटैक को जवाब देने में कामयाब थे, लेकिन पूनिया के इस चाल को जापान के पहलवान को समझने में जरा भी दे न लगी और उन्होंने शानदार तरीके से एक खास मूव बनाया और अंक हासिल किया और इसी तरह मुकाबले में आगे खेलते हुए ताकुतो ओटोगुरो ने यह मुकाबला 10-2 से अपने नाम कर लिया। 

रवि दहिया ने जीता गोल्ड मेडल

फाइनल में बजरंग पूनिया के हारने के बाद भारतीय प्रशसंको को निराशा तो जरूर महसूस हुई, लेकिन वहीं दूसरी तरफ रवि कुमार दहिया (Ravi Kumar Dahiya) ने एशियाई कुश्ती चैंपियनशिप में शानदार प्रदर्शन करते हुए स्वर्ण पदक हासिल किया, जिसके बाद केडी जाधव स्टेडियम में बैठे प्रशंसकों में खुशी की लहर दौड़ पड़ी। 

मुकाबले के दौरान रवि दहिया की अटैकिंग स्किल बेहतरीन दिखी, जिसका नतीजा यह रहा कि उन्होंने तजाकिस्तान के हिकमातुलो वोहिदोव (Hikmatullo Vohidov) को 10-0 से मात देते हुए स्वर्ण पदक हासिल किया। वहीं, भारतीय पहलवान गौरव बालियान और सत्यव्रत कादियान ने भारत के लिए सिल्वर पदक हासिल किया।

रवि कुमार दहिया ने अपने पहले एशियाई कुश्ती चैंपियनशिप में शानदार तरीके से स्वर्ण पदक जीता। फोटो: UWW

बता दें कि भारतीय पहलवान गौरव बालियान (Gourav Baliyan) 79 किलोग्राम भारवर्ग में किर्गिस्तान के आर्सलान बुदाजापोव से हार का सामना करना पड़ा। जहां आर्सलान ने 7-5 से मुकाबला अपने नाम किया और गौरव को सिल्वर पदक से ही संतोष करना पड़ा। वहीं, सत्यव्रत कादियान (Satyawart Kadian) ने 97 किलोग्राम भारवर्ग में ईरान के मोताबा से 10-0 से हार का सामना करना पड़ा।

जानिए आप कहां देख सकते हैं एशियन रेसलिंग चैंपियनशिप ?

एशियन रेसलिंग चैंपियनशिप 2020 के सभी मुकाबले स्टार स्पोर्ट्स फर्स्ट पर प्रसारित किए जाएंगे। इसके अलावा आप हॉटस्टार और wrestlingtv.in पर लाइव देख सकते हैं।