दुती चंद, मनु भाकर का नाम BBC इंडियन स्पोर्ट्सवुमेन अवार्ड के लिए भेजा गया

BBC इंडियन स्पोर्ट्सवुमन ऑफ़ द ईयर 2021 अवार्ड की घोषणा 8 मार्च को की जाएगी।

लेखक जतिन ऋषि राज ·

स्प्रिंटर दुती चंद (Dutee Chand), शूटर मनु भाकर (Manu Bhaker), हॉकी खिलाड़ी रानी रामपाल Rani (Rampal), रेसलर विनेश फोगाट (Vinesh Phogat) और चेस खिलाड़ी हम्पी कोनेरु (Koneru Humpy) का नाम सोमवार को बीबीसी इंडियन स्पोर्ट्सवुमन ऑफ़ द ईयर 2011 अवार्ड के लिए भेजा गया है।

ब्रिटिश ब्रॉडकास्टिंग कारपोरेशन (British Broadcasting Corporation – BBC) द्वारा आयोजित यह खिताब देश भर की महिला एथलीटों की सफलता को लोगों के सामने उजागर करता है और सभी को प्रोत्साहन देता है।

ग़ौरतलब है कि इसके पहले साल का खिताब ओलंपिक गेम्स में सिल्वर मेडल जीतने वाली पीवी सिंधु (PV Sindhu) के नाम रहा था और दिग्गज पीटी उषा (PT Usha) को इस समारोह ने लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से नवाज़ा था।

इस साल की लिस्ट खेल पत्रकार, एक्सपर्ट और देश के प्रसिद्ध लेखकों द्वारा चुनी गई है।

इसका चुनाव पब्लिक वोटिंग द्वारा किया जाएगा जो कि 24 फरवरी तक की जाएगी। इसके विजेता की घोषणा 8 मार्च को दिल्ली और बीबीसी सपोर्ट वेबसाइट पर वर्चुअल सेरेमनी द्वारा किया जाएगा।

इस इवेंट में एमर्जिंग स्पोर्ट्सवुमेन ऑफ़ द ईयर और लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड भी दिए जाएंगे।

दुती चंद फिलहाल भारत की उम्दा स्प्रिंटर हैं। एशियन गेम्स में दो बार मेडल जीतने वाली यह धावक वुमेंस 100 मीटर में नेशनल रिकॉर्ड भी हासिल कर चुकी हैं और तो और इस एथलीट ने ओलंपिक गेम्स के 100 मीटर इवेंट में क्वालिफाई कर इतिहास रच दिया है। ऐसा करने वाली वह पहली भारतीय महिला एथलीट बनीं थी। यह कारनामा उन्होंने रियो 2016 में किया।

वहीं शूटर मनु भाकर एक 10 मीटर एयर पिस्टल इवेंट में यूथ ओलंपिक चैंपियन हैं और साथ ही उन्होंने कई सारे इंटरनेशनल स्पोर्ट्स शूटिंग फेडरेशन वर्ल्ड कप में गोल्ड मेडल अपने नाम किए हैं। साल 2019 में उन्होंने चीन में हुए ISSF वर्ल्ड कप फाइनल में गोल्ड मेडल पर अपने नाम की मुहर लगाई थी।

भाकर ने कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडल भी जीता है और उनका नाम उन 9 शूटरों में शुमार है जिन्होंने टोक्यो ओलंपिक गेम्स के लिए कोटा अपने नाम किया है।

विनेश फोगाट की बात की जाए तो वह अभी तक टोक्यो 2020 के लिए क्वालिफाई कर चुकी इकलौती भारतीय महिला पहलवान हैं। इस फ्रीस्टाइल रेसलर ने कॉमनवेल्थ और एशियन गेम्स में गोल्ड मेडल जीत कर अपना नाम भारतीय कुश्ती में अमर कर दिया है।

रानी रामपाल उस टीम की सदस्य थी जिस हॉकी टीम ने रियो गेम्स में क्वालिफाई कर 36 सालों का ओलंपिक सूखा हटाया था। 2018 में रानी ने भरतीय महिला हॉकी टीम की अगुवाई कर एशियन गेम्स में सिल्वर मेडल जीता जिस वजह से टीम के लिए टोक्यो 2020 में क्वालिफाई करना आसान रहा।

हम्पी कोनेरु एक समय सबसे युवा महिला चेस ग्रैंडमास्टर थीं और एशियन गेम्स में उन्होंने गोल्ड मेडल भी जीता है। इतना ही नहीं बल्कि हम्पी कोनेरु वुमेंस वर्ल्ड रैपिड चेस चैंपियन भी हैं।