टेबल टेनिस

ITTF वर्ल्ड टीम क्वालिफिकेशन टूर्नामेंट में परास्त भारतीय महिला टीम 

मनिका बत्रा और सुतीर्था मुखर्जी ने दिखाया दम। टोक्यो 2020 के लिए उम्मीदें अभी जीवित। 

लेखक जतिन ऋषि राज ·

पुर्तगाल में चल रहे ITTF वर्ल्ड टीम क्वालिफिकेशन टूर्नामेंट में भारतीय महिला टेबल टेनिस टीम लगभग बाहर हो गईं है। रोमानिया के खिलाफ प्री-क्वार्टरफाइनल में 2-3 से मिली हार ने टोक्यो 2020 के रास्ते थोड़े धुंधले कर दिए हैं।

भारतीय डबल्स टीम में खेलते हुए सुतीर्था मुखर्जी और आयुका मुखर्जी को पहले मुकाबले में 12-10, 10-12, 11-7, 5-11, 6-11 से हार मिली। हालांकि दोनों ही टीमें लगभग साथ-साथ चल रहीं थी लेकिन अंत में रोमानिया के खिलाड़ियों ने ज़्यादा अच्छा खेल दिखाकर फतह हासिल की। दूसरे गेम में भारतीय जोड़ी 6-5 से आगे चल रही थी लेकिन रोमानिया ने पलटवार कर 8-5 से बढ़त हासिल की और आगे चल कर गेम भी जीत लिया।

अब बारी थी तीसरे गेम की और स्कोर 1-1 से बराबर था। दोनों ही टीमों को ज़रूरत थी तो इस गेम को जीत अपने प्रतिद्वंदी पर दबाव डालने की और भारतीय जोड़ी ने ऐसा ही किया और ये गेम जीत स्कोर 2-1 कर दिया।

रोमानिया की डेनिएला मोंटेइरो डोडियन और एलिज़ेबेटा समार भी कहां पीछे रहने वाली थी और उन्होंने जवाबी हमला करते हुए अगले दो गमों को जीत मुकाबले में बढ़त हासिल कीमनिका बत्रा रहीं शानदार

डबल्स में हार चखने के बाद अब भारतीय खिलाड़ी मनिका बत्रा ने बर्नाडेटे ज़ोक्सको 7-11, 12-10, 11-9 और 11-7 से शिकस्त देकर हिसाब बराबर किया। हालांकि पहला गेम हारने के बाद बत्रा ने मनोबल नहीं गंवाया और पलटवार कर एक बार भी खुद के कौशल को साबित किया। दूसरे गेम में भी पीछे चलती बत्रा ने खूब खेल दिखाया और 12-10 से जीत हासिल की।

चौथे गेम में दोनों ही खिलाड़ियों ने टेबल को मानों फतह करने की कसम खाई थी। पलड़ा कभी इधर तो कभी उधर। हालांकि बत्रा ने 5-3 की बढ़त बनाई और लगातार गेम अपने खेमे में रख जीत हासिल की।

रोमानिया का पलटवार

आयुका मुखर्जी और एलिज़ेबेटा समार के बीच एक बार फिर मुकाबला हुआ लेकिन इस बार भी परिणाम में बदलाव नहीं हुए। सिंगल्स में भारतीय खिलाड़ी को 10-12, 11-5, 2-11, 7-11 को हार मिली लेकिन आयुका मुखर्जी एक बार भी गेम को एकतरफ़ा नहीं होने दिया।

इस बार समारा के हौसले कुछ और ही कह रहे थे और उन्होंने 11-2 से भारतीय मुखर्जी को हरा कर अपना खेल अलग ही चरम पर ले गईं। मुकाबला भारत के हाथ से निकल गया था और देखते ही देखते 2020 ओलंपिक गेम्स का सफ़र मुश्किल होता जा रहा थासुतीर्था मुखर्जी की जीत

सुतीर्था मुखर्जी का सामना हुआ बर्नाडेटे ज़ोक्स से। आपको बता दें ज़ोक्स वहीं हैं जिन्हें मनिका बत्रा से मात मिली थी। सुतीर्था ने शानदार प्रदर्शन करते हुए अपनी प्रतिद्वंदी को 8-11, 11-7, 11-9, 3-11, 11-4 से हराया।

पहले गेम को हारने के बाद सुतीर्था ने पलटवार किया और मुकाबले को अपने हित में रखा। आखिरी गेमों में मानों सुतीर्था ने ज़ोक्स की एक न चलने दी और अपने कौशल के साथ इंसाफ कर जीत हासिल की।

मनिका बत्रा के लिए एक बार फिर मंच सजा और ITTF वर्ल्ड टीम टूर्नामेंट में पूरा भारत जीत की उम्मीद लगाए बैठा था। मुकाबला था बत्रा बनाम डेनिएला मोंटेइरो डोडियन और लक्ष्य था सिर्फ जीत। हालांकि डेनिएला मोंटेइरो डोडियन ने बत्रा को 8-11, 4-11, 11-3, 2-11 से मात दे कर अपने कारवां को आगे बढ़ाया।

कैसे करेंगे क्वालिफाई?

अगर आज भारतीय महिला टेबल टेनिस टीम विजयी होती तो टोक्यो 2020 में वे शिरकत करती दिखाई देतीं। हालांकि अभी भी उम्मीदें ज़िंदा हैं और भारतीय टीम अभी भी टोक्यो 2020 के लिए क्वालिफाई कर सकती है।

भारत का सामना ITTF वर्ल्ड क्वालिफिकेशन में यूक्रेन, साउथ कोरिया, नीदरलैंड, हंगरी चीनी ताइपे, स्पेन/ऑस्ट्रिया (के बीच हारने वाले) और हॉन्ग कॉन्ग /बेलारूस (के बीच हारने वाला) के बीच हो सकता है।