गलाडबाक पर जीत हासिल कर बायर्न म्यूनिख लगातार आठवां बुंदेसलिगा ख़िताब जीतने के क़रीब

लियोन गोर्त्ज़का के 86वें मिनट में किए गए गोल ने बायर्न म्यूनिख को ख़िताब की दौड़ में आगे कर दिया है। वहीं, लीग में सबसे आगे चल रही टीम को रॉबर्ट लेवांडोव्स्की की अनुपस्थिति काफ़ी खली।

लेखक रितेश जायसवाल ·

बायर्न म्यूनिख एक और बुंदेसलिगा खिताब के करीब पहुंच गया है। शनिवार को मैचवीक 31 के अंतिम मुक़ाबले में बायर्न म्यूनिख की टीम बोरुसिया मोनचेंगलाडबाक के साथ एक कड़े मुक़ाबले में जीत हासिल करने में कामयाब रहा। आपको बता दें, मैचवीक 14 की लीग में इसी टीम ने बायर्न म्यूनिख को हराया था।

बोरुसिया डॉर्टमुंड और आरबी लीपज़िग ने शनिवार को इससे पहले हुए मुक़ाबलों में जीत हासिल की। बायर्न म्यूनिख में कई फर्स्ट-टीम स्टार खिलाड़ियों के शामिल न होने की वजह से उन्हें काफी कड़ी टक्कर मिली।

लेकिन फिर भी बावेरियन विजेता बनने में कामयाब रहे और अब वे लगातार आठवां बुंदेसलिगा खिताब जीतने के बेहद करीब पहुंच गए हैं। यह ठीक वैसा ही जैसा 2012-13 के सत्र में हुआ था।

बायर्न म्यूनिख बनाम बोरुसिया मोनचेंगलाडबाक

जोशुआ ज़िरकेज़ी (Joshua Zirkzee) और लियोन गोर्त्ज़का (Leon Goretzka) के गोल की बदौलत बायर्न म्यूनिख लीग में बोरुसिया डॉर्टमुंड से 7 अंकों की बढ़त के साथ शीर्ष पर काबिज़ रहने में कामयाब रहा। शनिवार को दिन में इससे पहले हुए मुक़ाबले में डॉर्टमुंड ने डसेलफोर्ड पर जीत हासिल कर अंक तालिका के इस अंतर को 4 अंक पर ला दिया था।

फिलिप कॉटिन्हो (Philippe Coutinho), निकलास सुले (Niklas Sule) और कॉरेंटिन टॉलीसो (Corentin Tolisso) जैसे बेहतरीन मिडफील्डर्स चोट लगने की वजह से मोनचेंगलाडबाक की टीम में अपनी जगह नहीं बना सके। इसके अलावा रॉबर्ट लेवांडोवस्की (Robert Lewandowski) और थॉमस मुलर (Thomas Muller) निलंबित होने की वजह से टीम का हिस्सा नहीं बन सके और बायर्न म्यूनिख पर जीत हासिल करना काफी मुश्किल हो गया।

इन खिलाड़ियों की ग़ैर मौजूदगी का नतीज़ा 16वें मिनट में ही नज़र आ गया, जब मिडफील्डर जोनास हॉफमैन (Jonas Hofmann) ने गेंद को नेट के बाहर पहुंचा दिया। जिसके चलते VAR लगा और इसे एक गलत फैसले के साथ खारिज कर दिया गया। इसके बाद बायर्न म्यूनिख ने अपने खेल को और बेहतर करते हुए खेल की शुरुआत की।

जिसका नतीजा 10 मिनट बाद ही देखने को मिल गया। जोशुआ जिरकी ने गोल दागकर बढ़त हासिल कर ली। लेकिन जब मेज़बान टीम ने हाफ-टाइम में बढ़त हासिल की तो बेंजामिन पावर्ड की एक गलती ने डिफेंडर पैट्रिक हेरमैन को गेंद पर नियंत्रण करने में मुश्किल खड़ी कर दी और गेंद को अपने ही नेट में डालकर विरोधी टीम के हिस्से में एक गोल दे दिया।

दूसरे हॉफ में बोरुसिया मोनचेंगलाडबाख को कुछ अच्छे मौके मिलते हुए देखा गया, लेकिन वे इसे भुनाने में कामयाब नहीं हो पाए। अंत में लियोन गोर्त्ज़का ने दाहिने फ्लैंक से मिले क्रॉस गेंद पर पकड़ बनाते हुए 86वें मिनट में गोल कर बायर्न को अपने घर में जीत दिला दी।

फोर्टुना डसेलडोर्फ बनाम बोरुसिया डॉर्टमुंड

बोरुसिया डॉर्टमुंड ने बुंदेसलिगा की खिताबी दौड़ में नीली आंखों वाले ख़िलाड़ी एर्लिंग हालांड ने अंतिम कुछ मिनटों में विजेता बना दिया। उसने दूसरी हाफ में गोल दागकर फोर्टुना डसेलडोर्फ पर 1-0 से जीत हासिल करने में मदद की।

ग्यारह खिलाड़ियों की टीम में अपने मुख्य स्कोरर की गैरमौजूदगी में विजिटर ने पहले हाफ में शुरुआत काफी अच्छी की, लेकिन अचरफ हकीमी और जूलियन ब्रांट के तौर पर मिले दो अच्छे मौकों को वह भुना नहीं पाए।

टीएसजी 1899 हॉफेनहाइम बनाम आरबी लीपज़िग

यह मुक़ाबला काफी रोमांचक रहा। आरबी लीपज़िग ने प्रीज़रो एरिना का दौरा किया और डैनियल ओलमों के दो शानदार गोल की बदौलत उसने 2-0 से जीत हासिल की। पिछले हफ्ते पैडरबॉर्न के खिलाफ 1-1 से मैच ड्रॉ होने के बाद आरबी लीपज़िग ने स्कोरशीट पर आगे जाने का कोई भी मौका न गंवाते हुए शानदार जीत हासिल की।

अन्य बुंदेसलिगा परिणाम

एफसी कोलन 1 - 2 संघ बर्लिन

वोल्फ्सबर्ग 2 - 2 एससी फ्रीबर्ग

हर्था बर्लिन 1 - 4 इंट्राचैट फ्रैंकफर्ट

पैडरबोर्न 1 - 5 वेडर ब्रेमेन

बुंदेसलिगा अंक तालिका

1. बायर्न म्यूनिख, 73 अंक

2. बोरुसिया डॉर्टमुंड, 66 अंक

3. आरबी लीपज़िग, 62 अंक

4. बोरुसिया मोनचेंगलाडबाक, 56 अंक

5. बेयर लीवरकुसेन, 56 अंक

6. वोल्फ्सबर्ग, 46 अंक

7. टीएसजी हॉफेनहाइम, 43 अंक

8. फ्रीबर्ग, 42 अंक

9. आइंट्राच फ्रैंकफर्ट, 38 अंक

10. हर्था बर्लिन, 38 अंक