चीन ने ISSF शूटिंग वर्ल्ड कप से वापस लिया अपना नाम

कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते चीनी शूटिंग एसोसिएशन ने आईएसएसएफ वर्ल्ड कप से अपना नाम वापस ले लिया है।

लेखक सतीश त्रिपाठी ·

चीन ने नई दिल्ली में होने वाले ISSF शूटिंग विश्व कप (ISSF Shooting World Cup) से अपना नाम वापस ले लिया है। चीनी शूटिंग एसोसिएशन ने यह फैसला कोरोना वायरस के प्रकोप को ध्यान में रखते हुए किया है। बता दें कि इस साल टोक्यो 2020 ओलंपिक की तैयारी कर रही चीनी टीम पर कोरोना वायरस के खतरे का काफी गहरा प्रभाव पड़ा है।  

नई दिल्ली में 18 फरवरी से शुरू होने वाले एशियाई कुश्ती चैंपियनशिप के लिए चीन ने अपने रेसलर्स को वीजा देने से मना कर दिया था, उसके कुछ दिन बाद शूटिंग टीम ने अगले महीने होने वाले आईएसएसएफ राइफल/पिस्टल/शूटिंग वर्ल्ड कप (ISSF Rifle/Pistol/Shooting World Cup) में प्रतिभागिता नहीं करने का फैसला किया है।

आपको बता दें, शूटिंग वर्ल्ड कप 15 मार्च से नई दिल्ली के कर्णी सिंह शूटिंग रेंज में शुरू होगा, जहां दुनिया भर के सर्वश्रेष्ठ निशानेबाज़ों को प्रतिस्पर्धा करते हुए देखा जा सकेगा। चीनी निशानेबाजों ने इस इवेंट से अपना नाम वापस ले लिया है। हालांकि, विदेश मंत्रालय और स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा चीनी खिलाड़ियों को वीजा देने की पहले से ही कम गुंजाइश थी। अब चीन ने आईएसएसएफ वर्ल्ड कप से अपना नाम वापस लेकर इस राह को आसान कर दिया है।

2019 विश्व कप पदक तालिका में चीन की शूटिंग टुकड़ी भारत में दूसरे स्थान पर रही, जिसमें उसने कुल 44 पदक हासिल किए।

नाम वापस लेने का फैसला चीन का है, भारत का नहीं: रणिंदर सिंह

टाइम्स ऑफ इंडिया से बात करते हुए भारतीय राष्ट्रीय राइफल संघ (National Rifle Association of India, NRAI) के अध्यक्ष रणिंदर सिंह ने बताया "इस प्रतियोगिता से नाम वापस लेने का फैसला पूरी तरह से चीन का है। इससे भारत का कोई लेना-देना नहीं है। मुझे ऐसा लगता है कि यह फैसला बेहतर है। हालांकि, हमारी तरफ से चीनी खिलाड़ियों के लिए होटल बुकिंग समेत अन्य व्यवस्थाएं कर दी गईं थीं"।

वहीं, इस बीच नेशनल राइफल एसोसिएशन ऑफ पाकिस्तान (NRAP) ने सूचित किया है कि उनके एथलीट दिल्ली नहीं आएंगे। आपको बता दें कि पिछले शूटिंग वर्ल्ड कप में पाकिस्तानी खिलाड़ियों को भारत सरकार ने वीजा देने से इंकार कर दिया था।

उन्होंने कहा “हमारे तीन शूटर टोक्यो 2020 के लिए क्वालिफाई कर चुके हैं और हम उनके लिए कोच की तलाश कर रहे थे। हमें जर्मनी में एक कोच मिला है और वह मार्च में ही हमारे निशानेबाजों को ट्रेनिंग देना शुरू करेंगे। नेशनल राइफल एसोसिएशन ऑफ पाकिस्तान के उपाध्यक्ष जावेद लोधी ने टाइम्स ऑफ इंडिया से बात करते हुए कहा कि उनके खिलाड़ी जल्दी ही ट्रेनिंग करना शुरू कर देंगे। ऐसे में निशानोबाजों को वर्ल्ड कप में नहीं भेज रहें हैं बल्कि जर्मनी में होने वाली ट्रेनिंग पर ज्यादा ध्यान दे रहे हैं।

नई दिल्ली में आईएसएसएफ विश्व कप के 2020 संस्करण में सौरभ चौधरी (Saurabh Chaudhary), अभिषेक वर्मा (Abhishek Verma), मनु भाकर (Manu Bhaker), अपूर्वी चंदेला (Apurvi Chandela) और अंजुम मौदगिल (Anjum Moudgil) टॉप शीर्ष में भारतीयों की पसंद हैं, जहां सभी को उम्मीद है कि वो इस साल ओलंपिक में जीत हासिल करेंगे।