चंडीगढ़ को मिली 2022 में होने वाली कॉमनवेल्थ तीरंदाज़ी और शूटिंग चैंपियनशिप की मेज़बानी

इन प्रतियोगिताओं को मंज़ूरी इसलिए मिली है कि अगले कॉमनवेल्थ गेम्स में तीरंदाज़ी और शूटिंग को शामिल नहीं किया जा रहा

लेखक सैयद हुसैन ·

2022 में भारत के चंडीगढ़ में कॉमनवेल्थ तीरंदाज़ी और शूटिंग चैंपियनशिप का आयोजन किया जाएगा जिसे कॉमनवेल्थ गेम्स फ़ेडरेशन (Commonwealth Games Federation) ने अपनी मंज़ूरी दे दी है। ये फ़ैसला तब आया जब इस बात पर मुहर लग गई कि ये दोनों खेल अगले कॉमनवेल्थ गेम्स का हिस्सा नहीं होंगे।

ये प्रतियोगिता साल 2022 के जनवरी में उत्तरी भारतीय राज्यों पंजाब और हरियाणा की राजधानी चंडीगढ़ में आयोजित की जाएगी।

हालांकि तीरंदाज़ी और शूटिंग 2022 में होने वाले कॉमनवेल्थ गेम्स का हिस्सा नहीं होंगे, लिहाज़ा बर्मिंघम में 27 जुलाई से 7 अगस्त के बीच होने वाले कॉमनवेल्थ गेम्स से पहले होने वाली ये प्रतियोगिता दिलचस्प रहेगी।

जिसके बाद इस बात पर आधिकारिक मुहर लग गई है चंडीगढ़ 2022 और बर्मिंघम 2022 दो अलग अलग इवेंट होंगे जो पूरी तरह से कॉमनवेल्थ स्पोर्ट्स इवेंट के अंतर्गत आएंगे।

बर्मिंघम में होने वाले 2022 कॉमनवेल्थ गेम्स के समापन समारोह के एक सप्ताह बाद CGF पदक तालिका साझा करेगा जिसमें चंडीगढ़ 2022 के तीरंदाज़ी और शूटिंग चैंपियनशिप के विजेताओं के प्रदर्शन के आधार पर संयुक्त पदक तालिका का ऐलान किया जाएगा।

2022 में होने वाली कॉमनवेल्थ तीरंदाज़ी और शूटिंग चैंपियनशिप की मेज़बानी भारत के चंडीगढ़ को मिली

तीरंदाज़ी और शूटिंग चैंपियनशिप खेल के स्तर को बढ़ाने का काम करेगी

21 से 23 फरवरी तक होने वाली लंदन में हुई बैठक में CGF कार्यकारी बोर्ड ने तीरंदाज़ी और शूटिंग चैंपियनशिप के प्रस्ताव को मंजूरी दी। उन्होंने इस तरह के एक मॉडल को न केवल बढ़ावा दिया बल्कि पूरे कॉमनवेल्थ खेलों के विकास और मेज़बानी को प्रोत्साहित किया।

दरअसल, इसकी सिफ़ारिश कॉमनवेल्थ गेम्स ऑफ़ इंडिया (CGI) ने की थी जिसे नेशनल राइफ़ल एसोसिएशन ऑफ़ इंडिया (NRAI), भारत सरकार, इंटरनेशनल शूटिंग स्पोर्ट फ़ेडरेशन (ISSF) और वर्ल्ड आर्चरी का भी समर्थन हासिल था। इन सबों ने मिलकर बर्मिंघम 2020 कॉमनवेल्थ गेम्स पार्टनर्स के साथ भी बात की थी और फिर इसके बाद CGF कार्यकारी बोर्ड ने इसपर अपनी मुहर लगाई।

CGF के अध्यक्ष डेम लुईस मार्टिन (Dame Louise Martin) ने कहा, ‘मुझे खुशी है कि हमने 2022 के दौरान चंडीगढ़ में एक कॉमनवेल्थ तीरंदाजी और शूटिंग चैंपियनशिप की मेजबानी के लिए भारत के महत्वाकांक्षी प्रस्ताव को मंजूरी दी है।‘’

कॉमनवेल्थ तीरंदाजी और शूटिंग एथलीटों के पास अब एक शानदार इवेंट में प्रतिस्पर्धा करने का मौक़ा होगा। जो कॉमनवेल्थ खेल के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन को प्रदर्शित करेगा और कॉमनवेल्थ गेम्स इवेंट के लिए महत्वपूर्ण रहेगा।‘’

भारतीय एथलीटों और कॉमनवेल्थ के बीच की कड़ी होगा चंडीगढ़ 2020

CGF के अध्यक्ष ने आगे कहा “कॉमनवेल्थ गेम्स को मजबूत करने की महत्वाकांक्षा के साथ एक प्रस्ताव प्रस्तुत करने के लिए जो महत्वपूर्ण प्रयास किए गए हैं, उन पर CGF, NRAI, भारत सरकार और भारत के पूरे खेल समुदाय को धन्यवाद देना चाहता हूँ।‘’

"मैं CGI अध्यक्ष डॉ. नरिंदर ध्रुव बत्रा (Dr. Narinder Dhruv Batra), खेल मंत्री किरेन रिजिजू (Kiren Rijiju) और NRAI के अध्यक्ष रनिंदर सिंह को इस प्रस्ताव के लिए उनके नेतृत्व के लिए विशेष रूप से धन्यवाद देना चाहूंगा।"

जिसके जवाब में नरिंदर बत्रा ने कहा, ‘’ हम बहुत खुश हैं कि हमारे प्रस्ताव पर फेडरेशन द्वारा विचार किया गया और कॉमनवेल्थ स्पोर्ट्स मूवमेंट के लिए कॉमनवेल्थ तीरंदाजी और शूटिंग चैंपियनशिप एक शानदार सफलता है।‘’

"हमारा प्रस्ताव कॉमनवेल्थ एथलीटों को विश्व मंच पर प्रतिस्पर्धा करने के लिए अधिक अवसर प्रदान करता है, और हम 2022 में कॉमनवेल्थ के सर्वश्रेष्ठ निशानेबाजों और तीरंदाजों का चंडीगढ़ में स्वागत करने के लिए तत्पर हैं।‘’

"टीम इंडिया चंडीगढ़ 2022 और बर्मिंघम 2022 में प्रतिस्पर्धा करने के लिए तत्पर है।‘’ उन्होंने और आगे चर्चा करते हुए कहा कि ‘’हम इसका भी इंतज़ार कर रहे हैं कि भारत और उसके एथलीटों और व्यापक कॉमनवेल्थ खेल समुदाय के साथ घनिष्ठ संबंधों को कैसे बढ़ावा मिलता है।"

CGF कार्यकारी बोर्ड की नज़र ट्रिनबागो 2021 कॉमनवेल्थ युवा खेलों और बर्मिंघम 2022 कॉमनवेल्थ गेम्स के प्रमुख अपडेट पर भी रही। अगली CGF बोर्ड की बैठक जून 2020 में बर्मिंघम में होने वाली है।