मुझे 99.99% उम्मीद है कि मैं ओलंपिक टीम में जगह बना सकता हूं: दीपक कुमार  

32 वर्षीय इस निशानेबाज़ ने रियो ओलंपिक 2016 में 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा में 7वें स्थान पर रहते हुए फीनिश किया था। 

भारत के 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा के स्टार खिलाड़ी दीपक कुमार ने बताया कि उन्हें पूरा भरोसा है कि वो इस साल होने वाले टोक्यो ओलंपिक की शूटींग टीम में जगह बनाने में कामयाब रहेंगे।

32 वर्षीय इस शूटर ने पिछले साल नवंबर में क़तर के दोहा में आयोजित 14वीं एशियन शूटिंग चैंपियनशिप में 10 मीटर पुरुष एयर राइफल स्पर्धा में कांस्य पदक जीता था, और इस तरह इस स्पर्धा में भारत को एक ओलंपिक कोटा हासिल हुआ।

दिल्ली में जन्मे इस निशानेबाज़ ने लगातार दूसरे ओलंपिक इवेंट में भारतीय टीम में खुद को शामिल करने पर भरोसा जताया है।

कुमार ने पीटीआई के हवाले से कहा कि मुझे लगता है कि मेरे पास टीम में जगह बनाने का 99.99 फीसदी मौका है। “भारतीय शूटिंग टीम में मेरी जगह अभी तक सुनिश्चित नहीं हुई है। ओलंपिक टीम की घोषणा कुछ महीनों में की जाएगी।

दीपक को उम्मीद है कि रियो से बेहतर होगा टोक्यो

रियो ओलंपिक 2016 में पुरुषों की 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा में भारत का प्रतिनिधित्व करते हुए, दीपक कुमार ने फाइनल दौर में प्रवेश कर लिया था। लेकिन 143.6 के स्कोर के बाद वो नॉकआउट चरण में सातवें स्थान पर रहे थे।

हालांकि भारतीय शूटिंग में कुछ नाम ऐसे हैं जिन्होंने पिछले कुछ वर्षों में सबको प्रभावित किया है।  मनु भाकर, अंजुम मौदगिल, अपूर्वी चंदेला, सौरभ चौधरी, राही सरनोबत, अभिषेक वर्मा, यशस्विनी देशवाल और कई अन्य निशानेबाजों ने आईएसएसएफ विश्व कप में अच्छा प्रदर्शन किया और ओलंपिक में अपने स्थान पक्का कर लिया

एशियाई खेलों के रजत पदक विजेता दीपक कुमार ने इस बार बड़े मंच पर देश की उम्मीदों पर खरा उतरने की उम्मीद जताई है।

कुमार ने कहा, "भारत ने 2019 में शूटिंग के सभी विश्व कप में नंबर एक स्थान हासिल किया है। इसलिए, मैं 2020 टोक्यो ओलंपिक में भारतीय निशानेबाजी टीम से शानदार परिणाम की उम्मीद कर रहा हूं।"

दीपक कुमार ने खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स की भी प्रशंसा की, जो जल्द ही शुरू होगा, जहां वो विश्वविद्यालय स्तर पर अधिक परिपक्वता के साथ निशानेबाजों को देखने की उम्मीद कर रहे हैं।

"भारत में जूनियर निशानेबाज विभिन्न प्रतियोगिताओं में बहुत अच्छा कर रहे हैं। अगर हमारे जूनियर एथलीट इतना अच्छा कर रहे हैं, तो हम खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स के माध्यम से विश्वविद्यालय स्तर पर और भी परिपक्वता वाले एथलीट ढूंढ पाएंगे।

दीपक कुमार ने कहा, "टारगेट ओलंपिक पोडियम योजना भारत में एथलीटों के लिए एक शानदार योजना है। सरकार के निरंतर प्रयासों से भारतीय एथलीट भविष्य के ओलंपिक खेलों में बेहतर परिणाम प्राप्त करेंगे।"

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!