कैरोलिना मारिन ने डेनमार्क ओपन फाइनल में बनाई जगह

मौजूदा ओलंपिक चैंपियन ने आसान जीत दर्ज करते हुए अपने पहले डेनमार्क ओपन फाइनल में जगह बना ली है।

लेखक रितेश जायसवाल ·

ओलंपिक चैंपियन कैरोलिना मारिन (Carolina Marin) ने अपने पहले डेनमार्क ओपन सुपर 750 इवेंट के फाइनल में जगह बनाने के लिए जर्मनी की यवोन ली (Yvonne Li) पर 21-17, 21-11 से जीत दर्ज की।

30 मिनट से भी अधिक समय तक चलने वाले इस मैच में तीन बार की विश्व चैंपियन अपनी बेहतरीन फॉर्म में थी और उन्होंने कोई भी गलती किए बिना आसानी से डेनमार्क ओपन के फाइनल में जगह बना ली। इससे पहले वह तीन बार सेमी-फाइनल में पहुंचने में कामयाब रही हैं।

डेनमार्क ओपन के फाइनल में स्पेन की इस खिलाड़ी का सामना जापान की पूर्व विश्व चैंपियन नोजोमी ओकुहारा और कनाडा की मिशेल ली के बीच होने वाले मुक़ाबले के विजेता से होगा।

कैरोलिना मारिन जर्मनी की यवोन ली के खिलाफ अपने सेमी-फाइनल मुक़ाबले में पूरे नियंत्रण में खेलती हुई नज़र आईं। फोटो साभार: बीडब्ल्यूएफ

आक्रामक शुरुआत करते हुए कैरोलिना मारिन कोई भी गलती किए बिना शुरुआती गेम पर हावी रहीं। गेम के मध्य अंतराल पर 11-6 की बढ़त के साथ स्पेनिश दिग्गज ने अपने प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ कुछ शक्तिशाली स्ट्रोक और स्मार्ट कोर्ट खेल खेले।

हालांकि, दो बार की जर्मन राष्ट्रीय चैंपियन यवोन ली ने ब्रेक के बाद इस अंतर को कम करने की अपनी पूरी कोशिश की, लेकिन कैरोलिना मारिन नियंत्रण में रहीं और बिना किसी परेशानी के उन्होंने पहला सेट अपने नाम कर लिया।

जर्मनी की खिलाड़ी दूसरे गेम में अच्छी वापसी करती हुई नज़र आई। कैरोलिना मारिन के नेट पर किए गए ड्रॉप शाट्स के चलते यवोन ली ने शुरुआत में कुछ अंक जल्दी ही हासिल कर लिए। लेकिन स्पैनियार्ड ने गेम के मध्य-अंतराल में 11-6 की बढ़त हासिल करने के लिए लगातार सात अंक अपनी झोली में डाल लिए।

वहां से उन्होंने इस बढ़त को बरकरार रखा और इसके चलते कैरोलिना मारिन ने रविवार के फाइनल के लिए अपनी राह को आसान कर लिया।

सात महीने के विराम के बाद कोर्ट पर वापसी करते हुए कैरोलिना मारिन डेनमार्क ओपन में अच्छी फॉर्म में नज़र आईं। अब वह अगले मुक़ाबले में अपना पहला ख़िताब जीतने की उम्मीद कर रही होंगी।

इससे पहले जापान की युकी फुकुशिमा और सयाका हिरोटा की दुनिया की दूसरे नंबर की महिला युगल जोड़ी ने ने सीज़न के एक और फाइनल में पहुंचने के लिए डेनमार्क की क्रिस्टीन बुस्च और एमाली शुल्ज पर 21-18, 21-6 से जीत दर्ज की।

अब यह जापानी जोड़ी विश्व चैंपियन मायू मासूमोटो और जापान की वकाना नागाहारा और बुल्गारिया की स्टोवा बहनों - गैब्रिएला और स्टेफनी के बीच होने वाले सेमी-फाइनल की विजेता से सामना करेंगी।