खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स में दुती ने जीते 2 स्वर्ण पदक

भारतीय स्प्रिंटर दुती चंद ने 100 और 200 मीटर में बाज़ी मार अपने टोक्यो 2020 के सपनो के लिए अच्छे संकेत दिए हैं।

लेखक जतिन ऋषि राज ·

भुवनेश्वर के कलिंगा इंस्टीट्यूट ऑफ इंडस्ट्रियल टेक्नोलॉजी में चल रहे खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स में भारतीय एथलीट दुती चंद (Dutee Chand) ने 100 मीटर में गोल्ड जीतने के बाद 200 मीटर में भी गोल्ड पदक हासिल किया है।

शनिवार को दुती ने रेस की शुरुआत में ही बढ़त बनाकर अपने प्रतिद्वंदियों पर ख़ासा दबाव बनाया। यह रेस उन्होंने 23.66 सेकेंड में ख़त्म कर पोडियम के सबसे ऊपरी हिस्से पर अपना नाम लिख दिया। यूनिवर्सिटी ऑफ़ मुंबई की ओर से दौड़ रही कीर्ति विजय भोईते (Kirti Vijay Bhoite) ने 24.98 सेकेंड में रेस ख़त्म की और खुद को दूसरे स्थान पर रखा। वहीं, उत्कल यूनिवर्सिटी की दीपाली महापात्रा (Deepali Mahapatra) ने 25.19 सेकेंड में पूरा कर तीसरा स्थान हासिल किया।

खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स में दुती चंद ने 100 और 200 मीटर में गोल्ड मेडल जीता। 

वहीं, दुती ने इस बारे में बात करते हुए कहा, “200 मीटर में गोल्ड जीतने में ख़ुशी होती है। 100 मीटर में यह ध्यान रखना मुश्किल है कि कब तेज़ी दिखानी है तो कब रफ़्तार को धीमा करना है, लेकिन 200 मीटर और 100 मीटर के मुकाबले आसान होती है और इसमें तेज़ी और गति पर लगाम लगाना आसान होता है।

इतना ही नहीं, भारत की इस बेटी से जब 2020 ओलंपिक गेम्स (2020 Olympic Games) में प्रतिस्पर्धा करने की तैयारियों पर पूछा गया तो उन्होंने अपनी ट्रेनिंग के बारे में बताया, जिसमें स्विमिंग, ट्रैक और जिम जैसी विधियां शामिल हैं। साथ ही उन्होंने सुबह 6 बजे से शाम तक 6 बजे तक की अपनी दिनचर्या का जिक्र किया।

उन्होंने कहा “मेरा मन कहता है कि मैं टोक्यो 2020 का हिस्सा बनूंगी और आवाम भी यही चाहती हयह रफ़्तार का मामला हैदुती ने आगे बताया “मेरे ख्याल में भारत में हर महीने दो प्रतियोगिताएं होती हैं, अगर हमें और ज़्यादा प्रतियोगिताएं मिले तो हम और बेहतर कर सकते हैं। सिर्फ ट्रेनिंग ही सब कुछ नहीं है बल्कि अलग-अलग टूर्नामेंट का हिस्सा होना भी आवश्यक है।”

आपको बता दें कि दुती चंद ने 200 मीटर रेस 23 सेकेंड में ख़त्म कर साल 2018 में निजी रिकॉर्ड स्थापित किया था। अब अगर ये स्प्रिंटर 2020 ओलंपिक गेम्स का सपना देख रही हैं तो आने वाली प्रतियोगिताओं में 22.80 सेकेंड से कम समय लेते हुए रेस खत्म करनी होगी।

जैसे-जैसे समय बढ़ता जा रहा है दुती अपनी रफ़्तार को बढ़ाने की कोशिश में लगीं हैं। हांगझोऊ में आयोजित एशियन इनडोर चैंपियनशिप (Asian Indoor Championships) और नानजिंग में आयोजित वर्ल्ड इनडोर चैंपियनशिप (World Indoor Championships) के रद्द हो जाने के बाद दुती चंद की टोक्यो 2020 में क्वालिफाई करने के मौके कम होते जा रहे हैं।

दुती चंद की अगली चुनौती

2020 ओलंपिक गेम्स के लिए दुती चंद 100 और 200 मीटर वर्गों में क्वालिफाई करने के लिए अपनी प्रतिभा को इंडियन ग्रैंड प्रिक्स (Indian Grand Prix) में मज़बूती से पेश करेंगी। इतना ही नहीं अभी यह दमदार खिलाड़ी अप्रैल में होने वाले फेडरेशन कप (Federation Cup) का हिस्सा बन टोक्यो 2020 के सपने को पूरा करने की कोशिश करेंगी।