भारतीय एथलीटों ने लॉकडाउन में मदद के लिए आगे बढ़ाए हाथ

देश के शीर्ष खिलाड़ी इस वक़्त ज़रूरतमंदों की ज्यादा से ज्यादा मदद करने के लिए आगे आ रहे हैं। ऐसे में खेल से परे उनके जीवन के अन्य पहलुओं के बारे में भी पता चल रहा है।

कुछ खिलाड़ी इस वक़्त वास्तव में असली हीरो बनकर उभरे हैं। जी हां, एक ओर जहां पूरा भारत कोरोना वायरस महामारी (COVID-19) के बढ़ते प्रकोप के चलते लॉकडाउन के तीसरे चरण से गुजर रहा है, वहीं दूसरी ओर भारतीय एथलीट ज़रूरतमंदों की मदद के लिए लगातार आगे आ रहे हैं। 

सानिया मिर्ज़ा (Sania Mirza) और पीवी सिंधु (PV Sindhu) जैसे एथलीटों ने लोगों को राहत पहुंचाने के लिए धन जुटाने का काम किया तो कुछ अन्य ने सड़कों पर उतरकर लोगों को जरूरी सामान और खाना बांटा।

इसके अलावा कुछ एथलीटों ने अपने गांवों में स्वच्छता अभियान चलाया या पुलिस की ड्यूटी निभाई, जबकि कई भारतीय एथलीटों ने मदद करने का अपना ही अनोखा तरीका ढूंढ निकाला।

रोज़ काम करने वाले कामगारों को बांटा खाना

भारतीय टेबल टेनिस के शीर्ष खिलाड़ी अचंता शरत कमल (Achanta Sharath Kamal) ने पिछले हफ्ते मजदूर दिवस पर कामगारों को चावल और सब्जियां बांटी। चेन्नई का यह पैडलर अपने पिता से ही प्रेरित हुआ, जिन्होंने कुछ दिनों पहले राशन बांटकर लोगों की मदद की थी।

शीर्ष इंडियन स्प्रिंटर दुती चंद (Dutee Chand) ने अपने कलिंगा इंस्टीट्यूट ऑफ इंडस्ट्रियल टेक्नोलॉजी (KIIT) के अल्मा मैटर से किराने का सामान और सेनेटरी पैड की डिलीवरी करवाई और इसे ओडिशा के अपने गांव में बांटा।

उन्होंने प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया को बताया, “इस लॉकडाउन ने मेरे गांव के लोगों को मुश्किल में डाल दिया है और मैं बस किसी न किसी तरह उनकी मदद करना चाहती थी। इसलिए मैंने लगभग 1,000 लोगों को खाने के पैकेट बांटने के लिए विशेष पास लिया।”

अपने पैसों से जो उन्होंने मदद की तो गांव के लोगों ने उन्हें खूब दुवाएं दीं। दुती चंद ने कहा, “गांव के बड़े-बुजुर्गों ने मुझे ओलंपिक में मेडल जीतने का आशीर्वाद दिया।”

फ्रेंच ओपन और विंबलडन चैंपियन सिमोना हालेप (Simona Halep) के कभी ट्रेनिंग पार्टनर रह चुके 25 वर्षीय मोल्दोवन टेनिस खिलाड़ी दिमित्री बासकोव (Dmitrii Baskov) जनवरी में अहमदाबाद में एक अकादमी में ट्रेनिंग लेने के लिए भारत आए थे और यात्राओं पर प्रतिबंध लगने के बाद वह वापस नहीं लौट सके थे।

अब जब किसी भी हालत में ट्रेनिंग संभव नहीं है तो इस टेनिस के शीर्ष खिलाड़ी को भी ‘भारतीय नायक’ के रूप में लोगों की मदद करते हुए देखा गया। उन्होंने अपना समय ब्रेड, चावल और अन्य भोजन पैक करने वाली टीम को दिया जो स्लम (झुग्गी-झोपड़ियों) में रहने वाले लोगों और कोरोना संक्रमित इलाकों के लोगों सामान बांटती है।

AFP से बात करते हुए उन्होंने कहा, “यह कोई रोज़मर्रा का काम नहीं है, पर अब मदद करना बहुत जरूरी है। मैं एक खिलाड़ी हूं और इससे ज्यादा कुछ नहीं। लेकिन दूसरों की मदद करने की इच्छा हमेशा मेरे अंदर रहती है।”

थैलेसीमिया रोगियों के लिए रक्तदान भी कर चुके बासकोव को लगता है कि उनके डॉक्टर माता-पिता से ही उन्हें लोगों की मदद करने की प्रेरणा मिली है, जो मास्को में चिकित्सा कर्मचारियों के द्वारा लगातार किए जा रहे प्रयासों में सक्रिय रूप से शामिल हैं।

जीवों की देखभाल

वहीं कई भारतीय एथलीट समाज के उस तबके की मदद करने की कोशिश कर रहे हैं, जिनपर कोई भी अपना ध्यान नहीं दे रहा है। इसके साथ ही कुछ एथलीट जानवरों के प्रति अपनी संवेदनाओं को प्रदर्शित कर रहे हैं, क्योंकि इस लॉकडाउन में उन्हें भी खाने के लिए कुछ नहीं मिल रहा है।

पूर्व भारतीय हॉकी कप्तान और हरियाणा के खेल मंत्री ओलंपियन संदीप सिंह ने आवारा जानवरों को घास खिलाने के लिए बैडमिंटन क्लब के साथ तालमेल बनाया।

इसी तरह भारतीय पहलवान और 2012 ओलंपिक कांस्य पदक विजेता योगेश्वर दत्त ने भी सुनिश्चित किया कि वह उनके आवास के आस-पास के बंदरों को अच्छी तरह से खाना खिलाएंगे।

उन्होंने अपने ट्विटर से ट्वीट कर कहा, “इस मुश्किल समय में किसी भी जीवित व्यक्ति को भूखा नहीं रहना चाहिए।”

उम्मीद की किरण बनकर उभरे ये एथलीट

भारतीय गोल्फर गगनजीत भुल्लर ने पंजाब में अपने गांव कंदिला में सौर पैनल दान करके दस परिवारों के जीवन को रोशन किया। वहीं, उनके हमवतन साथियों ने जरूरतमंदों को जरूरी सामान और खाने के पैकेट बांटने का काम किया।

उन्होंने टाइम्स ऑफ इंडिया से बात करते हुए कहा, “मैं गगनजीत भुल्लर फाउंडेशन के माध्यम से उनकी रोजमर्रा की जरूरतों का ख्याल रख रहा था। जब महामारी फैली तो मैं सोच रहा था कि मैं कांडिला के लोगों के लिए क्या कर सकता हूं। वहां रहने वाले लोग बिजली का खर्च उठाने में असमर्थ हैं। इसलिए मैंने 10 छोटे किसानों के परिवारों को सौर पैनल दान करने का फैसला किया, जिसकी उन्हें बहुत जरूरत थी।

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!