ISL: ईस्ट बंगाल ने भारतीय फ़ुटबॉल इतिहास में पहली महिला मनोवैज्ञानिक को किया शामिल

निकोला मैककैलियोग आईएसएल में पहली बार खेल रही टीम ईस्ट बंगाल के साथ बतौर साइकोलॉजिस्ट जुड़ीं, वह ISL 2020-21 के लिए टीम को देंगी मिलेट्री तकनीक।

लेखक सैयद हुसैन ·

अपने पहले इंडियन सुपर लीग (ISL) सीज़न की शुरुआत करने जा रही ईस्ट बंगाल (East Bengal) टीम ने अपने साथ दिग्गज फ़ौरेंसिक मनोवैज्ञानिक निकोला मैककैलियोग (Nicola McCalliog) को साथ जोड़ा है।

उनको शामिल करने का मक़सद है कि ईस्ट बंगाल का पूरा दल मानसिक तौर पर कहीं से भी कम न रहे। इंग्लैंड की रहने वाली निकोला को 15 सालों का अनुभव हासिल है। भारतीय फ़ुटबॉल इतिहास में ये पहला मौक़ा है जब किसी भी टीम के साथ कोई महिला मनोवैज्ञानिक जुड़ी हों।

वह इससे पहले सरकारी स्तर और साथ ही साथ खेल में भी खिलाड़ियों को मानसिक तौर पर फ़िट रखती रही हैं। मौजूदा समय में वह कई प्रीमियर लीग क्लब के साथ बतौर सलाहकार भी जुड़ी हुईं हैं। साथ ही साथ वह फ़ोउलर एडुकेशन एंड फ़ुटबॉल ऐकेडमी के साथ भी काम कर चुकी हैं। जो लिवरपूल दिग्गज और ईस्ट बंगाल के वर्तमान कोच रॉबी फ़ोउलर (Robbie Fowler.) का एक प्रोगराम है।

मैककैलियोग ने ईस्ट बंगाल के साथ जुड़ने के बाद कहा कि, “मैं यहां इसलिए आई हूं ताकि मैनेजर और सभी स्टाफ़ खिलाड़ियों से सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करा सकें। मुझे उन्हें समझना भी होगा।“

उन्होंने अपनी बात आगे बढ़ाते हुए कहा, “मैं यहां सभी को सुनने, सलाह देने और उनकी मदद करने आई हूं ताकि वे अपना ध्यान सिर्फ़ और सिर्फ़ खेल पर लगा सकें। ये तभी संभव है जब उनकी सोच सकारात्मक और जीतने वाली हो।“

फ़िलहाल वह टीम के साथ सप्ताह में एक बार ऑनलाइन जुड़ती हैं और जल्द ही वह यहां आकर दल के साथ होंगी।

“मुझे खिलाड़ियों की आंखों में जीत की भूख दिखाई दे रही है, और उनमें एक बेहतरीन टीम भावना भी मौजूद है। बस इतिहास रचने और ख़िताब जीतने की देरी है।“

वह खिलाड़ियों के साथ मिलिट्री तकनीक पर काम करेंगी और उनकी कोशिश रहेगी कि खिलाड़ी अपना ध्यान मानसिक तैयारी, सांस लेने और कल्पना करने पर लगाएं। उन्होंने कहा कि उनके लिए ईस्ट बंगाल जैसी टीम के साथ जुड़ना गर्व की बात है।

“मुझे गर्व महसूस होता है जब मैं देखती हूं कि अपने करियर में मैंने कई बेहतरीन टीमों के साथ काम किया है। मुझे उम्मीद है कि ईस्ट बंगाल जैसी दिग्गज टीम के साथ भी जुड़ना लाजवाब रंग लाएगा। मैं ईस्ट बंगाल के साथ जुड़कर बेहद ख़ुश हूं और भारत आने का बेसब्री से इंतज़ार कर रही हूं।“

मैककैलियोग अब ईस्ट बंगाल के सपोर्ट स्टाफ़ की आठवीं सदस्य हैं।

ईस्ट बंगाल ISL 2020-21 में अपने अभियान का आग़ाज़ 27 नवंबर को चिर प्रतिद्वंदी ATK मोहन बागान (ATK Mohun Bagan) के ख़िलाफ़ करेंगी। जहां मैककेलियोग की मदद टीम को एक मज़बूती प्रदान कर सकती है।