FIBA एशिया कप क्वालिफ़ायर्स: भारत को बहरीन के ख़िलाफ़ भी मिली हार

फीबा एशिया कप 2021 क्वालिफ़ायर्स में भारतीय बास्केटबॉल टीम ने के मुहं से बहरीन ने जीत चीन कर अपनी झोली में एक और जीत डाल ली है।

लेखक लक्ष्य शर्मा ·

ख़लीफा स्पोर्ट्स सिटी स्टेडियम, मनम, बहरीन में चल रहे FIBA एशिया कप 2021 क्वालिफायर्स (FIBA Asia Cup 2021 qualifiers) में भारतीय बास्केटबॉल टीम (Indian basketball team) के खिलाफ बहरीन बास्केटबॉल टीम ने 88-72 से जीत दर्ज की।

विशेष भृगुवंशी (Vishesh Bhriguvanshi), अमज्योत सिंह (Amjyot singh), मुिन बेक हफीज (Muin Bek Hafeez) और जगदीप सिंह (Jagdeep Singh) ने अपने खेल से भारतीय टीम को पहले क्वार्टर में 11 अंक की बढ़त दी लेकिन टीम उससे बुनने में असफल रही। वेडेलिन मैटि (Vedelin Matic) द्वारा कोचिंग दी जा रही भारतीय टीम ने बहरीन को खेल के बीच खेल में वापसी करने का मौका दिया और वहीं से मानों उनके हाथों से मुकाबला फिसलता चला गया।

वहीं बहरीन के सीजे जाइल्स (CJ Giles), मुज़म्मिल हमोडा (Muzamil Hamoda), मोहम्मद इब्राहिम (Mohamed Ebrahim), मोहम्मद कावैद (Mohamed Kawaid) और मैथम ईसा (Maitham Isa) जैसे दिग्गज नामों से लैस कोर्ट में उतरी थी।

दूसरे स्थान पर मौजूद बहरीन को इस जीत ने ग्रुप डी से सीधा ही 2021 एशिया कप में एंट्री दिला दी है और वहीं भारतीय टीम अगर टॉप 2 में आना है तो उन्हें बाकी मुकाबलों में बेहतरीन प्रदर्शन करना होगा।

2021 FIBA Asia Cup Qualifiers में अब भारत का सामना 19 फरवरी को इरान से और 21 फरवरी को लेबनान से होगा।

भारतीय बास्केट बॉल टीम उस टीम के खिलाफ कोर्ट पर उतरी थी जो फीबा रैंकिंग चार्ट में उनसे 39 पायदान उपर हैं लेकिन इसका प्रभाव शुरुआत में बिलकुल भी नहीं दिखा। भारत ने मैच की शुरुआत आक्रामक तरीके से की और इसमें सबसे बड़ा हाथ कप्तान विशेष भृगुवंशी और अम्ज्योत का रहा।

आक्रामक रवैया अपनाते अम्ज्योत अंक हासिल कर रहे तो कप्तान ने बेहतरीन पास की कमान सभाली हुई थी

मुकाबले के कुछ ही मिनट में भारत ने 15-3 से बढ़त अपने हक में रखी और बहरीन के कोच जेम्स विनसेंट (James Vincent) को कुछ अलग करने पर मजबूर कर दिया।

जैसे जैसे मुकाबला आगे बढ़ रहा था बहरीन बास्केट बॉल टीम सेटल होती दिख रही थी और उन्होंने पहले क्वार्टर में भारत की बढ़त को कम कर दिया था।

भारतीय हूपस्टर्स ने दिमाग से खेलना शुरू किया और अपने प्रतिद्वंदियों को फ़ाउल करने पर मजबूर किया। ऐसा एक बार नहीं बल्कि 6 बार हुआ और इसका फायदा भारतीय टीम ने बखूबी उठाया।

पूर्ण NBA खिलाड़ी सीजे जाइल्स ने फासले को कम करने की साझी लेकिन उनके दल उन्हें परस्पर साथ न मिलने के कारण उन्हें खुद आक्रामक रवैया अपनाना पड़ा। हालांकि इस वजह से बहरीन में आत्मविश्वास दिखाई दिया जिसका फायदा उन्हें ज़रूर मिला।

हम्मूडा भाई – मोहम्मद और मुज़मिल ने मोहमद इब्राहीम और मोहम्मद कावैद का बखूबी साथ निभाया और अपनी डूबती नांव को किनारा दिखाना शुरू किया। इसी के साथ मैथम ईसा औरअहमद अकबर (Ahmed Akber) ने उच्च कोटि का खेल दिखाया और भारतीय टीम से कई कड़े सावाल पूछे और पहले हाफ के बाद उन्होंने बढ़त के अंतर को महज़ 8 अंकों तक पहुंचा दिया।

तीसरे सत्र तक बहरीन की लय मानों देखते ही बन रही थी और उन्होंने अपना दबदबा बनाना शुरू कर दिया था। इसके बाद बहरीन ने अपने डिफ़ेंस को मजबूती दी और लगभग हर मिले मौके को चुरा कर अपनी झोली में कुछ अहम अंक भी भरे।

भारतीय बास्केटबॉल टीम ने भी आक्रामक तेवर दिखाने शुरू किए लेकिन अंक बटोरने में असफल रही और नतीजन बहरीन टीम के हाथ 2021 एशिया कप क्वालिफायर्स में और जीत आ गई।

मुख्य तस्वीर: FIBA