FIBA एशिया कप 2021 क्वालिफ़ायर्स में लेबनान के ख़िलाफ़ भारत को मिली हार

भारतीय बास्केटबॉल टीम को लेबनान ने 60-115 से हरा दिया और अब 2021 एफआईबीए एशिया कप में भारत को सीधा प्रवेश पाना है तो उन्हें बहरीन के खिलाफ रविवार को होने वाले मुकाबले में जीत हासिल करनी होगी।

लेखक लक्ष्य शर्मा ·

बहरीन के मनामा के खलीफा स्पोर्ट्स सिटी में खेली जा रही Tएफआईबीए एशिया कप 2021 क्वालिफायर्स (FIBA Asia Cup Qualifiers) में शुक्रवार को भारत को लेबनान के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा, टीम इंडिया ने इस मुकाबलें में सभी को निराश किया और मैच 60-115 से गंवा दिया।

अपने अनुभवी सेंट्रल अमृतपाल सिंह (Amritpal Singh) और अरविंद अन्नादुरई (Arvind Annadurai) के बिना मैदान में उतरी, भारतीय टीम लेबनान की गति और रणनीति का कोई तोड़ नहीं निकाल पाई।

लेबनान की तरफ से प्रतियोगिता के उनके सर्वोच्च स्कोरर वेला अरकजी ने जबरदस्त प्रदर्शन किया, इस खिलाड़ी ने चार रिबाउंड और दो सहायता के साथ एक बार फिर 20 अंक बनाए थे।

भारत के लिए अमज्योत सिंह (Amjyot Singh) ने एक बार फिर से अपनी साख के अनुरुप प्रदर्शन करते हुए साबित किया की, वह देश के सर्वश्रेष्ठ हॉपर्स में शुमार हैं। वह दोहरे अंकों में पहुंचने वाले एकमात्र खिलाड़ी थे। पंजाब के इस खिलाड़ी ने 25 अंक बनाए।

अमज्योत सिंह दोहरे अंकों में स्कोर करने वाले एकमात्र भारतीय थे। तस्वीर साभार: FIBA

इस हार के कारण भारत FIBA एशिया कप 2021 क्वालिफायर्स के ग्रुप डी में तीसरे स्थान पर आ गया है। लेबनान ने प्रतियोगिता में अब तक के सभी रिकॉर्डों के साथ शीर्ष पर अपनी पकड़ मजबूत कर ली है। टिप-ऑफ से उनके वर्चस्व को स्वीकार करते हुए, लेबनान ने पूरे खेल में अपना दबदबा बनाए रखा, भारतीय टीम के खिलाफ उन्होंने मनमर्जी से स्कोर किया।

24 साल के सर्जियो एल डार्विक (Sergio El Darwich), जो एनसीएए लीग में भी खेलते हैं, उन्होंने अपने सटीक पासिंग और चतुरता से भारतीय खिलाड़ियों को लगातार परेशान किया। अराकजी और अली मंसूर भी अपनी फुल फॉर्म में थे, लेबानन ने शुरुआती क्वार्टर में ही 10 अंको की बढ़त ले ली थी।

भारत की तरफ से जोनल डिफेंस खेलने की रणनीति बुरी तरह फ्लॉप रही, इसका पूरा फायदा लेबानन ने उठाया और उन्होंने आसानी से बास्केट किया।

लेबनान के लिए वील अरकजी ने सर्वाधिक 20 अंक किए। तस्वीर साभार: FIBA

लेबानन ने शुरुआती 10 अंको की बढ़त को जल्दी ही और बड़ा कर लिया और हाफ टाइम तक उनके पास 23 पॉइंट की बढ़त थी।

बढ़ते दबाव के सामने भारतीय खिलाड़ियों से काफी गलतियां हुई, इस दौरान मुख्य कोच ने कई खिलाड़ियों को रोटेट किया लेकिन इसका फायदा टीम को नहीं मिल पाया।

कप्तान विशेश भृगुवंशी (Vishesh Bhriguvanshi) का यह साधारण मैच रहा और वह रणनीति के अनुसार प्रदर्शन नहीं कर पाए।,जबकि 24 वर्षीय शक्ति मुइन बेफ हफीज (Muin Bek Hafeez), जिन्होंने आज से पहले प्रतियोगिता में 18.5 अंक हासिल किए थे, शुक्रवार को एक भी अंक हासिल करने में असफल रहे।

अब रविवार को जब भारतीय टीम बहरीन के खिलाफ मैदान में उतरेगी तो उन्हें अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा, क्योंकि अगर 2021 FIBA एशिया कप में उन्हें सीधा प्रवेश पाना है तो उन्हें बहरीन के खिलाफ जीत हासिल करनी ही होगी।